इमरान ख़ान वैक्सीन लेने के बाद कोरोना संक्रमित हुए या पहले से ही थे- पाकिस्तान उर्दू प्रेस रिव्यू

  • इक़बाल अहमद
  • बीबीसी संवाददाता
इमरान ख़ान

इमेज स्रोत, Getty Images

पाकिस्तान से छपने वाले उर्दू अख़बारों में इस हफ़्ते सरकार और विपक्ष के आरोप-प्रत्यारोप के अलावा प्रधानमंत्री इमरान ख़ान के कोरोना पॉज़िटिव होने की ख़बर सबसे ज़्यादा सुर्ख़ियों में रही.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान कोरोना संक्रमित हो गए हैं. प्रधानमंत्री के विशेष सहायक (स्वास्थ्य) डॉक्टर फ़ैसल सुल्तान ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि शनिवार दोपहर प्रधानमंत्री के कोरोना संक्रमित होने की ख़बर आई.

इमरान ख़ान ने सिर्फ़ दो दिन पहले गुरुवार को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज़ ली थी. देर शाम इमरान ख़ान की पत्नी बुशरा बेगम के भी संक्रमित होने की पुष्टि हो गई.

डॉक्टर फ़ैसल सुल्तान ने कहा कि इमरान ख़ान की हालत बिल्कुल ठीक है और उनमें कोरोना के बहुत ही मामूली लक्षण पाए गए हैं. उनके अनुसार वैक्सीन देने के बाद हो सकता है कि उनमें अभी एंटीबॉडीज़ नहीं पैदा हुए होंगे या फिर उन्हें पहले से ही कोरोना हो.

केंद्रीय मंत्री और कोरोना के नेशनल कमांड एंड कंट्रोल सेंटर के प्रमुख असद उमर ने भी कहा है कि वैक्सीन लगवाने के पहले से ही प्रधानमंत्री कोरोना संक्रमित हो चुके थे.

दुनिया के कई देशों की तरह पाकिस्तान में भी कोरोना मामलों में पिछले कुछ दिनों से काफ़ी बढ़ोतरी देखी जा रही है लेकिन इमरान ख़ान के संक्रमित होने के बाद कोरोना की रोकथाम को लेकर किए जा रहे उपायों पर बहस तेज़ हो गई है.

इमेज स्रोत, Getty Images

इमरान ख़ान की पत्नी भी कोरोना पीड़ित

छोड़कर पॉडकास्ट आगे बढ़ें
पॉडकास्ट
बात सरहद पार

दो देश,दो शख़्सियतें और ढेर सारी बातें. आज़ादी और बँटवारे के 75 साल. सीमा पार संवाद.

बात सरहद पार

समाप्त

स्वास्थ्य मामलों के लिए प्रधानमंत्री के विशेष सहायक डॉक्टर फ़ैसल सुल्तान ने शनिवार को कहा कि कोराना वायरस तेज़ी से फैल रहा है और उस पर क़ाबू पाने के लिए जो इंतज़ाम किए जा रहे हैं वो एक्शन कमज़ोर दिख रहा है.

अख़बार एक्सप्रेस के अनुसार शनिवार को एक दिन में 3720 नए मामले सामने आए हैं. पाकिस्तान में अब तक कोरोना से 13 हज़ार से ज़्यादा लोग मारे गए हैं.

राजधानी इस्लामाबाद में सख़्ती बढ़ा दी गई है. अख़बार जंग के अनुसार इस समय पाकिस्तान में संक्रमित होने की दर आठ फ़ीसद पार कर गई है. अख़बार के अनुसार सरकार सोमवार को कुछ और सख़्ती की घोषणा कर सकती है. फ़िलहाल पाकिस्तान ने 12 अफ़्रीकी देशों के नागरिकों के पाकिस्तान आने पर पाबंदी लगा दी है.

इमरान ख़ान के जल्द ठीक होने की कामना उनके कट्टर राजनीतिक विरोधी पाकिस्तान डेमोक्रैटिक मूवमेंट (पीडीएम) के प्रमुख मौलाना फ़ज़लुर्रहमान ने भी की है लेकिन सरकार और विपक्ष एक दूसरे पर हमले करने का कोई भी मौक़ा नहीं छोड़ रहे हैं.

