कंबोडिया के पूर्व राजा की मौत

 सोमवार, 15 अक्तूबर, 2012 को 08:18 IST तक के समाचार
नोरोदम सिंहानुक

नोरोदम सिंहानुक कंबोडिया की राजनीति में बहुत प्रभावशाली व्यक्ति थे.

कंबोडिया के पूर्व राजा नोरोदम सिंहानुक की 89 साल की उम्र में मौत हो गई है.

समाचार एजेंसी क्योडो न्यूज़ ने नोरोदम सिंहानुक के निजी सहायक के हवाले से कहा है कि उनकी मौत दिल के दौरे की वजह से हुई और वो बीजिंग के एक अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था.

सिंहानुक ने 1941 में सत्ता संभाली थी और मुल्क की साल 1953 में फ्रांस से आज़ादी उन्हीं के नेतृत्व की देन थी.

हालांकि उन्हें लंबे समय तक निर्वासन में रहना पड़ा फिर भी नागरिकों में वो बहुत आदरणीय थे.

कम उम्र में गद्दी

निजी सहायक ने कहा कि उनकी मौत सोमवार सुबह स्थानीय समय 2.25 के आसपास हुई.

सिंहानुक का जन्म 1922 में हुआ था और अपने पिता की सबसे बड़ी संतान थे. उनकी शिक्षा सैगोन और पेरिस में हुई थी.

उन्नीस सौ चालीस के दशक की तत्कालीन फ्रांस सरकार को लगा था कि उन्हें आसानी से क़ब्ज़े में रखा जा सकता है इसलिए उनके पिता की जगह उन्हें महज़ 18 साल की उम्र में गद्दी पर बैठा दिया गया.

लेकिन सत्ता संभालने के बाद सिंहानुक ने फ्रांस से आज़ादी के लिए विश्वव्यापी मुहिम शुरू कर दी जिसके नतीजे के तौर पर सौ सालों की ग़ुलामी के बाद एशियाई देश को स्वतंत्रता हासिल हुई.

शीत युद्ध

हालांकि सिंहानुक मुल्क को शीत युद्ध के प्रभाव से परे नहीं रख पाए और कुख्यात खमेर रूज को समर्थन की ग़लती कर बैठे, जिसके बारे में कहा जाता है कि उसने 10 लाख से अधिक लोगों की हत्या की थी.

कुछ लोग मौतों की तादाद को 25 लाख बताते हैं.

बाद में राजा ने कंबोडिया में हुई मौतों के लिए खमेर रूज की निंदा की. मारे जाने वाले में उनके बच्चे भी शामिल थी.

जब संयुक्त राष्ट्र की देख-रेख में वियतनाम कंबोडिया से वापस हुआ तो सिंहानुक राजा के तौर मुल्क वापस आ गए जिसके बाद उन्होंने मुल्क के विभिन्न राजनीतिक ताक़तों के बीच मध्यस्थ की भूमिका बखूबी निभाई.

हालांकि कुछ लोग उन्हें निरंकुश और ग़ुस्सैल बताते थे, कंबोडिया की जनता में उनका बहुत आदर था और लोग उन्हें पिता-तुल्य समझते थे.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.