एक सिगरेट भी बन सकती है मौत का सबब

 शनिवार, 15 दिसंबर, 2012 को 13:18 IST तक के समाचार
महिला

कई महिलाएं दिन में एक या दो बार सिगरेट पीने की आदी होती हैं

अगर आप महिला हैं और कभी-कभार या दिन में एकाध बार ही सिगरेट पीती हैं तो सावधान हो जाइए क्योंकि आपको हार्ट-अटैक होने का ख़तरा दुगुना है. ये जानकारी एक नए शोध में सामने आई है.

इस शोध के दौरान अमरीका में तीन दशकों के भीतर एक लाख से ज्यादा नर्सों के स्वास्थ्य पर नज़र रखी गई थी.

शोध के दौरान ये पाया गया कि जो महिलाएं कभी-कभार या काफी कम मात्रा में सिगरेट पीती हैं, उनकी हृदय संबंधी समस्याओं के कारण मौत होने की संभावना उन महिलाओं से दुगुनी हैं जिन्होंने कभी सिगरेट नहीं पी है.

लेकिन अमरीकन हार्ट एसोसिएशन में छपी रिपोर्ट के अनुसार जिन महिलाओं ने सिगरेट पीना छोड़ दिया है, उन्हें ऐसा होने का ख़तरा धीरे-धीरे कम होता जाता है.

बढ़ता ख़तरा

"इस शोध के ज़रिए हमें ये पता चलाता है कि महिलाओं के लिए सिगरेट छोड़ना कितना ज़रुरी है. इसका फायदा सभी महिलाओं को होता है, उनको भी जो लंबे समय से हृदय रोग से पीड़ित हैं"

डॉ रुपिंदर कौर संधु, शोध करने वाली डॉक्टर

इस शोध के दौरान हार्ट अटैक के 315 मामले सामने आए.

35 साल से कम उम्र के लोगों में ऐसा आनुवांशिक कारणों से भी हो सकता है.

लेकिन जिन लोगों की उम्र इससे ज्य़ादा होती है, जैसा इस शोध में शामिल ज्यादातर नर्सों के साथ हुआ, इन सबकी उम्र 35 से ज्यादा थी. ये इनमें हृदय संबंधी समस्याओं के शुरू होने के लक्षण थे.

कोरोनरी दिक्कतों के दौरान हमारे दिल की धमनियों में वसा जम जाती है जिस कारण वो जाम हो जाती हैं.

शोध के दौरान जो 315 मौतों हुईं थी, उनमें से 75 ऐसे लोग थे जो शोध के दौरान भी सिगरेट पीने के आदी थे, 148 लोग ऐसे थे जिन्होंने हाल-फिलहाल या कुछ समय पहले तक सिगरेट पी थी और 128 लोग ऐसे थे जिन्होंने कभी सिगरेट नहीं पी थी.

क्यों छोड़ें सिगरेट

सिगरेट शराब

नए साल के मौके पर ज्यादा से ज्य़ादा महिलाओं को सिगरेट से तौबा करने की अपील

हाई ब्लडप्रेशर, हाई कोलोस्ट्रॉल और हदय रोग से जुड़े पारिवारिक इतिहास जैसे सभी ख़तरों को जानने के बाद शोध करने वाली डॉ रुपिंदर संधु और उनकी सहयोगियों के अनुसार, ''जो महिलाएं रोज़ाना कुछ सिगरेट पीतीं हैं, उनके अचानक हार्ट अटैक से मरने की आशंका दुगुनी होती है.''

अगर कोई महिला लगातार पांच सालों तक सिगरेट पीतीं हैं तो उनके मरने का ख़तरा आठ प्रतिशत तक बढ़ जाता है.

लेकिन जो महिलाएं सिगरेट पीना छोड़ देती हैं, उनके साथ ऐसा होने का ख़तरा धीरे-धीरे काफी कम हो जाता है.

कनाडा स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ अलबर्टा की डॉक्टर संधु के अनुसार, ''इस शोध के ज़रिए हमें ये पता चलाता है कि महिलाओं के लिए सिगरेट छोड़ना कितना ज़रूरी है. इसका फायदा सभी महिलाओं को होता है, उनको भी जो लंबे समय से हृदय रोग से पीड़ित हैं.''

वे कहती हैं, ''सिगरेट पूरी तरह से छोड़ना मुश्किल हो सकता है और इसे एक बार में पूरा नहीं किया जा सकता, लेकिन इसे एक लंबे समय तक चलने वाले उद्देश्य के रूप में देखना चाहिए.''

ब्रिटिश हार्ट फाउंडेशन की सीनियर कार्डिएक नर्स ऐलन मैसन कहती हैं, ''इस अध्ययन के अनुसार दिन में एक-दो सिगरेट पीना भी आपके स्वास्थ्य पर बुरा असर डाल सकता है.''

इसलिए नए साल के मौके पर हर बार नई कसम खाने वाले ज्य़ादा से ज़्यादा लोगों को सिगरेट छोड़ेने का प्रण करना चाहिए, क्योंकि अपने बेहतर स्वास्थ्य और भविष्य के लिए आप इससे अच्छा और कुछ नहीं कर सकते हैं.

लांसेट जर्रल में हाल ही में किए गए एक अध्ययन में ये पाया गया था कि जिन महिलाओं ने 30 साल की उम्र तक पहुंचने से पहले सिगरेट पीना पूरी तरह से छोड़ दिया है, उनके तंबाकू संबंधी बीमारियों से मरने की आशंका बिल्कुल खत्म हो जाती है.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.