फैक्ट्री की आग के बाद जली हुई लाशों के ढेर

 रविवार, 25 नवंबर, 2012 को 16:08 IST तक के समाचार

बचाव दल रविवार सुबह कारख़ाने में घुस पाने में सफल हो पाया.

बांग्लादेश के एक कपड़ा कारख़ाना में आग लगने से कम से कम 100 लोगों की मौत हो गई है.

अधिकारियों का कहना है कि राजधानी ढाका के बाहर मौजूद तज़रीन फ़ैशन फ़ैक्ट्री के नौ मंज़िला इमारत में शनिवार को आग लग गई थी.

आग से ख़ौफ़ज़दा कुछ कामगारों ने नौ मंज़िला ऊंची इमारत से नीचे छलांग लगाने की कोशिश की जिसमें उन्हें गंभीर चोटें आईं और उनकी मौत हो गई.

अभी तक इस बात का पता नहीं चला है कि आग कैसे लगी, हालांकि कुछ लोगों ने कहा है कि वो दूसरी मंज़िल से शुरू हुई थी. समझा जाता है कि इसकी वजह से ऊपर की मंज़िलों के लोग भवन में फंस गए थे.

क्लिक करें तस्वीरें देखने के लिए क्लिक करें

पहले इस तरह की ख़बरें आ रही थीं कि दुर्घटना में आठ लोगों की मौत हुई है. लेकिन दुर्घटना से हुए जानमाल का अंदाज़ा तब हुआ जब बचाव दल के लोग भवन के भीतर घुस पाए.

तलाशी का काम

बांग्लादेश आग

आग की वजह फ़िलहाल शार्ट सर्किट बताया जा रहा है.

समाचार एजेंसी एएफपी ने अग्निशामक दल के मुखिया ब्रिगेडियर जनरल अबु मोहम्मद शहीदुल्लाह के हवाले से कहा है, "हमने तलाश का काम आज सुबह शुरू किया और देखा कि कारख़ाने की अलग-अलग मंजि़लों पर शव पडे़ हुए हैं."

अग्निशामक दल को आग पर क़ाबू पाने में तक़रीबन पांच घंटे लगे.

हालांकि अभी फ़ैक्ट्री में आग लगने की सही वजह सामने नहीं आ पाई है लेकिन कहा जा रहा है कि ये शायद शार्ट सर्किट की वजह से हुआ हो.

बांग्लादेश की कपड़ा फ़ैक्ट्रियों में अकसर बड़ी आग लगती रहती हैं.

इसकी वजह सुरक्षा के उपायों की कमी, बिजली की सस्ती वायरिंग और भवनों में क्षमता से अधिक भीड़ बताई जाती है.

दिसंबर 2010 में इसी इलाक़े के एक कपड़ा कारख़ाने में आग लगने से 25 लोगों की मौत हो गई थी. बाद में पता चला कि इसकी वजह शार्ट सर्किट थी.

बांग्लादेश में कपड़े के 4500 कारख़ाने हैं जिसमें 20 लाख लोग काम करते हैं.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.