नेपाल में तीन धमाके, चार लोगों की मौत

  • 27 मई 2019
नेपाल धमाका इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption धमाके के बाद का एक दृश्य

नेपाल की राजधानी काठमांडू में हुए तीन धमाकों में चार लोगों की मौत हो गई है और सात लोग घायल हो गए हैं.

नेपाल के स्थानीय टीवी चैनल के टीवी एक धमाका काठमांडू शहर में हुआ है और दो सीमा से लगे इलाके में.

नेपाली अख़बार हिमालयन टाइम्स ने पुलिस के हवाले से लिखा है कि धमाकों की वजह का अभी पता नहीं लग सका है.

पुलिस का कहना है धमाका "इंप्रोवाइज़्ड एक्सप्लोज़िव डिवाइस' से किया गया है.

सुरक्षाबलों ने दोनों जगहों की घेराबंदी कर दी है और पड़ताल जारी है.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि धमाके की एक जगह पर एक माओवादी समूह से सम्बन्धित पर्चे मिले हैं.

ये वही माओवादी समूह है जिस पर काठमांडू में इस साल फ़रवरी में धमाके करने का शक़ है. इस धमाके में एक शख़्स की मौत हो गई थी.

हालांकि अब तक किसी समूह या शख़्स ने धमाकों की ज़िम्मेदारी नहीं ली है.

ये भी पढ़ें: नेपाल न चौकीदारों का सप्लायर है, न भारत का ताबेदार: ब्लॉग

पुलिस अधिकारी श्याम लाल ने बताया कि धमाके में चार में से तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई और चौथे ने अस्पताल में दम तोड़ दिया.

17 साल के छात्र गोविंद भंडारी ने समाचार एजेंसी रॉययटर्स को बताया, "मैंने ज़ोर की आवाज़ सुनी और फिर जिधर से आवाज़ आई उधर दौड़ा. मैंने देखा कि धमाके की वजह से घर की दीवारों में दरारें आ गई हैं."

साल 2006 में नेपाल में एक दशक तक चला गृहयुद्ध ख़त्म हो गया था और उसके बाद देश का माहौल अपेक्षाकृत शांतिपूर्ण रहा. इसके अगले ही साल यानी 2007 में पहले विद्रोही रहा समूह सत्ताधारी पार्टी में शामिल हो गया था.

हालांकि विद्रोही समूह के कई सदस्य ये कहकर अलग भी हो गए थे कि उनके नेताओं ने मूलभूत क्रांतिकारी विचारों से धोखा किया है.

ये भी पढ़ें: वो पाकिस्तानी एक्टर जो नेपाल में 'पंडित' बन गया

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार