बिना मुंह वाले बच्चे के जन्म पर ग़ुस्से में पुर्तगाल

  • 26 अक्तूबर 2019
बिना मुंह वाला बच्चा इमेज कॉपीरइट Getty Images

7 अक्टूबर को पुर्तगाल के एक छोटे से शहर में एक बच्चे का जन्म हुआ. बच्चे की आंखें और नाक ग़ायब थे और सिर का एक हिस्सा भी नहीं था.

जन्म के पहले बच्चे के कई तरह के टेस्ट हुए थे. लेकिन फिर भी मां-बाप को बच्चे की इस शारीरिक स्थिति के बारे में नहीं बताया गया था.

बच्चे की मां गर्भावस्था के पूरे नौ महीने डॉ. अर्तुर कार्वल्हो की निगरानी में थीं. सभी टेस्ट और चेक-अप उन्होंने इसी डॉक्टर से करवाए थे.

बच्चे का जन्म होने के बाद डॉक्टर अर्तुर पर लापरवाही बरतने का आरोप लगा. मेडिकल काउंसिल ने डॉक्टर अर्तुर को निलंबित करने का फैसला किया है.

मामला सामने आने के बाद कई लोगों ने आरोप लगाया कि इसी डॉक्टर ने उनके केस में भी लापरवाही की थी.

ख़बर आने के बाद पूरे देश में लोगों में गुस्सा है.

डॉ. अर्तुर ने फिलहाल इस मामले पर कोई बयान नहीं दिया है और बीबीसी भी उनसे संपर्क नहीं कर पाया है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

बच्चे के साथ क्या हुआ था?

पूरे नौ महीने बच्चे की मां डॉक्टर की देखरेख में थी.

उस दौरान तीन बार अल्ट्रासाउंड किया गया. मां-बाप का कहना है कि डॉक्टर ने कभी भी बच्चे की सेहत को लेकर कोई चिंता ज़ाहिर नहीं की.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, लेकिन जब गर्भवास्था को छह महीने हो गए तो एक दूसरे क्लिनिक से उन्होंने चौथी बार अल्ट्रासाउंड कराया, जो 5डी अल्ट्रासाउंड था. इससे भ्रूण के बारे में और बारीक जानकारी मिल जाती है.

टेस्ट के वक्त उस क्लिनिक के डॉक्टर ने कहा कि उन्हें कुछ असामान्य लग रहा है और ऐसा लग रहा है कि भ्रूण ठीक से विकसित नहीं हो रहा.

इसके बाद मां-बाप डॉ. अर्तुर कार्वल्हो के पास गए, लेकिन उन्होंने इन चिंताओं को ख़ारिज़ कर दिया.

एएफपी से बातचीत में बच्चे की चाची ने कहा, "डॉ. अर्तुर ने कहा कि कई बार अल्ट्रासाउंड में चेहरे के कुछ हिस्से नहीं दिखते. मसलन, जब बच्चे का चेहरा मां के पेट से जुड़ा हो."

जब बच्चा पैदा हुआ और पता चला कि उसके चेहरे और सिर के कुछ हिस्से नहीं हैं, तो अस्पताल वालों ने मां-बाप को बताया कि बच्चा सिर्फ कुछ घंटे ही ज़िंदा रह पाएगा.

हालांकि, दो हफ्ते बाद भी बच्चा अस्पताल में ज़िंदगी की लड़ाई लड़ रहा है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक डॉक्टर के खिलाफ कम से कम छह मामले हैं. जिनमें से कुछ 2013 के हैं.

दूसरे मामले क्या हैं?

इस मामले के बाद डॉ. अर्तुर के खिलाफ कई दूसरी शिकायतें भी सामने आई हैं.

स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक, फिलहाल उनके ख़िलाफ़ कम से कम छह लोगों ने शिकायत की है. इनमें से कुछ मामले 2013 के हैं.

कई लोगों ने मीडिया को बताया है कि इसी डॉक्टर की लापरवाही की वजह से उनकी प्रेगनेंसी में भी परेशानियां आई थीं.

2011 के एक ऐसे ही मामले में एक बच्चे के चेहरे के कई हिस्से नहीं थे, पैर विकृत थे और दिमाग को भी गंभीर क्षति थी.

इस बच्चे की मां ने मीडिया को बताया कि उन्होंने भी डॉक्टर के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कराया है.

महिला ने बताया कि सिर्फ आठ साल की उम्र में अब तक उनके बेटे के कई ऑपरेशन हो चुके हैं. इसके बावजूद वो अब तक चल और बोल नहीं सकता.

खबरों के मुताबिक 2007 में इस डॉक्टर पर एक और आपराधिक मामला दर्ज हुआ था, जिसे सुनवाई के बिना ही बंद कर दिया गया. इस मामले में बच्चे की जन्म के कुछ महीनों बाद ही मौत हो गई थी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

प्रतिक्रियाएं

ताज़ा मामले के बाद से पुर्तगाल के लोगों में गुस्सा है और कई लोग देश की स्वास्थ्य प्रणाली पर सवाल उठा रहे हैं.

पुर्तगाल के मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि उन्होंने डॉ. अर्तुर कार्वल्हो से बात की है.

उन्होंने बताया कि डॉ. अर्तुर ने इस बात पर सहमति दे दी है कि जांच जारी रहने तक वो प्रैक्टिस नहीं करेंगे.

डिसिप्लिनरी काउंसिल की इस हफ्ते बैठक हुई थी, जिसमें सर्वसम्मति से फैसला हुआ कि डॉ. अर्तुर को छह महीने के लिए निलंबित कर देना चाहिए.

फैसले की घोषणा करते हुए दक्षिणी क्षेत्र की मेडिकल काउसिंल के प्रमुख ने कहा कि "डॉक्टर की लापरवाही के पुख्ता सबूत मिले हैं, उन पर अनुशासनात्मक प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार