कीनिया : महिला MP को जड़ा चांटा, सांसद गिरफ़्तार

  • 14 जून 2019
कीनियाई संसद इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption महिला सांसदों ने विरोध के तौर पर संसद से वॉकआउट किया.

कीनिया में एक सांसद ने कथित तौर पर अपनी साथी महिला सांसद को चांटा जड़ दिया, जिसके बाद उन्हें गिरफ़्तार कर लिया गया.

थप्पड़ मारने वाले सांसद का नाम राशिद कासिम है और उन्होंने जिस महिला सांसद को थप्पड़ मारा उनका नाम फ़ातुमा गेडी है.

रिपोर्टों के मुताबिक राशिद ने अपनी सहयोगी सांसद को इसलिए थप्पड़ मारा क्योंकि उन्होंने राशिद के संसदीय क्षेत्र के लिए धनराशि आवंटित नहीं की थी.

इस वाकए के बाद फ़ातुमा गेडी की वो तस्वीरें ट्विटर पर तेज़ी से शेयर की जाने लगीं जिनमें वो रोती दिख रही हैं और उनके मुंह से ख़ून भी निकल रहा है.

फ़ातुमा की कथित पिटाई के बाद महिला सांसदों ने अपना विरोध जताने के लिए संसद से वॉकआउट किया क्योंकि पुरुष सांसद उनका मज़ाक उड़ा रहे थे.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, राशिद कासिम ने फ़ातुमा को संसद भवन की कार पार्किंग में थप्पड़ मारा.

वो फ़ातुमा से पूछ रहे थे कि उन्होंने उनके संसदीय क्षेत्र के लिए धनराशि आवंटित क्यों नहीं की.

ये भी पढ़ें: #100WOMEN खाना पकाने से बदल गया ‘एक हिंसक व्यक्ति’

सांसद सबीना वान्जिरू चेग ने बीबीसी को बताया कि इस पूरी घटना को लेकर पुरुष सांसदों ने महिला सांसदों का मज़ाक बनाया.

सबीना ने बताया, "कुछ पुरुष सहकर्मी हमारे पास आकर हम पर हंसने लगे और कहने लगे कि आज 'थप्पड़ दिवस' है. उन्होंने कहा कि औरतों को 'तमीज़' आनी चाहिए और उन्हें पता होना चाहिए कि मर्दों के साथ कैसे पेश आते हैं."

सबीना वान्जिरू ने कहा, "हम सब सांसद हैं और हम उनसे किसी मायने में कमतर नहीं हैं."

ये भी पढ़ें: महिलाओं के लिए ये है दुनिया का 'सबसे ख़तरनाक' देश

इस घटना के बाद सभी महिला सांसदों ने ग़ुस्से में संसद से वॉकआउट किया और राशिद कासिम की गिरफ़्तारी की मांग उठाई.

बाद में कासिम को हिरासत में ले लिया गया.

अभियुक्त सांसद राशिद कासिम की इस मामले में कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है.

इस घटना के बाद कीनिया की सोशल मीडिया में उन पर कड़ी कार्रवाई की मांग हो रही है.

इसके साथ ही #ArrestHonKassim और #JusticeForFatumaGediहैशटैग से ट्वीट भी किये जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें: हिंसा के बीच भी रिश्तों में क्यों बंधी रहती हैं महिलाएं?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार