यूएस कैपिटल हमला: 'पुलिस पर गाड़ी चढ़ाने के बाद हमलावर ज़ोर-ज़ोर से हंस रहा था'

अमेरिका

इमेज स्रोत, Reuters

वॉशिंगटन में यूएस कैपिटल बिल्डिंग (अमेरिकी संसद भवन) के परिसर के बाहर हुए हमले में एक पुलिस अफ़सर की मौत हो गई, जबकि एक अन्य अफ़सर ज़ख़्मी हैं जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है.

पुलिस का कहना है कि एक कार ने सुरक्षा बैरिकेड में टक्कर मारी जिसके बाद उसके ड्राइवर ने पुलिसकर्मियों पर चाकू से हमला करने की कोशिश की, जिसके जवाब में पुलिस अफ़सरों ने संदिग्ध पर गोली चलाई, जिससे उसकी मौत हो गई.

हमले के बारे में अब तक जो पता है

कैपिटल पुलिस के मुताबिक़, यह हमला स्थानीय समय अनुसार दोपहर क़रीब एक बजे हुआ.

इससे कुछ वक़्त पहले ही कैपिटल पुलिस के अलर्ट सिस्टम ने सभी सांसदों और कर्मचारियों को एक मेल भेजा था कि वो इमारत की बाहरी खिड़कियों से दूर रहें. इस मेल में किसी हमले की चेतावनी का ज़िक्र था.

जिस वक़्त हमलावर की नीली कार ने कैपिटल बिल्डिंग के उत्तरी बैरिकेड पर टक्कर मारी, तब वहाँ दो पुलिस अधिकारी तैनात थे.

इमेज स्रोत, EPA

हमले का ब्यौरा देते हुए कैपिटल पुलिस की चीफ़ ने कहा, "हमलावर ने कार लाकर सीधे पुलिस अधिकारी पर चढ़ा दी, उसके बाद उसने बैरिकेड में टक्कर मारी, फिर वो कार से बाहर निकला और ज़ोर ज़ोर से हँसने लगा. उस वक़्त उसके हाथ में चाकू था. जब वो दूसरे अधिकारियों की तरफ बढ़ने लगा तो एक पुलिस अधिकारी ने उसे गोली मार दी."

उन्होंने बताया, "इस हमले में हमारे साथी अफ़सर को जो चोटें आयीं, उनकी वजह से वे मारे गये. हमें यह बताते हुए बहुत तकलीफ़ हो रही है कि विलियम बिली इवांस, जो 18 वर्षों से देश की सेवा कर रहे थे और दो बच्चों के पिता थे, वे हमारे बीच नहीं हैं."

इस हमले में एक अन्य पुलिस अधिकारी को चोट पहुँची है, जिनकी स्थिति अब स्थिर बतायी जा रही है.

इमेज स्रोत, Reuters

इमेज कैप्शन,

पुलिस अफ़सर विलियम बिली इवांस जिनकी इस हमले में मौत हो गई

वॉशिंगटन पुलिस ने कहा है कि ये कोई आतंकी वारदात नहीं थी.

वॉशिंगटन पुलिस विभाग के चीफ़ रॉबर्ट कोंटे ने कहा, "लगता नहीं कि यह कोई आतंकी हमला था या किसी चरमपंथी संगठन द्वारा करायी गई कोई वारदात है. अब तक की जाँच से पता चला है कि हमलावर ने अकेले ही इस घटना को अंजाम दिया. क़रीब डेढ़ बजे उसे मृत घोषित कर दिया गया था. हालांकि, हम इस पूरे मामले की गंभीरता से जाँच कर रहे हैं. एफ़बीआई की टीम भी इसमें हमारी मदद कर रही है."

बीते तीन महीने में कैपिटल बिल्डिंग पर यह दूसरा हमला है. इससे पहले, 6 जनवरी को डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों ने चुनावों में धांधली का आरोप लगाते हुए कैपिटल बिल्डिंग पर चढ़ाई कर दी थी, जिसके बाद इस बिल्डिंग के सुरक्षा घेरे को भी बढ़ाया दिया गया था.

इमेज स्रोत, Reuters

राष्ट्रपति जो बाइडन ने इस घटना पर दुख व्यक्त किया है. उन्होंने एक पत्र में लिखा है कि कैपिटल पर फिर से हमला, दिल तोड़ देने वाली घटना है.

वहीं, स्पीकर नेन्सी पेलोसी ने कहा, "इस घटना से सबको दुख पहुँचा है. इस घटना ने लोगों को तोड़ दिया है. हमारे जांबाज़ सिपाही इवांस ने लोकतंत्र की रक्षा के लिए शहादत दे दी."

हमलावर की हुई पहचान

अमेरिका के कई मीडिया संस्थानों ने हमलावर की पहचान 25 वर्षीय नोआह ग्रीन के तौर पर की है जो वर्जीनिया के रहने वाले थे.

अमेरिका में बीबीसी के सहयोगी चैनल सीबीएस न्यूज़ ने हमलावर की पहचान की पुष्टि की है.

इमेज स्रोत, EPA

वॉशिंगटन पोस्ट अख़बार ने उनके भाई से बातचीत के आधार पर लिखा है कि नोआह ड्रग्स लेने की बुरी आदत से जूझ रहे थे और उनके परिवार को उनकी मानसिक स्थिति की चिंता रहती थी.

अधिकारियों का कहना है कि उनका कोई पुलिस रिकॉर्ड मौजूद नहीं है.

इस बीच फ़ेसबुक ने कहा है कि उसने हमलावर को अकाउंट अपनी वेबसाइट और इंस्टाग्राम से सस्पेंड कर दिया है. बताया गया है कि हमलावर ने इस हमले से पहले फ़ेसबुक पर लाइव किया था, जिसमें उन्होंने कई मुद्दों पर अपने विचार रखे थे.

इमेज स्रोत, Getty Images

आतंकी घटना नहीं बताई गई

शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ़्रेंस के दौरान वॉशिंगटन डीसी के कार्यकारी पुलिस प्रमुख ने कहा कि इस हमले का आतंकवाद से कोई संबंध नज़र नहीं आता है.

शहर के मेट्रोपॉलिटन पुलिस विभाग के कार्यकारी प्रमुख ने कहा, "यह हमला चाहे क़ानून स्थापित करने वाली संस्थाओं पर किया गया हो या किसी और पर, हमारी ज़िम्मेदारी है कि हम इसके बारे में सब कुछ पता लगाएं और हम यह करेंगे."

कैपिटल बिल्डिंग के आसपास भारी सुरक्षाबल तैनात कर दिया गया है.

इमेज स्रोत, Getty Images

चश्मदीदों के मुताबिक़, कॉन्स्टिट्यूशन एवेन्यू के एंट्री पॉइंट पर वाहन ने बैरिकेड को टक्कर मारी. ये वो जगह है जहाँ से हर रोज़ कैपिटल बिल्डिंग में सीनेटर और उनका स्टाफ़ जाता है.

हालांकि, कांग्रेस का सदन अभी स्थगित है जिसके कारण कैपिटल कॉम्प्लेक्स में शुक्रवार को अधिकतर राजनेता नहीं थे.

राष्ट्रपति जो बाइडन दिन में ही कैम्प डेविड में एक कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए चले गए थे.

हालांकि, कुछ पत्रकार, श्रमिक और कैपिटल हिल के कर्मचारी शायद कैपिटल ग्राउंड में मौजूद थे.

इससे पहले 6 जनवरी को कैपिटल बिल्डिंग में तत्कालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों की दंगाई भीड़ घुस गई थी और उसने वहाँ पर उत्पात मचाया था.

इमेज स्रोत, Getty Images

जो बाइडन ने क्या कहा?

छोड़कर पॉडकास्ट आगे बढ़ें
पॉडकास्ट
दिनभर: पूरा दिन,पूरी ख़बर (Dinbhar)

देश और दुनिया की बड़ी ख़बरें और उनका विश्लेषण करता समसामयिक विषयों का कार्यक्रम.

दिनभर: पूरा दिन,पूरी ख़बर

समाप्त

इस घटना के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा है कि यूएस कैपिटल पर हमले ने उनका और उनकी पत्नी जिल बाइडेन का दिल तोड़ दिया है.

कैंप डेविड में अपनी छुट्टियां बिता रहे अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपने बयान में कहा है, ''यूएस कैपिटल के सिक्योरिटी चेकपॉइंट पर हुए हिंसक हमले से जिल और मैं काफी दुखी हैं.''

उन्होंने हमले में मारे गए यूएस कैपिटल पुलिस के अधिकारी विलियम इवांस के परिवार और शुभचिंतकों के प्रति गहरी संवेदना भी प्रकट की.

इसके साथ ही जो बाइडन ने अमेरिकी राष्ट्रपति ने शहीद अधिकारी के सम्मान में व्हाइट हाउस पर लगे अमेरिकी झंडे को छह अप्रैल तक आधा झुकाने का आदेश दिया है.

बाइडन ने कहा कि वह जानते हैं कि यह वक्त यूएस कैपिटल के साथ वहां काम करने वालों और इसकी सुरक्षा करने वालों के लिए बहुत कठिन है. उन्होंने हमले के बाद तुरंत जवाब देने के लिए कैपिटल पुलिस और नेशनल गार्ड की तारीफ़ की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)