कैपिटल वन में डेटा में सेंध, महिला हैकर ने उड़ाई 10 करोड़ सूचनाएं

  • 30 जुलाई 2019
कैपिटल वन इमेज कॉपीरइट Getty Images

अमरीका में वित्तीय सेवा देने वाली अग्रणी फ़र्म 'कैपिटल वन' को निशाना बनाकर की गई हैकिंग में 10 करोड़ 60 लाख लोगों की सूचनाएं चोरी हो गई हैं. जिन लोगों की सूचनाएं चोरी हुई हैं, उनमें अधिकांश अमरीका और कनाडा के हैं.

कथित महिला हैकर पेज थॉम्प्सन को सोमवार को तब गिरफ़्तार किया गया, जब वो एक ऑनलाइन फ़ोरम पर अपने इस कारनामे की डींग हांक रही थीं.

कैपिटल वन का कहना है कि जो 'डेटा चोरी हुआ है उसमें लोगों के नाम, पते और फ़ोन नंबर हैं, लेकिन हैकर क्रेडिट कार्ड अकाउंट नंबर तक नहीं पहुंच पाए.'

माना जा रहा है कि सूचनाओं में सेंध लगाने की ये घटना बैंकिंग के इतिहास की सबसे बड़ी घटना है.

कैपिटल वन अमरीका में सबसे बड़ी क्रेडिट कार्ड जारी करने वाली कंपनी है और वो रिटेल बैंक भी चलाती है.

कितने लोग प्रभावित?

सोमवार को जारी अपने एक बयान में फ़र्म ने कहा कि इस घटना से अमरीका के 10 करोड़ और कनाडा के 60 लाख लोग प्रभावित होंगे.

बयान के अनुसार, अमरीका में क़रीब डेढ़ लाख सोशल सिक्युरिटी नंबर और 80 हज़ार बैंक अकाउंट का डेटा चोरी हुआ है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

कनाडा में कैपिटल वन के क्रेडिट कार्ड उपभोक्ताओं से संबंधित करीब 10 लाख बीमा नंबर की सूचनाओं में सेंध लगी है.

इस हैकिंग का पता 19 जुलाई को लगा. नाम और अन्य जानकारियों के अलावा हैकर क्रेडिट स्कोर, लिमिट, बैलेंस, पेमेंट हिस्ट्री और संपर्क सूचनाएं भी हासिल करने में सफल रहे.

कैपिटल वन ने कहा है कि ये सूचनाएं किसी फ़र्जीवाड़े के लिए इस्तेमाल की जाएंगी इसकी कम संभावना है. इस पूरी घटना की जांच की जाएगी.

जो लोग प्रभावित हुए हैं, कंपनी उन्हें फ़्री क्रेडिट मॉनीटरिंग और पहचान की सुरक्षा में मदद करेगी.

चेयरमैन रिचर्ड फ़ेयरबैंक ने एक बयान जारी कर कहा, "ये बहुत अच्छा हुआ कि अपराधी गिरफ़्त में है, लेकिन जो कुछ हुआ उसका मुझे बेहद अफसोस है."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

हैकर

अमरीका के जस्टिस डिपार्टमेंट ने कहा है कि इस हैकिंग के मामले में सियेटल की एक टेक्नोलॉजी कंपनी के एक पूर्व सॉफ़्टवेयर इंजीनियर को गिरफ़्तार कर लिया गया है.

33 साल की थॉम्प्सन को सोमवार को कम्प्यूटर फ़्रॉड और टेक्नोलॉजी दुरुपयोग के इल्ज़ाम में गिरफ़्तार किया गया.

सियेटल में उन्हें संघीय अदालत में पेश किया गया, मामले की सुनवाई 1 अगस्त को होगी.

कोर्ट के दस्तावेज़ों के मुताबिक थॉम्प्सन ने एक ऑनलाइन फ़ोरम पर इस डेटा सेंध के बारे में बताया था.

वॉशिंगटन में अटार्नी जनरल के कार्यालय ने बयान जारी कर कहा है कि 17 जुलाई को एक गिटहब यूज़र ने ये पोस्ट देखी और इस बारे में सबसे पहली बार कैपिटल वन को सचेत किया.

दोषी साबित होने पर थॉम्प्सन को पांच साल की जेल और 2,50,000 डॉलर का ज़ुर्माना लगाया जा सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार