अफगानिस्तान में आत्मघाती हमला, 14 की मौत

  • 1 अक्तूबर 2012
अफगानिस्तान में हमला
Image caption अफगानिस्तान में हिंसक वारदातें बढ़ रही हैं

अफगानिस्तान के खोस्त शहर में हुए एक आत्मघाती हमले में कम से 14 लोग मारे गए हैं जिनमें तीन नेटो सैनिक शामिल हैं.

नेटो का कहना है कि मारे गए लोगों में एक अफगान दुभाषिया भी शामिल है. हताहत सैनिकों की राष्ट्रीयता के बारे में अभी जानकारी नहीं मिल पाई है.

स्थानीय अफगान अधिकारियों का कहना है कि हमलावर ने सैनिकों का इंतजार किया और उनके वाहन के बाहर आने के बाद ही धमाका किया. इस हमले में कई पुलिसकर्मी घायल भी हुए हैं.

अधिकारियों का कहना है कि मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है. हमले में कुल मिलाकर 60 लोग घायल हुए हैं.

काबुल में बीबीसी संवाददाता क्विंटिन समरविले का कहना है कि जिस इलाके में ये धमाका हुआ, वहां अमरीकी सैनिक तैनात हैं. हालांकि आधिकारिक तौर पर मारे सैनिकों की राष्ट्रीयता के बारे में अभी कुछ नहीं कहा गया है.

गहरी नाराजगी

Image caption विदेशी सेनाएं 2014 के अंत तक अफगानिस्तान छोड़ देंगी

पूर्वी अफगानिस्तान के अन्य पूर्वी इलाकों की तरह खोस्त में नाटकीय रूप से हिंसा में वृद्धि हुई है. तालिबान से जुड़ा हक्कानी नेटवर्क इस इलाके में अक्सर हमले करता रहा है.

इन दिनों अफगानिस्तान में तैनात विदेशी सैनिकों पर अफगान सुरक्षा बल के सदस्यों के हमले भी बढ़े हैं जिनसे गठबंधन सेनाओं में भारी नाराजगी है.

अफगानिस्तान में अमरीकी सेनाओं के कमांडर जनरल जॉन एलन ने कहा है कि अमरीकी लोग अफगान अभियान के लिए अपना बहुत कुछ कुर्बान करने को तैयार हैं लेकिन अपनी हत्याएं कतई नहीं करवाना चाहेंगे.

अमरीकी टीवी चैनल सीबीएस के साथ बातचीत में उन्होंने कहा कि विदेशी सेनाओं पर अफगान सुरक्षा बलों के सदस्यों के हमलों की घटनाओं की गूंज अमरीका में हर तरफ सुनाई दे रही है.

लेकिन उन्होंने ये भी जोर देकर कहा कि ज्यादातर अफगान लोग अपने देश में पश्चिमी सेना की मौजूदगी का समर्थन करते हैं.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार