लंदन के मेयर सादिक़ ख़ान कश्मीर पर भारत विरोधी मार्च के ख़िलाफ़

  • 21 अक्तूबर 2019
सादिक़ ख़ान इमेज कॉपीरइट Getty Images

लंदन के मेयर सादिक़ ख़ान ने कश्मीर मुद्दे को लेकर दिवाली पर भारत विरोधी मार्च की योजना की निंदा की है.

सादिक़ ख़ान ने कहा कि इससे ब्रिटेन की राजधानी लंदन में अलगाव को बढ़ावा मिलेगा. ख़ान ने आयोजकों और इसमें हिस्सा लेने वालों से रैली रद्द करने को कहा है.

रैली के आयोजकों ने इसके लिए अनुमति मांगी थी. इस विरोध-प्रदर्शन में पाँच से दस हज़ार लोग लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग के सामने प्रदर्शन करने वाले थे.

भारतीय मूल के लंदन असेंबली के सदस्य नवीन शाह के पत्र के जवाब में पाकिस्तानी मूल के लंदन के मेयर सादिक़ ख़ान ने एक पत्र जारी किया है. इस पत्र में लिखा है, ''दिवाली के दिन लंदन में भारतीय उच्चायोग के सामने विरोध-प्रदर्शन पूरी तरह निंदनीय है.''

सादिक़ ख़ान ने पत्र में लिखा है, ''जब लंदन के लोगों को साथ आने की ज़रूरत है ऐसे में इस विरोध-मार्च से अलगाव को बढ़ावा मिलेगा. जो भी इस रैली के आयोजक हैं और जो इसमें भाग लेने वाले हैं वो एक बार फिर से सोचें.''

लंदन के मेयर की तरफ़ से 18 अक्टूबर को यह पत्र जारी किया गया था.

सादिक़ ख़ान ने लिखा है, ''जैसा कि आप जानते हैं कि विरोध-प्रदर्शन को प्रतिबंधित करने का अधिकार गृह मंत्री के पास होता है. मैं इस पत्र को गृह मंत्री प्रीति पटेल और मेट्रोपॉलिटन पुलिस कमिश्नर क्रेसिडा डिक को भी भेज रहा हूं ताकि वो इस मार्च को लेकर हमारी चिंता समझ सकें.''

नवीन शाह ने 15 अगस्त को भारतीय उच्चायोग के सामने हुई हिंसक झड़प का भी ज़िक्र किया है.

सादिक़ ख़ान ने लिखा है, ''मैं ब्रिटिश भारतीयों की चिंता को समझता हूं. कई लोग भारतीय उच्चायोग के सामने हुए पहले के प्रदर्शनों से डरे हुए हैं. मैं लंदनवासियों को आश्वस्त करता हूं कि जो भी ग़ैरक़ानूनी काम करेगा उसके लिए वो ज़िम्मेदार होगा.''

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार इस विरोध प्रदर्शन में पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर के कथित राष्ट्रपति सरदार मसूद ख़ान और कथित प्रधानमंत्री राजा मोहम्मद फ़ारूक़ हैदर ख़ान भी इसमें हिस्सा लेने वाले थे. इस रैली को फ़्री कश्मीर रैली नाम दिया गया था.

नवीन शाह ने 17 अक्टूबर को लंदन के मेयर को संबोधित करते हुए लिखा था कि वो अपने क्षेत्र के जनप्रनिधि और उन संगठनों की तरफ़ से लिख रहा हूं जिन्होंने दिवाली के दिन भारत विरोधी रैली को रोकने के लिए संपर्क किया था.

नवीन शाह ने अपने पत्र में लिखा है उनसे लोगों ने संपर्क कर कहा कि पवित्र त्योहार दिवाली के दिन भारत विरोधी मार्च पूरी तरह से असंवेदनशील है. नवीन शाह ने अपने पत्र को लंदन के मेयर के अलावा मेट्रोपॉलिटन पुलिस प्रमुख और ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल को भी ट्विटर पर टैग किया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे