शमी का आख़िरी छह गेंदों में कमाल, ऐसे बनाई हैट्रिक

  • 23 जून 2019
मोहम्मद शमी इमेज कॉपीरइट Reuters

शनिवार को विश्वकप क्रिकेट में साउथहैंम्पटन में भारत और अफ़ग़ानिस्तान का मुक़ाबला हुआ. भारत ने ये मैच मात्र 11 रनों से जीता.

मैच के आख़िरी ओवर तक स्थिति कुछ ऐसी बनी हुई थी कि लग रहा था कि अफ़ग़ानिस्तान, भारत से जीत जाएगा. अगर मोहम्मद शमी ने आख़िरी ओवर में गेंदबाज़ी न की होती तो खेल किस करवट बैठता कहा नहीं जा सकता.

आख़िरी के छह गेंदों में शमी ने एक चौका दिया और फिर एक के बाद एक तीन विकेट लेकर अफ़ग़ानिस्तान की पूरी टीम को 213 के स्कोर पर रोक दिया.

भारत की पूरी टीम का खेल देखें तो सबसे अधिक 67 रन कप्तान विराट कोहली ने बनाए. केदार जाधव ने 52 रन जोड़े.

इन दोनों के अलावा कोई और खिलाड़ी 50 के आंकड़े को छू तक नहीं पाया. धोनी ने 28, विजय शंकर ने 29 और केएल राहुल ने 30 रन बनाए. रोहित शर्मा, मोहम्मद शमी, कुलदीप यादव और जसप्रीत बुमरा ने एक-एक रन का योगदान किया.

हालांकि इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि भारतीय गेंदबाज़ों का प्रदर्शन अच्छा रहा.

इस विश्व कप क्रिकेट में अफ़ग़ानिस्तान ने अब तक कुल छह मैच खेले हैं. सभी मैच उसने हारे हैं. उसका छठा मैच भारत के साथ था जिसमें खेल के आख़िरी ओवर तक उसने उम्मीद नहीं हारी थी.

इधर भारत ने अब तक विश्व कप में पांच मैच खेले हैं. अफ़ग़ानिस्तान के साथ खेलने से पहले के तीनों मैच भारत ने जीते हैं. जबकि न्यूज़ीलैंड के साथ नॉटिंहैम में खेला जाने वाला मैच रद्द हो गया था.

शनिवार को अफ़ग़ानिस्तान के साथ खेला गया मैच भारत ने आख़िरकार जीत लिया. लेकिन इसमें आख़िरी ओवर तक रोमांच बना रहा क्योंकि अफ़ग़ानिस्तान जीतने की पुरज़ोर कोशिश कर रहा था और वो उसके खेल में साफ़ दिखा.

इमेज कॉपीरइट PA

आख़िरी ओवर की छह गेंदें

भारत ने निर्धारित पचास ओवर में आठ विकेट खोकर 224 रन बनाए.

अफ़ग़ानिस्तान ने संभल कर खेल की शुरुआत की. उसका पहला विकेट सातवें ओवर में और दूसरा विकेट सत्रहवें ओवर में गिरा.

बीस ओवर तक आते-आते अफ़ग़ानिस्तान ने 71 रनों का स्कोर खड़ा किया और टीम जल्दी में भी नज़र आने लगी. रह रह कर अफ़ग़ान खिलाड़ी चौके-छक्के जड़ते रहे. लेकिन अब तक कहीं नहीं लगा कि भारत के लिए जीतना मुश्किल भी हो सकता है.

49 ओवर तक अफ़ग़ानिस्तान ने 7 विकेट खोकर 209 रन जोड़े और अब उसे छह गेंदों में जीत के लिए 16 रन बनाने थे.

पिच पर मोहम्मद नबी और इकराम अलिखिल 48 और 7 रनों के निजी स्कोर पर खेल रहे थे. इधर भारत की ओर से बुमरा से गेंद ली मोहम्मद शमी ने.

शमी की पहली गेंद पर नबी थोड़ा पीछे झुकते हुए सीधे आए बल्ला घुमाया और चौका लगा दिया. उनका अर्धशतक पूरा हुआ और भारत की टेन्शन बढ़ गई.

दूसरी गेंद पर नबी ने कोई रन नहीं लिया. लेकिन तीसरी गेंद यॉर्कर थी जिसे नबी ने खेल दिया था. ये गेंद सीधे जा कर हार्दिक पांड्या के हाथों में रुकी और नबी को पवेलियन लौटना पड़ा. नबी ने 55 गेंदों पर 52 रन बनाए.

इमेज कॉपीरइट Reuters

क्रीज़ पर इसके बाद आए आफताब आलम. शमी की यॉर्कर गेंद को उन्होंने खेलने की कोशिश की लेकिन गेंद सीधे वो आउट हो गए.

इसके बाद 11 नंबर के खिलाड़ी मुजिबुर्रहमान ने शमी की फुल टॉस गेंद का सामना किया लेकिन गेंद सीधा स्टंप्स से जा टकराई.

इसी के साथ वर्ल्ड कप में अपना पहला मैच खेल रहे मोहम्मद शमी ने हैट्रिक जमाई और भारत को अफ़ग़ानिस्तान पर 11 रन से जीत दिला दी.

मोहम्मद शमी ने मैच के आख़िरी ओवर की तीसरी, चौथी और पांचवीं गेंद पर विकेट लिए.

और कौन-कौन लगा चुके हैं हैट्रिक?

मोहम्मद शमी, चेतन शर्मा के बाद भारत की ओर से वर्ल्ड कप में हैट्रिक लेने वाले दूसरे गेंदबाज़ हैं.

इससे पहले विश्व कप में भारत के चेतन शर्मा ने 1987 में नागपुर में न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ हैट्रिक लगाई थी.

विश्व कप में इससे पहले 1999 में पाकिस्तान के सकलेन मुश्ताक, 2003 में श्रीलंका के चामिंडा वास और ऑस्ट्रेलिया के ब्रेट ली, 2007 में श्रीलंका के लसित मलिंगा, 2011 में वेस्ट इंडीज़ के केमार रोच और श्रीलंका के लसित मलिंगा, 2015 में इंग्लैंड के स्टीवन फिन और दक्षिण अफ्रीका के जेपी डुमिनी ने हैट्रिक ली थी.

शमी विश्व कप में हैट्रिक लेने वाले नौंवे खिलाड़ी बन गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार