तुर्की के राष्ट्रपति अर्दोआन पाकिस्तान में चुनाव जीत जाएंगे: इमरान ख़ान

  • 14 फरवरी 2020
तुर्की पाकिस्तान इमेज कॉपीरइट Getty Images

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने इस्लामाबाद में पाकिस्तान-तुर्की बिज़नेस फोरम को संबोधित करते हुए कहा कि तुर्की के राष्ट्रपति अर्दोआन पाकिस्तान में चुनाव लड़ेंगे तो जीत जाएंगे.

इमरान ख़ान जब ऐसा कह रहे थे तो अर्दोआन भी वहीं बैठे थे. अर्दोआन पाकिस्तान के दो दिनसीय दौरे पर हैं. शुक्रवार को अर्दोआन ने पाकिस्तानी संसद को संबोधित किया और उनके संबोधन के दौरान सांसदों ने जमकर मेज थपथपाए. अर्दोआन ने संसद को संबोधित करते हुए कहा था कि कश्मीर पाकिस्तान के लिए जितना अहम है उतना ही तुर्की के लिए भी है.

इसी संबोधन का हवाला देते हुए इमरान ख़ान ने कहा, ''मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि अर्दोआन ने अगला चुनाव पाकिस्तान में लड़ा तो वो आराम से जीत जाएंगे. मैंने संसद में देखा कि अर्दोआन जब बोल रहे थे तो सत्ता पक्ष से लेकर विपक्ष तक के सांसद मेज थपथपा रहे थे. मैंने इससे पहले कभी नहीं देखा कि किसी के संबोधन पर संसद में इस तरह से तालियां गूंजी हों. इससे साबित होता है कि पाकिस्तानी राष्ट्रपति अर्दोवान को किस हद तक चाहते हैं.''

इमरान ख़ान जब ऐसा बोल रहे थे तो तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन मुस्कुरा रहे थे. अर्दोआन के साथ आया उनका प्रतिनिधिमंडल भी हँसने लगा.

अर्दोआन ने भी इस फ़ोरम को संबोधित किया और कहा कि वो चाइना-पाकिस्तान इकनॉमिक कॉरिडोर में काम करने के लिए तैयार हैं. अर्दोआन ने कहा कि सीपीईसी में दूसरे देशों को जो मौक़ा दिया गया वो मौक़ा पाकिस्तान को नहीं मिला.

तुर्की के राष्ट्रपति ने कहा, ''हमें उम्मीद है कि दोनों देशों के बीच कारोबार का नया दरवाज़ा खुलेगा. हम चाहते हैं कि जिस मुकाम पर हमारा सियासी संबंध है उसी मुकाम पर कारोबारी संबंध भी पहुंचे.''

अर्दोआन ने कहा, ''अभी पाकिस्तान और तुर्की के बीच कारोबार महज़ 80 करोड़ डॉलर का है. दोनों देशों के बीच जैसा संबंध है वैसे में इतना कम का कारोबार स्वीकार्य नहीं है. हमें ट्रेड को और बढ़ाना होगा. हम कारोबार के मामले में संरक्षणवादी नहीं बन सकते हैं. हमें कम से कम द्विपक्षीय कारोबार को एक अरब डॉलर तक जल्द ही पहुंचाना चाहिए और इसे पाँच अरब डॉलर तक ले जाना चाहिए. कारोबार को इस मुकाम तक ले जाने के लिए हमें ठोस क़दम उठाने की ज़रूरत है. हम निवेशको को तुर्की की नागरिकता भी दे रहे हैं.''

अर्दोआन ने कहा, ''मैं पाकिस्तानी भाइयों को आमंत्रित करता हूं कि वो हमारी अर्थव्यवस्था में निवेश करें. तुर्की की अर्थव्यवस्था दुनिया की 20 बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में से एक है. पाकिस्तान में टर्किश ड्रामा और सीरियल काफ़ी लोकप्रिय है. पाकिस्तान में टर्किश ड्रामे ख़ूब देखे जाते हैं. यहां तक कि जो पाकिस्तानी विदेशों में बसे हैं वो भी टर्किश ड्रामे देखते हैं. ऐसे में हमें फ़िल्ममेकिंग पर साथ में मिलकर काम करना चाहिेए. मैंने सुना है कि पाकिस्तानी पश्चिमी हेल्थकेयर पर ज़्यादा भरोसा करते हैं लेकिन मैं पाकिस्तानियों को भरोसा दिलाता हूं कि वो तुर्की के हेल्थकेयर सिस्टम को आजमाएं और यह किसी भी पश्चिमी हेल्थकेयर सिस्टम से बेहतर है.''

इस मौक़े पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने तुर्की के राष्ट्रपति अर्दोआन की जमकर तारीफ़ की. इमरान ख़ान ने कहा, ''पाकिस्तान तुर्की के पर्यटन उद्योग से काफ़ी कुछ सीख सकता है. पाकिस्तान में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं लेकिन आधारभूत संरचना के अभाव के कारण पाकिस्तान इसका फ़ायदा नहीं उठा पा रहा. ऐसा तब है जब दुनिया भर की रिपोर्ट में पाकिस्तान को पर्यटन के मामले में शीर्ष पर रखा गया है. हम तुर्की को पाकिस्तान में निवेश के लिए आमंत्रित कर रहे हैं. कारोबारी सुगमता के मामले में वर्ल्ड बैंक की रैंकिंग में पाकिस्तान 28 स्थान की छलांग लगा चुका है.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार