‘प्राइम डे’ पर अमेज़न कर्मचारियों ने क्यों की हड़ताल

  • 16 जुलाई 2019
अमेज़न इमेज कॉपीरइट Getty Images

सालाना सेल की शुरुआत में दुनियाभर में अमेज़न के हज़ारों कर्मचारियों ने तनख़्वाह और काम की परिस्थितियों के कारण विरोध प्रदर्शन शुरू किया है.

सोमवार को अमेज़न ने अपने प्राइम सर्विस सदस्यों के लिए डिस्काउंट ऑफ़र शुरू किया था.

मज़दूर यूनियन ने कहा है कि जर्मनी में दो हज़ार कर्मचारी हड़ताल पर हैं जबकि अमरीका के मिनेसोटा सेंटर में कथित तौर पर कर्मचारियों ने छह घंटे काम रोकने के बारे में सोचा है. ब्रिटेन में कर्मचारी एक सप्ताह लंबा प्रदर्शन करने की योजना बना रहे हैं.

वहीं, अमेज़न ने कहा है कि वह रोज़गार के शानदार मौक़े उपलब्ध कराता है.

इमेज कॉपीरइट AFP/Getty Images
Image caption अमेज़न के मालिक जेफ़ बेज़ोस दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति हैं

'प्रति घंटे 332 उत्पाद उठाते हैं'

मिनेसोटा में शकोपे गोदाम से सामान उठाने वाले विलियम श्टॉयज़ ने बीबीसी से कहा कि कर्मचारी अमेज़न से 'सुरक्षित, विश्वनीय नौकरियां' चाहते हैं.

उन्होंने कहा कि वह एक दिन में 10 घंटे के दौरान प्रति घंटे 332 उत्पाद उठाते हैं.

वह कहते हैं, "जिस रफ़्तार से हम काम करते हैं वह शारीरिक और मानसिक तौर पर बेहद थकाऊ होता है. कई मामलों में तो चोट लगने का ख़तरा रहता है."

विलियम कहते हैं कि उन जैसे कर्मचारी केवल मानवीय आधार पर सम्मानजनक स्थिति चाहते हैं न कि उनके साथ मशीनों जैसा व्यवहार किया जाए.

प्राइम डे सेल सोमवार को शुरू हुई थी. सिएटल स्थित रिटेलर कंपनी अमेज़न के संस्थापक जेफ़ बेज़ोस का कहना है कि नई डील जितनी बार लॉन्च होंगी उतनी बार हर पांच मिनट के बाद सामान ख़रीदने वाले उपभोक्ताओं के पास वापस आने का कारण होगा.

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption जर्मनी में दो हज़ार कर्मचारी हड़ताल पर हैं

235 ख़रब डॉलर का सामान बिका

विश्व में सबसे मूल्यवान कंपनियों में से एक अमेज़न के कारण बेज़ोस दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति हैं. पिछले साल की गई ऑनलाइन सेल के ज़रिए अमेज़न ने 235 ख़रब डॉलर का सामान बेचा था.

जर्मनी में अमेज़न के 20 हज़ार कर्मचारी हैं. मज़दूर संगठन वर्दी ने कहा कि सात जगहों के दो हज़ार से अधिक कर्मचारी हड़ताल पर गए हैं जिन्होंने 'हमारी तनख़्वाहों पर और डिस्काउंट नहीं' जैसे नारे लिखी तख़्तियां ले रखी हैं.

वर्दी में रिटेल स्पेशलिस्ट ओर्हान अकमान कहते हैं, "अमेज़न जहां प्राइम डे के ज़रिए भारी डिस्काउंट देकर सौदेबाज़ी कर रहा है वहीं, कर्मचारियों को जीवित रहने के लिए जितनी मज़दूरी चाहिए वो नहीं मिल रही."

ब्रिटेन के पूर्वी मिडलैंड्स में जीएमबी कर्मचारी संगठन के अधिकारियों ने काम पर आने वाले कर्मचारियों को पर्चे बांटे हैं और आने वाले दिनों में पश्चिमी मिडलैंड्स की दूसरी जगहों पर भी ऐसा करने की योजना बनाई है.

जीएमबी के राष्ट्रीय अधिकारी मिक रिक्स ने कहा, "अमेज़न कर्मचारी चाहते हैं कि जेफ़ बेज़ोस को पता चले कि ये लोग इंसान हैं न कि रोबोट. अमेज़न के लिए ख़ास वक़्त है कि वह जीएमबी के साथ बैठकर बात करे और चर्चा करे कि कार्यस्थल को कैसे सुरक्षित बनाया जा सके और कर्मचारियों को मौखिक स्वतंत्रता दे सके."

जीएमबी ने कहा है कि उसने दुकानदारों से अमेज़न के बहिष्कार के लिए नहीं कहा है लेकिन उपभोक्ता चाहें तो यह कर सकते हैं.

इसके जवाब में अमेज़न ने कहा है कि वह रोज़गार के बड़े मौक़े उपलब्ध कराता है, साथ ही अच्छी तनख़्वाहें देता है.

अमेज़न के दुनियाभर में 6.3 लाख कर्मचारी हैं जिनमें से तीन लाख केवल अमरीका में हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार