कश्मीरः लंदन में भारत विरोधी और समर्थक आमने-सामने

  • 16 अगस्त 2019
लंदन में प्रदर्शन
Image caption लंदन में भारत के ख़िलाफ़ प्रदर्शन

भारत के जम्मू-कश्मीर का ख़ास दर्जा ख़त्म करने के विरोध में लंदन में भारतीय उच्चायोग के बाहर प्रदर्शन हुआ है.

वहीं इस प्रदर्शन से कुछ ही दूर पर भारतीय समुदाय के लोगों ने आज़ादी का जश्न मनाया और कश्मीर का ख़ास दर्जा ख़त्म किए जाने के समर्थन में प्रदर्शन किया.

दूसरी ओर भारत के स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पाकिस्तानी सरकार ने 15 अगस्त को देशभर में काले दिवस के तौर पर मनाया है.

लंदन में भारतीय उच्चायोग के बाहर हुए प्रदर्शन में दक्षिण एशिया के प्रवासियों के कई समूह शामिल थे. प्रदर्शनकारियों ने भारतीय सरकार से अनुच्छेद 370 पर लिए गए अपने फ़ैसले को वापस लेने की अपील की.

गुरुवार को हुए इस प्रदर्शन का आह्वान ब्रिटेन की कश्मीर काउंसिल ने किया था. इसके समर्थन में कई ख़ालिस्तानी समूह भी जुटे.

कश्मीर काउंसिल से जुड़े छात्रों ने मंगलवार से इस प्रदर्शन की तैयारी की थी और कई बैनर और पोस्टर डिज़ाइन किए थे.

भारत सरकार के संविधान के अनुच्छेद 370 को बेअसर करने के बाद से ही लंदन में भारतीय उच्चायोग के बाहर कई बार प्रदर्शन हो चुके हैं.

आयोजकों का दावा है कि गुरुवार को हुए प्रदर्शन में भारी तादाद में लोग शामिल थे.

बीबीसी संवाददाता गगन सब्बरवाल के मुताबिक सिख संगठन भी इसमें जुटे थे.

प्रदर्शन में शामिल लोगों ने बीबीसी से कहा, "ये ज़ुल्म और ज़्यादती है क्योंकि कश्मीर के लोगों को अपना फ़ैसला अपनी मर्ज़ी से करने का अधिकार होना चाहिए. ये क़दम कश्मीर के लोगों के हक़ों पर डाका है. ये ग़ैर क़ानूनी तरीके से किया गया है."

वहीं एक प्रदर्शनकारी ने कहा, "संयुक्त राष्ट्र को कश्मीर के लोगों में रायशुमारी करानी चाहिए."

वहीं भारत के समर्थन में जुटे लोगों का कहना था, "भारत कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक एक है. हम इसी का जश्न मनाने जुटे हैं."

एक महिला प्रदर्शनकारी ने कहा, "मैं नरेंद्र मोदी का दिल खोलकर समर्थन करती हूं. वो हमारे देश के लिए ऐसे बड़े बड़े क़दम उठा रहे हैं जो आज तक किसी ने नहीं उठाए थे."

Image caption भारत के समर्थन में भी प्रदर्शन हुआ

एक अन्य प्रदर्शनकारी ने कहा, "सरकार के इस फ़ैसले के बाद कश्मीर में तेज़ तरक्की होगी. आप देखिएगा कश्मीर कितना आगे बढ़ेगा."

वहीं प्रदर्शन के दौरान सौ से ज़्यादा स्कॉटलैंड यार्ड के जवान भी सुरक्षा में तैनात रहे.

लंदन के अलावा बर्मिंघम, लूटन,ब्रैडफ़र्ड आदि शहरों में भी कश्मीर के मुद्दे पर भारत के ख़िलाफ़ प्रदर्शन हुए हैं.

लंदन में ऐसे प्रदर्शन पहले भी हुए हैं और आगे भी हो सकते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार