ब्रिटेन लॉरी केस : मरने वालों में हो सकते हैं वियतनाम के नागरिक

  • 26 अक्तूबर 2019
फाम ट्रै मी इमेज कॉपीरइट FAMILY OF PHAM TRA MY

ब्रिटेन के एसेक्स में एक लॉरी से मिले 39 शवों में से कम से कम छह वियतनाम के नागरिकों के हो सकते हैं.

बीबीसी को मिली जानकारी के मुताबिक वियतनाम के छह ऐसे परिवार हैं जो ये आशंका जाहिर कर रहे हैं कि मरने वालों में उनके रिश्तेदार हो सकते हैं.

इनमें 26 बरस की फाम थी ट्रै मी शामिल हैं. उन्होंने मंगलवार को आख़िरी बार संदेश भेजा था और बताया था कि वो सांस नहीं ले पा रही हैं. उसके बाद से उनके बारे में कोई सूचना नहीं है.

20 बरस के वियन लिन लुओंग के रिश्तेदारों का भी कहना है कि उन्हें आशंका है वो मरने वाले 39 लोगों में हो सकते हैं.

उधर, इस मामले में जारी जांच के दौरान स्टैंस्टेड एयरपोर्ट से एक व्यक्ति को गिरफ़्तार किया गया है. उनकी गिरफ़्तारी लोगों की हत्या और मानव तस्करी की साजिश रचने के संदेह में की गई है. 48 बरस के ये व्यक्ति उत्तरी आयरलैंड के रहने वाले हैं.इस मामले की जांच के दौरान गिरफ़्तार होने वाले वो चौथे व्यक्ति हैं.

ऐसे ही संदेह के आधार पर वॉरिंगटन के दो व्यक्तियों को गिरफ़्तार किया गया है. इस मामले में लॉरी का ड्राइवर भी गिरफ़्तार है.

इमेज कॉपीरइट PA Media

फाम ट्रै मी के भाई फाम नोक त्वान ने बताया कि उनकी बहन को ब्रिटेन ले जाने के लिए मानव तस्करों को 30 हज़ार पाउंड (करीब 27 लाख 25 हज़ार रुपये) दिए गए थे. उनकी बहन के आख़िरी बार बेल्जियम में होने की जानकारी मिली थी.

ऐसी भी रिपोर्ट सामने आई हैं कि स्मग्लरों ने कुछ परिवारों को पैसे लौटा दिए हैं.

फाम ट्रै मी के भाई ने बीबीसी को बताया, "वियतनाम से यूके जाते समय मेरी बहन 23 अक्टूबर को लापता हो गई थी और हम उससे संपर्क नहीं कर सके. हमें चिंता है कि वो उस लॉरी में हो सकती है. "

उन्होंने आगे कहा, "हम ब्रिटेन की पुलिस से मदद के लिए कह रहे हैं ताकि मेरी बहन परिवार के पास आ सके."

फाम ट्रै मी का आखिरी संदेश ब्रिटेन के समय के मुताबिक मंगलवार को रात साढ़े दस बजे मिला था. इसके दो घंटे के बाद ये लॉरी बेल्जियम के ज़ेब्रूग से परफ्लीट टर्मिनल पहुंची थी.

उन्होंने अपने माता पिता को संदेश भेजा था. इसमें लिखा था," मैं माफी चाहती हूं, मां और डैड, विदेशी ज़मीन का मेरा दौरा नाकाम हो गया है."

इमेज कॉपीरइट FAMILY OF PHAM TRA MY

उन्होंने आगे लिखा था, "मैं मर रही हूं. मैं सांस नहीं ले पा रही हूं. मां और डैड मैं आपसे बहुत प्यार करती हूं.मैं माफी चाहती हूं मां."

उनके भाई ने बीबीसी को बताया कि उनकी बहन की ब्रिटेन की यात्रा तीन अक्टूबर को शुरु हुई. उन्होंने परिवार को बताया था कि उनसे संपर्क नहीं करें क्योंकि 'यात्रा का इंतज़ाम करने वाले' उन्हें फ़ोन उठाने की इजाज़त नहीं देंगे.

