अमरीका में तूफ़ान लॉरा से परेशानी, अब तक चार लोगों की मौत

तूफ़ान लॉरा के कारण तबाही

मेक्सिको की खाड़ी से उठा तूफ़ान लॉरा गुरुवार को करीब 150 मील प्रति घंटे (240 किलोमीटर प्रतिघंटे) की रफ़्तार से अमरीकी गल्फ़ कोस्ट से टकराया है.

ये अब तक अमरीकी गल्फ़ कोस्ट से टकराने वाले सबसे शक्तिशाली तूफ़ानों में से एक है.

तूफ़ान स्थानीय समयानुसार आधी रात के बाद लुज़ियाना के कैमरून ज़िले से टकराया. इस कारण यहां तेज़ हवाएं चलीं, कई पेड़ जड़ से उखड़ गए, इमारतों को नुक़सान पहुंचा, कई इलाक़ों में बिजली के खंभे गिरे और एक जगह केमिकल प्लांट में इस कारण आग लग गई.

लुज़ियाना के गनर्नर बेल एड्वर्ड्स ने गुरुवार दोपहर एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि तूफ़ान के कारण अब तक कम से कम चार लोगों की मौत हुई है.

तेज़ हवा के कारण घर पर पेड़ गिरने की चार अलग-अलग घटनाओं में चार लोगों की जान गई है जिसमें एक 14 साल की बच्ची भी शामिल है.

गनर्नर बेल एड्वर्ड्स ने कहा कि तूफ़ान प्रभावित इलाक़ों में राहत और बचाव कार्य जारी है. उन्होंने कहा, "हताहतों की संख्या बढ़ने की आशंका है लेकिन मै प्रार्थना करता हूं कि ऐसा न हो."

उन्होंने कहा कि तूफ़ान के कारण नुक़सान की जितनी आशंका जताई जा रही थी सड़कों और इमारतों को उससे कहीं अधिक नुक़सान पहुंचा है. बिजली के खंभे, सड़कें और पुलों को काफी नुक़सान पहुंचा है जिनको जल्द दुरुस्त किया जाएगा, जो सड़कें और पुल सुरक्षित हैं उनकी भी जांच की जाएगी.

हालांकि उनका कहना है कि तूफ़ान के कारण समुद्र में अधिक तेज़ लहरें नहीं उठीं और इस कारण नुक़सान थोड़ा कम हुआ.

नेशनल गार्ड ट्रूप के 1,500 कर्मियों को राहत और बचाव कार्य के लिए लगाया गया है.

वॉशिंगटन में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उप राष्ट्रपति माइक पेन्स ने फेडेरल इमर्जेंसी मैनेजमेन्ट एजेंसी से चर्चा की और तूफ़ान से हुए नुक़सान का जायज़ा लिया. ट्रंप ने कहा कि सप्ताहांत में वो इस इलाक़े का दौरा करेंगे.

ट्रंप ने कहा, "हमारा नसीब अच्छा है. ये बहुत बड़ा और शक्तिशाली तूफ़ान था लेकिन ये जल्दी चला गया."

वहीं माइक पेन्स ने कहा, "ये बड़ा तूफ़ान और बड़े पैमाने पर क्षति पहुंचा सकता था लेकिन इससे उतना अधिक नुक़सान नहीं हुआ जितनी आशंका थी."

ये तूफ़ान अब कमज़ोर पड़ चुका है और हवा की गति 85 किलोमीटर तक हो गई है. ये अब आगे आर्कान्सस की तरफ़ बढ़ गया है.

इससे पहले तूफ़ान लॉरा और मार्को ने कैरिबियाई क्षेत्र में भारी तबाही मचाई थी और क़रीब 24 लोगों की जान ली थी.

नेशनल हरिकेन सेन्टर ने समुद्रतट के कुछ इलाक़ों में जलस्तर बढ़ने की चेतावनी दी है, वहीं उत्तरी लुज़ियाना और दक्षिणपूर्वी आर्कान्सस में हवाओं के साथ बारिश होने की चेतावनी जारी की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)