बिल गेट्स ने क्या अफ़ेयर की जाँच के कारण छोड़ा था माइक्रोसॉफ़्ट

गेट्स दंपत्ति

इमेज स्रोत, Getty Images

दुनिया के सबसे धनी लोगों में से एक और सॉफ़्टवेयर की दुनिया की सबसे कामयाब कंपनियों में गिने जाने वाले माइक्रोसॉफ़्ट के सह-संस्थापक बिल गेट्स का नाम एक बार फिर चर्चा में है.

कुछ दिनों पहले ही उन्होंने और मेलिंडा गेट्स ने अलग होने की घोषणा की थी. 27 साल तक साथ रहने के बाद उनके तलाक़ की ख़बर काफी चर्चा में रही.

अब ख़बर आ रही है कि बिल गेट्स ने पिछले साल जब माइक्रोसॉफ़्ट के सह-संस्थापक ने कंपनी के बोर्ड से इस्तीफ़ा दिया तो उस समय उन पर एक जांच चल रही थी.

यह जांच बिल गेट्स के 20 साल पुराने अफ़ेयर को लेकर की जा रही थी लेकिन वो इसके बीच ही कंपनी के बोर्ड से हट गए.

माइक्रोसॉफ़्ट ने की जांच की पुष्टि

माइक्रोसॉफ़्ट ने इस बात की पुष्टि की है कि उनके व्यवहार को लेकर कुछ चिंताएं ज़ाहिर की गई थीं जिसके बाद ये जांच शुरू की गई थी.

कंपनी का कहना है कि उसने एक लॉ-फ़र्म के साथ मिलकर इस मामले की जांच शुरू की थी और जिस कर्मचारी ने गेट्स के व्यवहार को लेकर रिपोर्ट की थी उसे पूरा सहयोग दिया गया.

हालांकि बिल गेट्स की प्रवक्ता ने इस बात से साफ़ इनक़ार किया है.

उनका कहना है कि बोर्ड से हटने के फ़ैसले का इस मामले से कोई भी लेना-देना नहीं था.

इमेज स्रोत, Getty Images

छोड़कर पॉडकास्ट आगे बढ़ें
पॉडकास्ट
दिनभर: पूरा दिन,पूरी ख़बर (Dinbhar)

देश और दुनिया की बड़ी ख़बरें और उनका विश्लेषण करता समसामयिक विषयों का कार्यक्रम.

दिनभर: पूरा दिन,पूरी ख़बर

समाप्त

जांच के दौरान ही बिल गेट्स का इस्तीफ़ा

सोमवार को, माइक्रोसॉफ़्ट के एक प्रवक्ता ने बयान जारी कर बताया कि - कंपनी को साल 2019 के अंतिम महीने में एक शिकायत मिली थी जिसमें कहा गया था कि बिल गेट्स ने साल 2000 में कंपनी की एक महिला कर्मचारी से "अंतरंग संबंध शुरू करने की मांग" की थी.

उन्होंने आगे कहा कि "बोर्ड की एक समिति ने पूरे मामले को गंभीरता से देखा और पूरे मामले की जांच के लिए एक बाहरी लॉ-फ़र्म की सहायता ली."

"जांच के दौरान माइक्रोसॉफ़्ट ने उस कर्मचारी को पूरा-पूरा सहयोग किया जिसने ये शिकायत दर्ज की थी."

हालांकि यह जांच किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकी क्योंकि बिल गेट्स ने जांच पूरी होने से पहले ही बोर्ड से इस्तीफ़ा दे दिया था.

बीते साल मार्च में लिंक्डइन पर एक पोस्ट में बिल गेट्स ने कहा था, "उन्होंने यह फ़ैसला इसलिए लिया था ताकि वह बिल एंड मेलिंडा गेट्स फ़ाउंडेशन के साथ अपने चैरिटी के काम को अधिक समय दे सकें."

उनका यह पोस्ट उनके दोबारा बोर्ड चुने जाने के तीन महीने बाद आया था.

उस समय उन्होंने लिखा था, "माइक्रोसॉफ़्ट के बोर्ड से हटने का मतलब किसी भी तरह से कंपनी से दूर जाना नहीं है. माइक्रोसॉफ़्ट हमेशा मेरे जीवन के कामों का एक महत्वपूर्ण हिस्सा रहेगा. मैं पहले से कहीं अधिक आशावादी महसूस करता हूं कि कंपनी तरक्की कर रही है और यह कैसे लगातार दुनिया को लाभ पहुंचाना जारी रख सकती है."

बिल गेट्स ने कंपनी के बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर्स से ये कहते हुए इस्तीफ़ा दे दिया था कि वह सामाजिक कार्यों की तरफ़ अधिक ध्यान देना चाहते हैं.

हालांकि उन्होंने यह भी कहा था कि कंपनी उनके लिए हमेशा ही महत्वपूर्ण रहेगी और वह मौजूदा सीईओ सत्या नडेला और अन्य अधिकारी के सलाहकार के रूप में काम करते रहेंगे.

इमेज स्रोत, Getty Images

बोर्ड के कहने पर छोड़ा पद

हालांकि वॉल स्ट्रीट जर्नल ने रविवार को अपने एक लेख में लिखा कि - माइक्रोसॉफ़्ट के बोर्ड ने फ़ैसला किया था कि बिल गेट्स का कंपनी की एक महिला कर्मचारी के साथ संबंध अनुचित था और उन्हें अपना पद छोड़ देना चाहिए.

बिल गेट्स की ओर से मौजूद प्रवक्ता से जब अख़बार ने इस संबंध में पूछा तो उन्होंने बिल गेट्स के अफ़ेयर की पुष्टि की लेकिन उन्होंने इस बात से साफ़ मना किया कि बोर्ड के पद से हटने के फ़ैसला का इस मामले से कोई संबंध है.

गेट्स की महिला प्रवक्ता ने कहा, "क़रीब 20 साल पहले एक अफ़ेयर था जो कि आपसी सहमति से समाप्त हो गया."

वो कहती हैं, "बोर्ड से हटने के बिल गेट्स के निर्णय का इस मामले से कोई लेना-देना नहीं था. वास्तव में उन्होंने बहुत साल पहले ही अपने चैरिटी के काम को अधिक से अधिक समय देने की बात कही थी."

बिल एंड मेलिंडा गेट्स फ़ाउंडेशन ने बीबीसी को बताया कि वे अपने बयान पर क़ायम हैं.

इमेज स्रोत, Getty Images

संपत्ति और बंटवारा

गेट्स दंपति ने दुनिया भर में चैरिटी के अपने काम के लिए अरबों रुपये दान किये हैं. दोनों ने अपने तलाक़ की घोषणा के साथ ही ये भी कहा कि वे आगे भी अपने फ़ाउंडेशन के काम को साथ मिलकर जारी रखेंगे.

अमेरिकी मीडिया के मुताबिक़, दोनों ने अपने तलाक़ की घोषणा करने से पहले ही संपत्ति और दूसरी चीज़ों के बंटवारे को लेकर सहमति दे दी थी.

फ़ोर्ब्स के अनुसार, 65 साल के बिल गेट्स दुनिया के चौथे सबसे धनी शख़्स हैं. उनकी कुल संपत्ति की क़ीमत क़रीब 124 बिलियन डॉलर है.

बिल गेट्स ने 1970 के दशक में माइक्रोसॉफ़्ट की सह-स्थापना की थी और साल 2008 तक वह पूरे समय तक कंपनी का हिस्सा रहे. माइक्रोसॉफ़्ट अब दुनिया की सबसे बड़ी सॉफ़्टवेयर कंपनी है.

ऐसा माना जाता है कि बिल और मेलिंडा के पास वॉशिंगटन, फ़्लोरिडा और व्योमिंग राज्यों में कई मिलियन डॉलर की संपत्ति है.

उनका मुख्य निवास स्थान एक झील के किनारे आलीशान बंगला है. रिपोर्ट्स के अनुसार, मेदिना में स्थित इस बंगले की क़ीमत क़रीब 127 मिलियन डॉलर है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)