फाम ट्रै मी के भाई ने बताया,"उन्होंने चीन के लिए उड़ान भरी और कुछ दिन तक वहां रुकीं फिर फ्रांस के लिए रवाना हो गईं."

उन्होंने आगे बताया,"जब भी वो किसी नई जगह पहुंचती थीं तब वो हमें फोन करती थीं. उन्होंने 19 अक्टूबर को पहली बार ब्रिटेन की सीमा पार करने की कोशिश की लेकिन वो पकड़ी गईं और उन्हें वापस भेज दिया गया. मैं यकीन से नहीं बता सकता हूं कि किस पोर्ट से उन्हें लौटाया गया."

बीबीसी ने फाम ट्रै मी से जुड़ी जानकारी एसेक्स पुलिस को दे दी है. साथ ही जानकारी रखने का दावा करने वाले दूसरे लोगों से मिला ब्यौरा भी साझा किया है.

इमेज कॉपीरइट FAMILY HANDOUT

बीबीसी को वियतनाम के दो अन्य लोगों के लापता होने की जानकारी मिली है. इनमें एक 26 बरस का पुरुष और एक 19 बरस की महिला हैं.

19 बरस की महिला के भाई ने बताया कि उनकी बहन ने मंगलवार को बेल्जियम के स्थानीय समय के मुताबिक 7 बजकर 20 मिनट पर फोन किया और बताया कि वो एक कंटेनर में सवार होने जा रही हैं. उन्होंने बताया कि वो अपना फ़ोन ऑफ कर रही हैं ताकि उन्हें तलाशा न जा सके. उसके बाद से उनके बारे में कोई सूचना नहीं मिली है.

उन्होंने बताया कि लोगों की तस्करी करने वाले एक व्यक्ति ने रातों रात परिवार को पैसे लौटा दिए. उनकी बहन 26 बरस के जिस व्यक्ति के साथ यात्रा कर रही थीं, उनके परिवार को भी पैसे वापस मिल गए.

लंदन स्थित वियतनाम दूतावास के एक प्रवक्ता ने इस बात की पुष्टि की कि वो गुरुवार से एसेक्स पुलिस के संपर्क में हैं.

उन्होंने बताया कि वियतनाम के परिवारों ने उनसे अपील की है कि वो ये पता लगाएं कि क्या उनके रिश्तेदार मारे गए लोगों में हैं. प्रवक्ता ने ये भी बताया कि उनसे कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है.

लॉरी से 31 पुरुषों और आठ महिलाओं के शव मिले थे. एसेक्स पुलिस ने पहले जानकारी दी थी कि वो मानते हैं कि सभी लोग चीन के नागरिक हैं. इनके शव बुधवार को ग्रेज़ के वाटरग्लैड इंडस्ट्रियल पार्क इलाके से मिले थे.

इमेज कॉपीरइट FACEBOOK

डिप्टी चीफ़ कॉन्सटेबल पिपा मिल्स ने शुक्रवार को बताया कि कई विभाग एक साथ काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि मारे गए लोगों की नागरिकता को लेकर वो तब तक कुछ नहीं नहीं कहेंगी जब तक कि उन्हें पहचानने की औपचारिक प्रक्रिया पूरी नहीं हो जाती है.

एसेक्स पुलिस ने कहा है कि अगर किसी को ये आशंका है कि उनके करीबी लॉरी में हो सकते हैं तो वो उनसे संपर्क करें.

जीपीएस डाटा से जानकारी मिली है ये लॉरी ब्रिटेन और यूरोप के बीच आती जाती रही है. इसे 15 अक्टूबर को ग्लोबल ट्रेलर रेंटल्स कंपनी से लीज पर लिया गया था. कंपनी का कहना है कि उसे ये जानकारी नहीं थी कि 'ट्रेलर का इस तरह इस्तेमाल किया जा रहा था'.

लॉरी के ड्राइवर उत्तरी आयरलैंड के रहने वाले मो रॉबिनसन हैं. जांच अधिकारी उनसे पूछताछ कर रहे हैं. उन्हें बुधवार को हत्या के संदेह में गिरफ़्तार किया गया.

लंदन: यह ड्राइवर 39 शव आख़िर कहां से लाया?

लंदन: ट्रक में 39 लाशें बरामद, ड्राइवर गिरफ़्तार

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार