ईशनिंदा: लाहौर के स्कूल में आगज़नी

 शुक्रवार, 2 नवंबर, 2012 को 02:19 IST तक के समाचार
स्कूल में तोड़फोड़ और आगजनी

पाकिस्तान में ईशनिंदा के आरोपों में हिंसा के कई मामले हाल में सामने आए हैं.

पाकिस्तान के शहर लाहौर में ईशनिंदा के आरोपों में एक स्कूल पर हुए हमले की जांच का आदेश दिया गया है.

हमले की ये घटना बुधवार की है जब सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने स्कूल में तोड़फोड़ और आगजनी की, क्योंकि कहा गया कि एक शिक्षक ने पैगम्बर मोहम्मद का अपमान किया है.

संबंधित शिक्षक तभी से कहीं छुपी हैं लेकिन पुलिस ने स्कूल के 77 वर्षीय प्रधानाचार्य को गिरफ्तार कर लिया है.

बीबीसी संवाददाता शाहज़ेब जिलानी के मुताबिक, फारूकी गर्ल्स स्कूल को लाहौर के उम्दा शैक्षणिक संस्थानों में गिना जाता है.

हमले के बारे में प्रधानाचार्य के बेटे समीर फारूकी बताते हैं, ''ये घटना स्कूल लगने के बाद के समय की है. ये हैरान करने वाली घटना है. हथियारबंद लोगों की भीड़ स्कूल में घुस आई जिसने तोड़फोड़ और आगजनी की.''

होमवर्क से शुरू हुआ विवाद

"ये घटना स्कूल लगने के बाद के समय की है. ये हैरान करने वाली घटना है. हथियारबंद लोगों की भीड़ स्कूल में घुस आई जिसने तोड़फोड़ और आगजनी की."

समीर फारूकी

फारूकी बताते हैं कि हिंसा की वजह ये थी कि एक महिला शिक्षक ने जो होमवर्क दिया था, उसमें कुछ गड़बड़ थी. शिक्षिका ने जल्दबाजी में एक पुस्तक से इस्लाम से जुड़ी बातें उतारते समय कुछ गलत लिख दिया था जिसे ईद की छुट्टियों के दौरान बच्चों को होमवर्क के लिए दिया गया था.

प्रधानाचार्य की ओर से अदालत में पेश हुए वकील जवाद अशरफ़ के अनुसार, "इस विवाद से जुड़ी अध्यापिका अरफ़ा इफ़्तिख़ार ने किताब से देखकर लिखते समय ग़लती से एक पन्ना ज़्यादा उलट दिया, जिसकी वजह से अगले पन्ने की चीज़ें उनकी लिखाई में आ गईं. वो पन्ना भिखारियों से जुड़ा था."

स्कूल प्रशासन का कहना है कि कुछ माता-पिता ने ईशनिंदा की शिकायत की तो उन्होंने संबंधित शिक्षिका को ईद की छुट्टियों के बाद पहले ही दिन नौकरी से हटा भी दिया.

लेकिन संवाददाताओं के अनुसार जैसा कि पाकिस्तान में अक्सर होता है, कुछ इस्लामी समूह इससे संतुष्ट नहीं हुए. अधिकारियों का कहना है कि उन्होंने इस पूरे मामले की जांच के लिए एक समिति बनाई है जिसमें मौलवी और स्थानीय नेता भी शामिल हैं जो इन आरोपों की जांच करेगी.

अधिकारियों का कहना है कि इस मामले में यदि स्कूल की भूमिका गड़बड़ नहीं पाई गई तो उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी जिन्होंने स्कूल में तोड़फोड़ और आगजनी की है.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.