परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए -आज की बड़ी ख़बरें

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख, पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (फ़ाइल फ़ोटो)

इमेज स्रोत, Pratik Chorge/Hindustan Times via Getty Images

इमेज कैप्शन,

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख, पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (फ़ाइल फ़ोटो)

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नाम लिखी गई मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह की चिट्ठी को लेकर राज्य की राजनीति एक नए बवंडर की तरफ़ बढ़ती हुई दिख रही है.

परमबीर सिंह ने इस चिट्ठी में लिखा है कि सचिन वाझे ने उन्हें बताया था कि गृह मंत्री अनिल देशमुख ने उनसे हर महीने 100 करोड़ रुपये वसूली करने के लिए कहा था.

यहां गौर करने वाली बात ये है कि इस लैटर पर परमबीर सिंह के हस्ताक्षर नहीं है बल्कि इसके हेडर पर उनका नाम है और ये पत्र हेडर के नीचे लिखा है.

इस मामले की गंभीरता को देखते हुए बीबीसी ने परमबीर सिंह से पत्र की पुष्टि करने की कोशिश की है.

हालांकि इस पर राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने फौरन प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट किया, "पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने खुद को बचाने के लिए झूठे आरोप लगाए हैं क्योंकि मुकेश अंबानी और मनसुख हिरेन के मामले में अब तक हुई जांच से सचिन वाझे की संलिप्तता स्पष्ट हो रही है और इसके तार परमबीर सिंह से भी जुड़ रहे हैं."

कुछ दिनों पहले परमबीर सिंह को मुंबई के पुलिस कमिश्नर के पद से हटा कर होमगार्ड में ट्रांसफर कर दिया गया था.

तबादले के फ़ैसले के बाद गृह मंत्री अनिल देशमुख ने एक इंटरव्यू दिया था जिसे लेकर परमबीर सिंह ने मुख्यमंत्री को ये शिकायती चिट्ठी लिखी है.

आठ पेज लंबी इसी चिट्ठी में परमबीर सिंह ने कई गंभीर आरोप लगाए हैं और चौंकाने वाली जानकारियां दी हैं.

चिट्ठी में उन्होंने लिखा है कि "सचिन वाझे को मुंबई से 100 करोड़ रुपये की उगाही करने का लक्ष्य दिया गया था."

परमबीर सिंह के आरोपों पर विपक्ष के नेता देवेंद्र फड़णवीस ने कहा, "इस मामले में डीजी स्तर के एक पुलिस अधिकारी ने गृह मंत्री के ख़िलाफ़ इस तरह के आरोप लगाए हैं. इस पत्र के साथ व्हॉट्सऐप और एसएमएस चैट के साक्ष्य भी दिए गए हैं. इसलिए ये मामला गंभीर है."

उधर, भाजपा नेता किरीट सोमैया ने गृह मंत्री अनिल देशमुख को तत्काल हटाने की मांग की है.

सोमैया ने आरोप लगाया, 'गृह मंत्री अनिल देशमुख नियमित रूप से सचिन वाझे से मिलते थे. ये स्पष्ट है कि गृह मंत्री देशमुख वसूली कर रहे थे.ट

सोमैया ने कहा कि उन्हें तुरंत गृह मंत्री के पद से हटा दिया जाना चाहिए.

इमेज स्रोत, REUTERS/Mohammad Ismail

इमरान ख़ान वैक्सीन लेने के दो दिन बाद कोरोना संक्रमित हुए

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं. इसकी पुष्टि प्रधानमंत्री के विशेष सहायक डॉक्टर फ़ैसल सुल्तान ने एक ट्वीट में की.

डॉक्टर फ़ैसल का कहना है कि प्रधानमंत्री ने अपने घर में खुद को क्वारंटीन कर लिया है.

प्रधानमंत्री इमरान खान ने दो दिन पहले ही कोरोना का वैक्सीन लगवाया था. हालांकि डॉक्टरों का कहना है कि वैक्सीन लगाने के बाद एंटीबॉडी बनने में हफ्तों लगते हैं.

इमरान ख़ान ने जो टीका लगवाया था, वो चीन की सायनोफोर्म वैक्सीन है. इसकी दूसरी खुराक 21 दिनों के बाद फिर से लेनी होती है.

वर्तमान में पाकिस्तान में 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को कोरोना वैक्सीन दी जा रही है.

यह अभी तक स्पष्ट नहीं है कि प्रधानमंत्री इमरान वायरस से कैसे संक्रमित हो गए, लेकिन उन्होंने इस बीच सार्वजनिक समारोहों और बैठकों में भी भाग लिया है.

प्रधानमंत्री बाहर से आए मेहमानों से भी मिलते रहे हैं. प्रधानमंत्री ने कुछ दिनों पहले खैबर पख्तूनख्वाह में विकास परियोजनाओं का भी दौरा किया था.

इमेज स्रोत, Mohd Zakir/Hindustan Times via Getty Images

'भारत में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को बड़ा झटका लगा है'

छोड़कर पॉडकास्ट आगे बढ़ें
पॉडकास्ट
बात सरहद पार

दो देश,दो शख़्सियतें और ढेर सारी बातें. आज़ादी और बँटवारे के 75 साल. सीमा पार संवाद.

बात सरहद पार

समाप्त

भारतीय रिज़र्व बैंक के पूर्व गवर्नर और मशहूर अर्थशास्त्री रघुराम राजन ने अशोका विश्वविद्यालय से प्रताप भानु मेहता और अरविंद सुब्रमण्यम के इस्तीफ़े पर टिप्पणी करते हुए लिखा कि "भारत में इस हफ़्ते अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को बड़ा झटका लगा है."

