अमरीका:गए थे आग बुझाने, पर मिली बंदूक की गोली

  • 25 दिसंबर 2012
Image caption दमकल कर्मी जब आग बुझाने पहुंचे तो उन पर गोलियां चलीं.

अमरीका के न्यूयॉर्क राज्य के वेबस्टर शहर में आपातकालीन सेवा पर पहुंचे अग्निशमन दल के दो कर्मियों को गोली मार दी गई, जिससे उनकी मौत हो गई.

बताया जा रहा है कि सोमवार सुबह आपात सूचना मिलने पर जब चार दमकल कर्मी आग पर काबू करने के लिए घटनास्थल पर पहुंचे तो उन पर गोलियाँ चली.

ये आग स्थानिय समय के अनुसार सुबह छह बजे लगी और गोली चलने की घटना के चलते कई घंटों तक उस पर काबू नही पाया जा सका.

स्थानिय पुलिस का कहना है एक घटनास्थल पर एक बंदूकधारी का शव मिला है.

बंदूकधारी का शव

वेबस्टर के अग्निशमन अधिकारी रॉब बॉउटलियर ने संवाददाताओं से कहा कि सूचना मिलने पर कंपनी के साथ कुछ दमकल कर्मी निजी वाहन से भी घटना स्थल पर पहुंच ही रहे थे कि अज्ञात जगह से उन पर गोलियाँ चलीं.

वेबस्टर के पुलिस प्रमुख गेराल्ड पिकरिंग ने बताया कि इस घटना में दो लोग घायल भी हैं और उनका इलाज किया जा रहा है.

शूटिंग की घटना के बाद पुलिस दल ने स्थानिय लोगों से इलाका खाली करने को कहा.

इसके बाद ही दमकल कर्मी आग पर काबू पाने की कोशिश करने लगे.

न्यूयॉर्क के गवर्नर एंड्रयू क्यूमो ने अपने बयान में कहा है,"हमारी संवेदना और प्रार्थना उन लोगों के परिवारों और मित्रों के साथ हैं जो इस हिंसक घटना में मारे गए है."

न्यूयॉर्क के अटॉर्नी जनरल एरिक शेल्डरमेन ने कहा," इस घटना की जांच की जाएगी और हमें कानून को लागू करने वाले अपने सहयोगियों के साथ मिलकर इस बात को सुनिश्चित करना है कि घातक हथियार के खतरनाक लोगों के हाथों में न पड़ें, ताकि न्यूयार्क के वो बहादुर लोग जो हमारी रक्षा के लिए हर दिन अपनी जान जोखिम में डालते हैं उन्हें अतिरिक्त खतरे का सामना न करना पड़े.

हथियारों पर बहस

चंद रोज पहले ही अमरीका के कनैक्टिकट के सैंडी हुक स्कूल में गोली बारी की घटना में 20 बच्चों समेत छह वयस्क मारे गए थे.

इस घटना ने एक बार फिर अमरीका में उस बहस को तेज़ कर दिया कि हथियारों पर कैसे काबू पाया जाए.

कुछ दिन पहले ही अमरीका की राष्ट्रीय राइफ़ल एसोसिएशन यानी एनआरए का कहा था कि स्कूलों में सुरक्षा बढ़ाने के लिए बंदूकधारी सुरक्षा गार्डों की ज़रूरत है न कि बंदूंकों पर लगाम लगाने की.

राष्ट्रीय राइफ़ल एसोसिएशन के सीइओ वेन लापिएर का कहना था, "सिर्फ़ एक ही चीज़ है जो बुरे बंदूकधारियों को रोक सकती है और वह है अच्छे बंदूकधारी."

पर अमरीकी राषट्रपति बराक ओबामा ने एक विडियो बयान जारी कर बंदूकों पर पाबंदी लगाने की बात फिर दोहराई है.

उन्होंने कहा कि बहुत से अमरीकी बंदूकों पर सख़्त कानून बनाने की हिमायत कर रहे हैं.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार