ईरान से बातचीत की रिपोर्ट को अमरीका ने ख़ारिज किया

 रविवार, 21 अक्तूबर, 2012 को 16:52 IST तक के समाचार
ईरान परमाणु संयंत्र

परमाणु कार्यक्रम को लेकर पश्चिमी देश ईरान पर कई तरह के प्रतिबंध लगा चुके हैं

अमरीकी सरकार ने न्यूयॉर्क टाइम्स की उस रिपोर्ट का खंडन किया है जिसमें कहा गया था कि ईरान परमाणु कार्यक्रम मामले में अमरीका से सीधी बातचीत के लिए तैयार हो गया था.

रिपोर्ट में अधिकारियों के हवाले से उनका नाम ज़ाहिर किए बिना कहा गया था कि ईरान पहली बार बातचीत के लिए तैयार हो गया था लेकिन वो इसे राष्ट्रपति चुनाव के बाद छह नवंबर तक टालने के लिए तैयार नहीं था.

व्हाइट हाउस के मुताबिक़ ईरान के साथ द्विपक्षीय मुलाकात की तैयारी हो रही थी, लेकिन रिपोर्ट में जो बातें कही गई हैं, वैसा कुछ नहीं था.

पश्चिमी देशों का मानना है कि ईरान परमाणु हथियार बना रहा है, लेकिन ईरान इसका शुरू से ही खंडन करता रहा है.

अमरीका में राष्ट्रपति चुनाव के प्रचार अभियान के दौरान ईरान विदेश नीति का एक प्रमुख मुद्दा रहा है.

राष्ट्रपति बराक ओबामा और रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार मिट रोमनी सोमवार को तीसरे दौर की टेलीविजन पर बहस करेंगे जिसमें विदेश नीति प्रमुख मुद्दा होगा.

रिपोर्ट

"ये सच नहीं है कि ईरान और अमरीका राष्ट्रपति चुनाव के बाद आमने-सामने बातचीत अथवा किसी अन्य तरह की मुलाकात के लिए सहमत हुए थे. हम इस मुद्दे पर काम कर रहे हैं और जल्दी ही कोई कूटनीतिक हल निकलेगा."

टॉमी वाइटर, अमरीकी सुरक्षा परिषद के प्रवक्ता

न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट में कहा गया है कि ईरान आपसी बातचीत के लिए सैद्धांतिक रूप से सहमत हो गया था.

लेकिन अमरीकी राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के प्रवक्ता टॉमी वाइटर ने एक बयान में कहा, “ये सच नहीं है कि ईरान और अमरीका राष्ट्रपति चुनाव के बाद आमने-सामने बातचीत अथवा किसी अन्य तरह की मुलाक़ात के लिए सहमत हुए थे. हम इस मुद्दे पर काम कर रहे हैं और जल्दी ही कोई कूटनीतिक हल निकलेगा.”

इस मुद्दे पर ईरान के साथ वार्ताकार समूह की बातचीत फ़िलहाल रुकी हुई है. इस समूह में ब्रिटेन, अमरीका, फ्रांस, चीन, रूस और जर्मनी शामिल हैं.

परमाणु कार्यक्रम रोकने को दबाव बनाने के लिए पश्चिमी देशों ने ईरान पर कई प्रतिबंध लगाए हैं.

अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार मिट रोमनी ने बराक ओबामा पर ईरान के प्रति नरमी बरतने का आरोप लगाया है.

वहीं ओबामा फ़िलहाल इसराइल अथवा अमरीका की ओर से ईरान पर सैन्य कार्रवाई का विरोध कर रहे हैं लेकिन उनका कहना है कि वो ईरान को परमाणु बम बनाने से रोकने के लिए कटिबद्ध हैं.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.