राजन ने लिखा कि "अशोका विश्वविद्यालय इस हफ़्ते तक अगले एक दशक में केंब्रिज, हार्वर्ड और ऑक्सफोर्ड को टक्कर देने की क्षमता रखता था. लेकिन इस हफ़्ते के कदम के बाद इसकी उम्मीद कम रह गई है."

रघुराम राजन ने प्रताप भानु मेहता को देश के बेहतरीन राजनीति विज्ञानियों में से एक करार दिया.

उन्होंने कहा कि मेहता सरकार के लिए कांटे की तरह हैं. उन्होंने कहा कि वो कोई आम 'कांटा' नहीं हैं क्योंकि वो अपने तर्क से बड़े अधिकारियों, सरकार और सुप्रीम कोर्ट को सीख देते हैं.

हरियाणा के सोनीपत में स्थित अशोका विश्वविद्यालय सुर्खियों में उस वक़्त आया जब शिक्षाविद प्रताप भानु मेहता ने यूनिवर्सिटी से इस्तीफ़ा दे दिया.

इसके बाद उसी विश्वविद्यालय में प्रोफ़ेसर अरविंद सुब्रमण्यम ने भी मेहता के समर्थन में इस्तीफ़ा दे दिया.

इमेज स्रोत, PTI

इमेज कैप्शन,

दत्तात्रेय होसबाले

दत्तात्रेय होसबाले को RSS ने सरकार्यवाह बनाया

दत्तात्रेय होसबाले को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को सरकार्यवाह चुना गया है.

इसकी घोषणा बेंगलुरु में आरएसएस की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा में रविवार को की गई. होसबाले 2009 से संघ के सह सरकार्यवाह थे. आरएसएस ने भैय्याजी जोशी की जगह होसबाले को सरकार्यवाह की ज़िम्मेदारी सौंपी है.

19 मार्च से संघ की दो दिवसीय अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा बेंगलूरु में शुरू हुई है. आरएसएस ने ट्वीट कर कहा था, ''पूजनीय सरसंघचालक मोहनजी भागवत और माननीय सरकार्यवाह भैय्याजी जोशी ने भारत माता के चित्र पर पुष्पार्चन कर बैठक का शुभारम्भ किया. बैठक में देश भर से लगभग 450 प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं.''

इमेज स्रोत, Reuters

इमेज कैप्शन,

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन-सलमान वैक्सीन लगाते हुए

रमज़ान: वैक्सीन लगाने से नहीं टूटेगा रोज़ा, सऊदी के मुफ़्ती की घोषणा

रमज़ान के पवित्र महीने से पहले सऊदी अरब के सबसे बड़े मुफ़्ती ने घोषणा की है कि रोज़े के दौरान कोरोना वायरस की वैक्सीन लगवाने से रोज़ा नहीं टूटेगा.

शेख़ अब्दुलअज़ीज़ अल-शेख़ ने कहा, "कोविड-19 वैक्सीन को खाने या पीने की चीज़ नहीं माना जाता है, इसलिए इसे लगवाने से रोज़ेदार के रोज़ा नहीं टूटेगा. वैक्सीन को सीधे मांसपेशियों के अंदर पहुंचाया जाता है, इसलिए इससे रोज़ा नहीं टूटेगा."

सऊदी के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में अब तक कोरोना वायरस की 26 लाख डोज़ दी जा चुकी है.

इस साल रमज़ान 12 या 13 अप्रैल को चांद दिखने के बाद शुरू होगा.

इमेज स्रोत, Patrick Durand/Sygma via Getty Images

सऊदी अरब की तेल रिफाइनरी पर ड्रोन हमला, कोई हताहत नहीं

सऊदी अरब के ऊर्जा मंत्रालय के एक प्रवक्ता के मुताबिक़, आज सुबह 06:05 बजे रियाद तेल रिफाइनरी पर ड्रोन से हमला किया गया. इस हमले से रिफाइनरी में आग लग गई, जिसे बाद में नियंत्रित कर लिया गया.

हमले में कोई घायल नहीं हुआ है और ना ही किसी की जान का नुक़सान हुआ है. मंत्रालय के मुताबिक़, तेल की आपूर्ति भी प्रभावित नहीं हुई है.

अपने बयान में प्रवक्ता ने इस बात पर ज़ोर दिया कि सऊदी अरब इस 'कायरतापूर्ण हमले' की निंदा करता है.

सऊदी ने दावा किया कि उसके अहम प्रतिष्ठानों और नागरिक फैसेलिटी के ख़िलाफ़ 'आतंकवाद और नुक़सान पहुंचाने वाली' ऐसी लगातार की जा रही कार्रवाइयां सिर्फ सऊदी को ही नहीं, बल्कि अधिक व्यापक रूप से दुनिया की ऊर्जा सप्लाई की सुरक्षा और स्थिरता, साथ ही वैश्विक अर्थव्यवस्था को निशाना बनाती हैं.

इससे पहले रास तनुरा रिफाइनरी और सऊदी अरामको के रिहायशी इलाक़े को निशाना बनाने की कोशिश की गई थी.

प्रवक्ता ने एक बार फिर सभी देशों और संस्थाओं से ऐसे 'आतंकवाद और नुक़सान पहुंचाने वाली' कार्रवाइयों के ख़िलाफ़ मिलकर खड़े होने और ऐसे हमले करने वालों या उन्हें समर्थन देने वालों को रोकने के लिए कहा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)