शुक्रवार को विपक्ष पर ज़ोरदार हमला करते हुए इमरान ख़ान ने कहा कि पाकिस्तान नवाज़ शरीफ़ और ज़रदारी ख़ानदान के अमीर होने के लिए नहीं बनाया गया था. इमरान ने कहा कि जब वो सत्ता में आए थे तो देश दिवालिया होने वाला था और अगर साथी देशों ने पाकिस्तान की मदद ना की होती तो देश में महंगाई और ज़्यादा होती.

इमेज स्रोत, Getty Images

इमरान ख़ान पर आरोप

उधर पीडीएम प्रमुख मौलाना फ़ज़लुर्रहमान ने कहा है कि सरकार पीडीएम की एकता को तोड़ने की पूरी कोशिश कर रही है. अख़बार दुनिया के अनुसार मौलाना का कहना था, "हमें एक रास्ता चुनना होगा कि हम सदन में लड़ाई करें या जनता के बीच जाएं. अगर हमें सिर्फ़ सदन में ही लड़ना है तो फिर पीडीएम क्यों बनाई गई?"

विपक्ष के इस्तीफ़े के बारे में उन्होंने कहा कि पहले चरण में संसद से इस्तीफ़ा दिया जाएगा और फिर उसके अगले चरण में प्रांतीय असेंबली से इस्तीफ़ा दिया जाएगा.

उन्होंने कहा कि उनकी इस बारे में पूर्व प्रधानमंत्री और मुस्लिम लीग (नून) के नेता नवाज़ शरीफ़ और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के सह-अध्यक्ष आसिफ़ अली ज़रदारी से बात हुई है.

उन्होंने कहा कि विपक्ष के पास आंदोलन करने के सिवाए कोई दूसरा रास्ता नहीं है.

मौलाना के अनुसार उन्होंने ज़रदारी से कह दिया है कि विपक्षी सांसदों और विधायकों के इस्तीफ़े के अलावा बात आगे नहीं बढ़ेगी.

उधर केंद्रीय गृहमंत्री शेख़ रशीद ने कहा है कि पीडीएम की एकता ख़त्म हो चुकी है. अख़बार नवा-ए-वक़्त के अनुसार शेख़ रशीद ने कहा कि दुनिया इधर से उधर हो जाए लेकिन मुस्लिम लीग(नून) और पीपीपी एक नहीं हो सकते. गृहमंत्री ने कहा कि उन्हें पूरा यक़ीन है कि मुस्लिम लीग(नून) के लोग इस्तीफ़ा नहीं देंगे.

अख़बार जंग के अनुसार पीपीपी के नेता चौधरी मंज़ूर ने कहा कि उनकी पार्टी के नज़दीक अभी इस्तीफ़े देने का मुनासिब वक़्त नहीं आया है.

एक प्रोग्राम में पीपीपी नेता ने कहा, "आंदोलन का मोमेंटम बनाए बग़ैर, इस्तीफ़ों का एटम बम कैसे इस्तेमाल किया जा सकता है. पीडीएम की लॉन्ग मार्च की कोई तैयारी नहीं थी. पता नहीं पीपीपी को क्यों मुजरिम बनाया जा रहा है."

इमेज स्रोत, Getty Images

विपक्ष का लॉन्ग मार्च

अख़बार एक्सप्रेस के अनुसार मौलाना फ़ज़लुर्रहमान ने कहा है कि रमज़ान के बाद विपक्ष का लॉन्ग मार्च होगा.

कश्मीर समेत सभी मुद्दों पर बातचीत संभव: पाकिस्तान

अख़बार नवा-ए-वक़्त के अनुसार पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने कहा है कि भारत से कश्मीर समेत सभी मुद्दों पर बातचीत संभव है.

क़ुरैशी ने कहा, "मोदी सरकार का शांति का समर्थक ना होना भारत और पाकिस्तान के बीच जमी सर्द सबसे बड़ी वजह है. भारत सरकार अपनी सोच पर पुनर्विचार करते हुए साज़गार माहौल पैदा करे तो कश्मीर समेत सभी मुद्दों पर बातचीत हो सकती है."

क़ुरैशी ने कहा कि इमरान ख़ान ने सत्ता संभालते ही भारत को शांति की दावत दी थी और कहा था कि भारत अगर अमन की तरफ़ एक क़दम बढ़ाए तो पाकिस्तान दो क़दम बढ़ाएगा. लेकिन अफ़सोस की बात है कि भारत सरकार इस सोच की समर्थक नहीं थी.

क़ुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान कभी भी बातचीत और डायलॉग से पीछे नहीं हटेगा लेकिन दोनों देशों के संबंधों में जारी गतिरोध को ख़त्म करने की ज़िम्मेदारी भारत पर है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)