मिस्र:मुर्सी ने नए अधिकारों का बचाव किया

 शुक्रवार, 23 नवंबर, 2012 को 23:50 IST तक के समाचार

मोहम्मद मोर्सी की घोषणा के बाद राष्ट्रपति के फैसलों को चुनौती नही दी जा सकेगी.

मिस्र के राष्ट्रपति मोहम्मद मुर्सी ने काहिरा में अपने समर्थकों की एक विशाल रैली को संबोधित करते हुए अपने नए अधिकारों का बचाव किया है.

एक दिन पहले ही मुर्सी ने नए संवैधानिक आदेश जारी करके असीमित शक्तियाँ हासिल कर ली थी.

नए आदेश के तहत अब कोई भी मुर्सी के बनाए हुए कानूनों, फैसलों और जारी आदेशों को चुनौती नहीं दे सकेगा.

काहिरा के तहरीर चौराहे पर हज़ारो की तादाद में मौजूद समर्थकों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि वो मिस्र को स्वतंत्रता और लोकतंत्र के रास्ते पर ले जा रहे हैं.

नए अधिकारों का बचाव

"मैं सभी मिस्र वासियो का हूँ, मैं मिस्र के किसी भी बेटे के प्रति लिए पक्षपाती सोच नही रखता. मैं विपक्ष के भाईयों के अधिकारों की रक्षा किए जाने की गारंटी लेता हूँ ताकि वो अपनी भूमिका सही तरीके से निभा सकें."

मोहम्मद मुर्सी

काहिरा में राष्ट्रपति मुर्सी के समर्थक उनके राष्ट्रपति भवन के सामने जमा हो गए और उनके पक्ष में नारे लगाने लगे. बाद में राष्ट्रपति मुर्सी ने अपने समर्थकों से कहा कि वो राजनीतिक, आर्थिक और सामाजिक स्थिरता के रक्षक हैं.

मोहम्मद मुर्सी ने कहा कि वो मिस्र को मजबूत और स्थिर देश बनाने के लिए मेहनत कर रहे हैं.

मुर्सी ने कहा, “ मैं सभी मिस्र वासियो का हूँ, मैं मिस्र के किसी भी बेटे के प्रति लिए पक्षपाती सोच नही रखता.”

उन्होंने कहा कि वो विपक्ष के भाईयों के अधिकारों की रक्षा किए जाने की गारंटी लेते हैं, ताकि वो अपनी भूमिका सही तरीके से निभा सकें.

लेकिन जिस समय मुर्सी तहरीर चौक पर अपने समर्थकों को संबोधित कर रहे थे, उसी वक्त मुर्सी के विरोधी काहिरा की अलग- अलग जगहों पर मुर्सी की असीमित शक्तियों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे.

मुर्सी का विरोध

विरोधी कार्यकर्ताओं ने कई जगह मुस्लिम ब्रदरहुड के कार्यालयों को निशाना बनाया .

राष्ट्रपति के पक्ष में और विरोध में काहिरा में जुलूस निकाले गए

मुर्सी के विरोध में कई जगह प्रदर्शन भी हुए

नए आदेश के बाद मोहम्मद मुर्सी की सत्ता पर पकड़ और मजबूत हो गई है.

नए आदेश में ये भी कहा गया है कि कोई भी अदालत नए संविधान का निर्माण कर रही संविधान सभा को भंग नही कर पाएगी. साथ ही कोई भी संस्थान उनके फैसलों पर आपत्ति नहीं कर पाएगा.

राष्ट्रपति मुर्सी ने देश के मुख्य अभियोजक को भी पद से हटा दिया था. तलत इब्राहीम को अब्देल महमूद की जगह मुख्य अभियोजक नियुक्त किया गया है.

प्रमुख विपक्षी नेता मोहम्मद अल बारादेई ने मोहम्मद मुर्सी पर फेराओ की तरह काम करने का आरोप लगाया है. बारादेई का कहना है कि मुर्सी ने सारी शक्तियां अपने हाथों में ले ली हैं और खुद को मिस्र के नए फेराओ(शहंशाह) के रुप में स्थापित कर दिया है.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.