समझौता एक्सप्रेस को पाकिस्तान ने हमेशा के लिए बंद किया

  • 8 अगस्त 2019
महमूद शाह क़ुरैशी इमेज कॉपीरइट Getty Images

पाकिस्तान ने लाहौर से भारत के अटारी के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस ट्रेन को हमेशा के लिए बंद करने की घोषणा की है.

पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख़ रशीद अहमद ने कहा है कि उन्होंने समझौता एक्सप्रेस को 'हमेशा के लिए' बंद करने का फ़ैसला किया है.

यह क़दम भारत की ओर से जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्ज़ा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को हटाने और राज्य के पुनर्गठन के बाद उठाया गया है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने भी इस बात की पुष्टि की है. हालांकि, इस संबंध में अभी भारत की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

नाराज़ पाकिस्तान अब तक कई प्रतिक्रियात्मक क़दम उठा चुका है. उसने भारत के साथ द्विपक्षीय कारोबार बंद कर दिया है.

इसके साथ ही पाकिस्तान ने अपने यहां से भारतीय उच्चायुक्त को वापस भेजने और भारत से अपने उच्चायुक्त को वापस बुलाने का फ़ैसला किया है.

समझौता एक्सप्रेस को रोकने से पहले गुरुवार को ही उसने अपने हवाई क्षेत्र को भारतीय विमानों के लिए बंद कर दिया था.

इमेज कॉपीरइट RAVINDER SINGH ROBIN

समझौता एक्सप्रेस को लेकर पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख़ रशीद अहमद ने कहा, "ये नहीं हो सकता कि कश्मीरियों पर ज़ुल्म हो और पाकिस्तान की क़ौम ख़ामोश होकर तमाशा देखती रहे. ऐसे में समझौता एक्सप्रेस को हमेशा-हमेशा के लिए ख़त्म कर दिया गया है."

उन्होने कहा, "जिन लोगों के टिकटों के पैसे हैं, उन्हें नहीं काटा जाएगा. पूरे पैसे लौटा दिए जाएंगे."

क्या है'समझौता' का इतिहास

वाघा से पाकिस्तान के ट्रेन ड्राइवर और गार्ड इसे अटारी तक लाते हैं मगर पाकिस्तान ने उन्हें ट्रेन के साथ भेजने से इनकार कर दिया है. वाघा और अटारी के बीच यह ट्रेन तीन किलोमीटर की दूरी तय करती है.

समझौता एक्सप्रेस भारत और पाकिस्तान के बीच सप्ताह में दो दिन चलने वाली रेलगाड़ी है जो विभाजन से पहले से अटारी से लाहौर तक बिछी पटरी पर दौड़ती है.

इमेज कॉपीरइट RAVINDER SINGH ROBIN

इस ट्रेन को शिमला समझौते के बाद 22 जुलाई 1976 को लाहौर से अमृतसर के बीच शुरू किया गया था. बाद में 1994 में इसे अटारी और लाहौर के बीच चलाया जाने लगा.

यह ट्रेन भारत और पाकिस्तान के बीच पैदा होने वाले तनाव की भेंट चढ़ती रही है. जब भी दोनों देशों के बीच तनातनी होती है, यह सेवा रोक दी जाती है.

हाल ही में भारत प्रशासित कश्मीर के पुलवामा में हुए चरमपंथी हमले के बाद इस ट्रेन सेवा को रोका गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार