रूस की मुख्य सुरक्षा एजेंसी एफ़एसबी के मुख्यालय पर फ़ायरिंग

  • 20 दिसंबर 2019
सशस्त्र अधिकारी इमेज कॉपीरइट Reuters

रूस की फ़ेडरल सिक्यॉरिटी सर्विस (एफ़एसबी) के मुख्यालय पर गोलीबारी हुई है. रूसी मीडिया के अनुसार इस घटना में कम से कम एक शख़्स की मौत हुई है और पांच लोग जख़्मी हुए हैं.

समाचार एजेंसी इंटरफ़ैक्स के मुताबिक़, इमारत के अंदर ऑटोमैटिक हथियार से फ़ायरिंग करने वाले बंदूकधारी की एक अधिकारी की गोली से मौत हो गई है.

सुरक्षा बलों ने इलाक़े की घेराबंदी कर दी है और आसपास मौजूद लोगों को इमारतों के अंदर जाने के लिए कहा है.

राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की सालाना प्रेस कॉन्फ़्रेंस के कुछ ही घंटों बाद यह वारदात सामने आई है.

एफ़एसबी रूस की मुख्य सुरक्षा एजेंसी है. अभी तक इस घटना को लेकर विस्तृत जानकारी नहीं मिल पाई है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption पुलिस ने इलाक़े को घेर लिया है

इससे पहले एफ़एसबी ने उन ख़बरों को ग़लत बताया था जिनमें कहा जा रहा था कि उसके मुख्यालय पर तीन बंदूकधारियों ने हमला किया था.

अपुष्ट रिपोर्टों के अनुसार दो बंदूकधारियों की बाहर लॉबी में ही मौत हो गई जबकि तीसरा भागकर बगल की एक इमारत में छिप गया जहां पुलिस के साथ मुठभेड़ में उसकी मौत हुई.

रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने मीडिया को जानकारी दी है कि दो अधिकारी गंभीर रूप से घायल हुए हैं. इसके तुरंत बाद इंटेलिजेंस एजेंसी ने ख़ुद अपने एक अधिकारी की मौत की पुष्टि की है.

हालांकि, अभी तक यह साफ़ नहीं पाया कि मरने वाला अधिकारी घायल बताए गए दो अधिकारियों में से एक है या कोई और.

रूसी जांचकर्ताओं ने अधिकारियों की हत्या की कोशिश का मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है.

इस बात की पड़ताल की जा रही है कि शाम को संपन्न हुए राष्ट्रपति पुतिन की चार घंटों तक चली सालाना प्रेस कॉन्फ्रेंस से इस घटना का कोई संबंध है या नहीं.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि घटनास्थल पर पांच एंबुलेंस दिखीं

घटनास्थल का मंज़र

विल वर्नोन, बीबीसी न्यूज़, मॉस्को

सेंट्रल मॉस्को में स्थित एफ़एसबी की दो प्रमुख इमारतों के चारों तरफ़ सुरक्षाबल और पुलिसकर्मी मौजूद हैं. उन्होंने पूरे इलाक़े की घेराबंदी कर दी है.

इस घटना के एक चश्मदीद व्लादिमीर एडयासोव ने बीबीसी को बताया कि वो लुब्यांका स्क्वेयर में एफ़एसबी की बिल्डिंग के नज़दीक थे जब उन्होंने गोलीबारी की आवाज़ सुनी.

पहले उन्हें लगा कि किसी ने पटाखे चलाए हैं लेकिन जल्दी ही उन्हें अहसास हो गया कि यह गोलीबारी की आवाज़ें हैं. इसके बाद पुलिस लोगों को इलाक़ा ख़ाली करने के आदेश दे रही थी.

यह हमला उस दिन हुआ जब रूस में सुरक्षा सेवा दिवस मनाया जा रहा था. इस दिन सुरक्षा स्टाफ़ की छुट्टी थी. इस मौक़े पर रूस के राष्ट्रपति व्लादिीर पुतिन ने भी एक बैठक को संबोधित किया था.

घटनास्थल पर कुछ ही दूरी पर एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा, ''हमें अपने काम की गंभीरता को कम नहीं करना है. सबसे बढ़कर हमें आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ाई लड़नी है.''

सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए कुछ वीडियो में गोलियां चलने की आवाज़ें सुनी जा सकती हैं जबकि कुछ वीडियो में हथियारबंद सुरक्षाकर्मी लुब्यांका स्क्वेयर की तरफ़ दौड़ते हुए दिख रहे हैं.

एक प्रत्यक्षदर्शी ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स से कहा, "मैंने एक ट्रैफ़िक पुलिसकर्मी को सड़क पर दौड़ते और गाड़ियों के पीछे छिपते देखा."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार