मैक्सिको में मेयर को पिक अप ट्रक से बांध कर घसीटने का वाकया

  • 9 अक्तूबर 2019
मैक्सिको इमेज कॉपीरइट TWITTER/@TINTA_FRESCA
Image caption सड़क पर मेयर को घसीटे जाने के दौरान का सीसीटीवी फुटेज

दक्षिणी मैक्सिको में अपने गांव के मेयर को ज़बरन उनके कार्यालय से बाहर निकालने, एक पिक अप ट्रक में बांधने और सड़कों पर घसीटने के मामले में 11 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है.

स्थानीय पुलिस ने मेयर जॉर्ज लुइस एस्कंडोन हर्नांडेज़ को छुड़ाने के लिए हस्तक्षेप किया. हालांकि, मेयर को कथित तौर पर कोई बड़ी चोट नहीं आई है.

मेयर पर किसानों द्वारा किया गया यह दूसरा हमला था. वे मेयर से चुनाव प्रचार के दौरान उनके द्वारा किए गए एक स्थानीय सड़क की मरम्मत का वादा पूरा करने की मांग कर रहे थे.

चियापास राज्य स्थित गांव में अतिरिक्त अधिकारियों को तैनात किया गया है.

मेक्सिको में ड्रग गिरोह द्वारा अक्सर मेयरों और स्थानीय राजनेताओं को उस समय निशाना बनाया जाता है जब वे उनकी आपराधिक योजनाओं में सहयोग देने से इनकार करते हैं. हालांकि, चुनावी वादों को लेकर उन पर आमतौर पर हमला नहीं किया जाता है.

एस्कंडोन ने बताया कि वह चाहते हैं कि अगवा करने और हत्या का प्रयास करने के आरोप लगाए जाएं.

मेयर कार्यालय के बाहर दर्शकों द्वारा लिए गए वीडियो में नजर आ रहा है कि पुरुषों का एक समूह उन्हें इमारत से खींच कर बाहर निकाल रहा है और जबर्दस्ती वाहन के पीछे डाल रहा है.

एक सीसीटीवी फुटेज में नजर आ रहा है कि ट्रक के पीछे हाथ में रस्सी बांध कर उन्हें सैंता रीटा की सड़कों पर खींचा जा रहा है. यह सड़क लास मार्गारिटास का हिस्सा है.

नगरपालिका के दर्जनों पुलिस अधिकारी वाहन को रोकने और मेयर को बचाने के लिए वहां पहुंचे. पुलिस और मेयर को अगवा करने वालों के बीच हुई हाथापाई में कई लोग घायल हो गए.

चार महीने पहले हुई एक घटना में, पुरुषों के एक समूह ने उनके कार्यालय में तब तोड़—फोड़ की थी जब वे उन्हें वहां नहीं मिले थे.

लास मार्गरिटास में मेयर चुनाव के दौरान प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवार के समर्थकों के साथ एक विवाद में शामिल रहने के संदेह में एस्कंडोन को गिरफ़्तार किया गया था.

हालांकि, बाद में सबूतों के अभाव में उन्हें छोड़ दिया गया था.

ये भी पढ़ें:-

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार