इसराइल में समय से पहले चुनावों की घोषणा

इसराइल के प्रधानमंत्री नेतान्याहू
Image caption बेन्यामिन नेतान्याहू अब भी इसराइल में काफी लोकप्रिय हैं

इसराइल के प्रधानमंत्री बेन्यामिन नेतान्याहू ने देश में समय से पहले आम चुनाव कराने की घोषणा की है, जो जनवरी में कराए जा सकते हैं.

इस तरह इसराइल में निर्धारित समय से नौ महीने पहले चुनाव होंगे. नेतान्याहू ने कहा कि 120 सदस्यों वाली क्नेसेट (इसराइली संसद) के लिए नए चुनाव ‘जल्द से जल्द’ कराए जाएंगे.

नेतान्याहू का दक्षिणपंथी गठबंधन 2009 से सत्ता में है. हालांकि इसराइल में वो अब भी काफी लोकप्रिय हैं लेकिन सालाना बजट पर वो अपने गठबंधन सहयोगियों के बीच सहमति कायम नहीं कर पाए हैं.

छोटी धार्मिक पार्टियां कल्याणकारी कार्यक्रमों और सरकार की ओर से दी जा रही सुविधाओं में कटौती की योजनाओं को मानने के लिए तैयार नहीं हैं.

‘गठबंधन में झगड़े बढ़े’

नेतान्याहू ने कहा कि उन्होंने समय से पहले चुनाव कराने का फैसला इसलिए किया क्योंकि गठबंधन के सहयोगियों में झगड़े बढ़ने लगे हैं. इसी के चलते 2013 के लिए ‘जिम्मेदार बजट’ को पारित नहीं कराया जा सका है.

बीबीसी के येरुशलम के संवाददाता वायरे डेविस का कहना है कि नेतान्याहू के सामने गठबंधन सहयोगियों को संभालने के अलावा और भी कई चुनौतियां हैं.

जहां एक तरफ फलीस्तीन के साथ शांति बातचीत खत्म होने का खतरा है, वहीं इसराइल को तय करना है कि ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर किस तरह का रुख अपनाया जाए.

वैसे नेतन्याहू की लोकप्रियता तो देखते हुए उम्मीद जताई जा रही है कि नए चुनावों में उनकी लिकुड पार्टी का प्रदर्शन बेहतर हो सकता है. पिछले चुनावों में लिकुड ने 27 सीटें जीती थीं. लेकिन बीबीसी संवाददाता का कहना है कि नए चुनावों के बाद भी इसराइल में गठबंधन सरकार बनने की ही संभावना है.

संबंधित समाचार