कनिमोझी से जब पूछा गया, 'क्या आप भारतीय हैं'

कनिमोझी

इमेज स्रोत, @KanimozhiDMK

डीएमके पार्टी की सांसद कनिमोझी करुणानिधि को चेन्नई एयरपोर्ट में अजीबोग़रीब स्थिति का सामना करना पड़ा है.

उनसे एयरपोर्ट पर तैनात केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ़) कांस्टेबल ने हिंदी में कुछ कहा. कनिमोझी ने महिला कांस्टेबल से कहा कि उन्हें हिंदी नहीं आती लिहाज़ा आप तमिल या अंग्रेजी में कहें जो कहना है.

लेकिन महिला कांस्टेबल हिंदी में निर्देश देती रहीं.

तब मैंने उनसे कहा कि हर किसी के लिए हिंदी जानना ज़रूरी नहीं है, कृप्या अंग्रेजी में एक्सप्लेन करें.

तब सीआईएसएफ़ महिला कांस्टेबल ने कनिमोई से कहा, "क्या आप भारतीय हैं?"

कनिमोझी ने कहा, "तब मैंने उनसे कहा कि आप यह तय नहीं कर सकतीं कि मैं कौन हूं और मैं आपकी शिकायत करूंगी. लेकिन उन पर कोई असर नहीं दिखा."

कनिमोझी ने इस पूरे वाक़ये को ट्वीट करके बताया है. उन्होंने अपने ट्वीट में यह सवाल भी पूछा है, "मैं जानना चाहती हूं कि भारतीय होना कबसे हिंदी जानने के बराबर हो गया है."

वैसे सोशल मीडिया पर सीआईएसएफ़ कांस्टेबल के रवैए की काफ़ी आलोचना भी हो रही है.

वहीं सीआईएसएफ़ ने इस घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं. सीआईएसएफ़ मुख्यालय ने यह भी कहा है कि किसी भी ख़ास भाषा के इस्तेमाल को लेकर उनकी कोई नीति नहीं है. सीआईएसएफ़ की त्वरित कार्रवाई पर कनिमोझी ने धन्यवाद जताया है.

इस पूरे मुद्दे पर कनिमोझी ने कहा कि कोई भी व्यक्ति तभी भारतीय है जब वह हिंदी जानता है, यह विचार एक जगह नहीं है बल्कि हर जगह है और यह देश की एकता में बाधा पहुंचाने वाला है.

कनिमोझी कहती हैं, "किसी ख़ास भाषा, क्षेत्र या धर्म या विचारधारा का है तो वह देश का है और बाक़ी सब बाहरी- इस तरह के विचारों के थोपे जाने को हमलोग स्वीकार नहीं कर सकते."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)