पाकिस्तानः चलती ट्रेन में लगी भीषण आग से 74 लोगों की मौत

  • 31 अक्तूबर 2019
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
पाकिस्तान रेलवे की तेज़गाम एक्सप्रेस में आग

पाकिस्तान रेलवे की तेज़गाम एक्सप्रेस में आग लगने से कम से कम 74 लोगों की मौत हो गई है और उनमें ज़्यादातर की पहचान नहीं हो सकी है.

तेज़गाम एक्सप्रेस कराची से रावलपिंडी के बीच चलती है. रावलपिंडी की ओर जाते समय लियाक़त पुर में उसकी तीन बोगियों में आग लग गई.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

रहीम यार ख़ान के डिप्टी कमिश्नर जमील अहमद जमील ने बीबीसी को बताया है कि घटना में 74 लोगों की मौत हुई है जबकि 40 अन्य लोग ज़ख़्मी हैं. अधिकारियों के मुताबिक मृतकों की संख्या में अभी और इजाफा हो सकता है. घायलों का शेख़ ज़ाएद अस्पताल के बर्न सेंटर इलाज चल रहा है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

कैसे हुआ हादसा?

रेल मंत्री शेख राशिद अहमद का कहना था कि पीड़ितों में तबलीग़ी जमात का एक समूह था जो लाहौर में इज्तिमा के लिए यात्रा कर रहा था.

इमेज कॉपीरइट PAKISTAN RAILWAY

उनका कहना था कि यात्रियों के पास नाश्ते का सामान, सिलिंडर और चूल्हे थे, सिलिंडर के फटने से आग लगी.

इमेज कॉपीरइट PAKISTAN RAILWAY

उन्होंने बताया कि आग पर क़ाबू पा लिया गया है और तीन बोगियां प्रभावित हुई हैं. ज़ख़्मियों को क़रीबी अस्पताल में भर्ती कराया गया.

उनका कहना था कि ट्रेन पटरी से नहीं उतरी और उसे एक घंटे के अंदर-अंदर लियाक़तपुर जंक्शन पहुंचा दिया जाएगा.

इमेज कॉपीरइट RESCUE1122

हादसे के बाद कई ट्रेनों को रद्द कर दिया गया था लेकिन बाद में पाकिस्तान रेलवे की 134 ट्रेनों और उनके अप स्ट्रीम और डाउन स्ट्रीम को बहाल कर दिया गया.

इमेज कॉपीरइट Asim Tanvir
Image caption घायलों को मुल्तान के बर्न सेंटर भेजा गया है

इमरान ख़ान ने जताया दुख

रेडियो पाकिस्तान के मुताबिक़, घटना का संज्ञान लेते हुए प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने दुख ज़ाहिर किया है और पीड़ितों को ठीक इलाज देने का आदेश जारी किया है. इमरान ख़ान ने ट्वीट करते हुए बताया कि इस हादसे की तुरंत जांच के आदेश दे दिए गए हैं.

रेल मंत्री शेख़ रशीद ने बताया है कि यात्रियों और ट्रेन का बीमा हुआ है जिससे आर्थिक नुक़सान की क्षतिपूर्ति हो सकेगी. उन्होंने स्पष्ट किया कि इस घटना की आगे जांच की जाएगी.

इमेज कॉपीरइट RESCUE1122

निजी चैनल से बात करते हुए शेख़ रशीद का कहना था कि एक ही नाम से कई बोगियों की बुकिंग हुई थी. अधिकारी मारे गए लोगों की शिनाख़्त करने की कोशिश कर रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

पाकिस्तान के रेल मंत्री ने कहा, "गुरुवार सुबह साढ़े छह बजे तेज़गाम में अमीर हुसैन साहब जो तबलीग़ी (धर्म प्रचारक) जमात के अमीर हैं, ने दो कोचें बुक की थीं. वो ज़िंदा हैं. इसमें वो मेहराबपुर, नवाबशाह हैदराबाद से उन्होंने सवारियों को बिठाया. इसमें दो सिलिंडर और चूल्हा फट जाने की वजह से 62 पैसेंजर की मौत हो गई."

''पीड़ित परिवारों को 15 लाख और घायलों को पांच लाख रुपये की मदद दी जाएगी. आर्मी और दूसरी जमातें मौक़े पर पहुंच गई हैं. मैं ख़ुद वहां जा रहा हूँ ताकि इमदाद को मॉनिटर कर सकूं. आमिर हुसैन साब से राब्ता हो गया है. सबके नाम मौजूद हैं. हम परिवारों से संपर्क करेंगे."

इमेज कॉपीरइट Getty Images

हाल के दिनों में पाकिस्तान में हुई रेल दुर्घटनाएं

देश में अब तक कई बड़े ट्रेन हादसे हुए हैं लेकिन यह अब तक का सबसे भीषण रेल हादसा है.

इसी वर्ष जुलाई में हुए एक रेल हादसे में 11 लोग जबकि सितंबर में हुए एक अन्य हादसे में चार लोगों की मौत हो गई थी.

2007 में मेहराबपुर के समीप हुए रेल हादसे में 56 लोगों की मौत जबकि 120 लोग घायल हो गए थे.

2005 में सिंध प्रांत में तीन ट्रेनों के टकराने से हुए हादसे में 130 लोगों की मौत हो गई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार