इराक़: कर्बला में भगदड़, 31 की मौत, कई घायल

  • 10 सितंबर 2019
आशुरा के दौरान जुटे लोग इमेज कॉपीरइट Reuters

इराक़ में अधिकारियों का कहना है कि मोहर्रम के मौक़े पर निकले जुलूस में भगदड़ मचने से कम से कम 31 लोगों की मौत हो गई है.

इराक़ के स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता ने बताया है कि भगदड़ में 100 अन्य लोग घायल भी हुए हैं. उन्होंने आशंका ज़ाहिर की है कि मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है.

अधिकारियों के मुताबिक़ जहां भगदड़ हुई, वहांर मोहर्रम के मौक़े पर शिया समुदाय के लोग भारी संख्या में जुटे थे.

रिपोर्टों के मुताबिक़ आशुरा यानी मोहर्रम महीने की दसवी तारीख़ को हज़ारों की संख्या में लोग जुटे थे. इसी दौरान एक व्यक्ति को ठोकर लग गई और भगदड़ मच गई.

इस्लाम के पैगंबर मोहम्मद साहब के पौत्र इमाम हुसैन की शहादत की याद में आशुरा मनाया जाता है. उनकी मौत 680 ईसवी में हुई थी. इसी कर्बला के मैदान में इमाम हुसैन और उनके 72 परिजन और साथियों की जंग उस समय के शासक यज़ीद की सेना के बीच हुई थी.

इस जंग में इमाम हुसैन और उनके सारे साथी मारे गए थे.

साल 2005 में इराक़ की राजधानी बग़दाद में फ़रात नदी के पुल पर भगदड़ में कम से कम 965 लोगों की मौत हो गई थी. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक़ आत्मघाती हमलावर की मौजूदगी की अफ़वाह के बाद भगदड़ हुई.

मोहर्रम के महीने में ग़म और मातम का इतिहास

इराक़ में पुरुष यौन उत्पीड़न के ज़्यादा शिकार होते हैं?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार