चीन और भारत के बीच बने तनाव पर क्या बोला अमरीका

ट्रंप

इमेज स्रोत, TASOS KATOPODIS/GETTY IMAGES

चीन और भारत के बीच सीमा विवाद को लेकर पैदा हुए ताज़ा हालात पर अमरीका भी नज़र बनाए हुए है.

अमरीका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने कहा है कि चीन की अन्याय भरी नीतियों के कारण भारत, ऑस्ट्रेलिया, जापान और दक्षिण कोरिया जैसे देश अमरीका के साथ लामबंद हो रहे हैं.

मंगलवार को फ़ॉक्स न्यूज़ को दिए इंटरव्यू में पॉम्पियो ने कहा, "मेरे ख़्याल से आप देख सकते हैं कि पूरी दुनिया इस बात को लेकर एकजुट होने लगी है कि चीनी कम्यूनिस्ट पार्टी ईमानदारी, समानता और पारदर्शिता से मुक़ाबला करने के लिए तैयार नहीं होगी."

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार, भारत की ओर से साउथ चाइना सी में जंगी जहाज़ भेजे जाने को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में पॉम्पियो ने कहा, "भारत, ऑस्ट्रेलिया, जापान या दक्षिण कोरिया में हमारे जो दोस्त हैं, उन्हें मालूम है कि उनके लोगों को, उनके देश को कितना ख़तरा है. आप देखेंगे कि वे हर मोर्चे पर जवाब देने के लिए अमरीका के साथ सहयोग बढ़ाएंगे."

इसके बाद बुधवार को अपने कार्यालय में पत्रकारों से बात करते हुए माइक पॉम्पियो ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि भारत-चीन सीमा विवाद के कारण पैदा हुए हालात का शांतिपूर्ण हल निकलेगा.

इमेज स्रोत, Getty Images

'चीन कर रहा है दादागीरी'

पॉम्पियो यह भी कहा कि चीन की कम्यूनिस्ट पार्टी (चीनी सरकार) साफ़ तौर पर ताइवान से लेकर हिमालय तक अपने पड़ोसियों के साथ दादागीरी की राह पर चल रही है.

उन्होंने कहा कि यह दादागीरी साउथ चाइना सी में साफ़ नज़र आती है.

उन्होंने कहा, "भारत-चीन सीमा पर बनी स्थिति के शांतिपूर्ण हल की उम्मीद है. ताइवान की खाड़ी से लेकर हिमालय और इससे परे तक चीनी सरकार साफ़ तौर पर अपने पड़ोसियों के बीच दादागीरी दिखाने में लगी है."

इस बीच, भारत की ओर से पबजी समेत 100 से अधिक चीन में बने ऐप प्रतिबंधित के जाने को लेकर भी अमरीका की ओर से सकारात्मक प्रतिक्रिया आई है.

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, अमरीका के विदेश मंत्रालय ने कहा है, "भारत ने पहले ही 100 से अधिक चीनी ऐप प्रतिबंधित कर दिए हैं. हम सभी स्वतंत्रता पसंद देशों और कंपनियों से अपील करते हैं कि वे भी क्लीन नेटवर्क से जुड़ें."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)