चुपके से कर रहा था तीसरी शादी तभी पहुंची पहली पत्नी

  • 14 फरवरी 2020
पाकिस्तान इमेज कॉपीरइट SOCIAL MEDIA
Image caption आसिफ़ राफ़िक़ सिद्दीक़ी की पहली पत्नी मदिहा सिद्दीक़ी

पाकिस्तान के कराची में आसिफ़ राफ़िक़ सिद्दीक़ी चुपके से तीसरी शादी कर रहे थे कि पहली बीवी ऐन मौक़े पर आ गई.

लंबे-चौड़े कद काठी वाले आसिफ़ को लोगों ने जमकर पीटा. आक्रोशित भीड़ ने उनकी शर्ट-पैंट फाड़ दी. दुल्हे की किसी तरह जान बची.

हालांकि पाकिस्तान में बहुविवाह वैध है. एक पुरुष चार शादियां कर सकता है लेकिन दूसरी शादी पहले की पत्नियों की सहमति के बाद ही होती है. मगर आसिफ़ ने ऐसा नहीं किया था.

मदिहा शादी के आयोजन स्थल पर आसिफ़ को भला बुरा कहने लगीं तो लड़की वालों के एक रिश्तेदार उनसे पूछा, ''बहन मामला क्या है?'' जवाब में मदिहा सिद्दीक़ी ने कहा, ''यह मेरा पति है और वो इस बच्चे का पिता भी है. उसने मुझसे कहा था कि वो तीन दिनों के लिए हैदराबाद जा रहा है.'' मदिहा अपने नन्हे बेटे के साथ थीं. वो अपने सास और जेठानी को भी साथ लाई थीं.

पहले मामले को समझने की कोशिश की गई कि क्या वाक़ई मदिहा सच बोल रही हैं. मदिहा ने कहा, ''ये मेरी सास हैं और ये मेरी जेठानी. मेरी सास कई दिनों से बीमार हैं. तीन दिनों उन्हें ड्रिप लगी हुई है.''

इमेज कॉपीरइट SOCIAL MEDIA
Image caption आसिफ़ राफ़िक़ सिद्दीक़ी

मदिहा ने दुल्हन से पूछा, ''तुम्हें नहीं पता था कि ये मेरा पति है? इसने अपने बेटे के बारे में भी नहीं सोचा. मेरी शादी 2016 में हुई थी. ये शादी कराची उर्दू यूनिवर्सिटी में मुलाक़ात के बाद हुई थी.''

इसी दौरान मदिहा ने ये भी बताया कि आसिफ़ ने 2018 में चुपके से एक और शादी कर ली थी. दूसरी शादी जिन्ना महिला यूनिवर्सिटी की टीचर ज़हरा अशरफ़ से हुई थी.

मदिहा ने बताया कि उन्होंने ज़हरा को भी आसिफ़ की तीसरी शादी के बारे में बता दिया है. मदिहा ने कहा, ''2016 में इसने मुझसे शादी की. 2018 में ज़हरा से की और चार साल बाद इसने तीसरी शादी कर ली.'' आसिफ़ कराची उर्दू यूनिवर्सिटी में ही नौकरी करते हैं.

इमेज कॉपीरइट SOCIAL MEDIA

मदिहा ने कहा, ''यह धोखाधड़ी है. इसने मेरे साथ धोखा किया है.'' मदिहा जब ऐसा कह रही थीं तो आसिफ़ वहीं थे और चुपचाप सुन रहे थे.

अभी तक पता नहीं चला है कि इसके बाद क्या हुआ. बाद में पुलिस को बुलाया गया था और लड़की के रिश्तेदारों ने आसिफ़ की पिटाई की. बीबीसी ने सिद्दीक़ी से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन बात नहीं हो पाई.

तैमुरिहा पुलिस स्टेशन प्रमुख राव नाज़िम ने बीबीसी से कहा कि इस मामले में कोई एफ़आईआर दर्ज नहीं हुई है. उन्होंने कहा कि यहा परिवार का मामला है और इसका निपटारा फैमिली कोर्ट में ही होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे