बर्लुस्कोनी के सेक्स मुकदमे पर रोक से इंकार

 मंगलवार, 15 जनवरी, 2013 को 02:51 IST तक के समाचार

अगर बर्लुस्कोनी दोषी पाए जाते हैं तो उन्हें 15 साल की कैद हो सकती है

इटली की एक अदालत ने पूर्व प्रधानमंत्री सिलवियो बर्लुस्कोनी के उस मुकदमे को रोकने के अनुरोध को मानने से इंकार कर दिया है जिसमें उन पर एक कम उम्र की वैश्या के साथ यौन संबंध बनाने के लिए मुकदमा चल रहा है.

मिलान की इस अदालत ने यह भी तय किया है कि संबंधित महिला नर्तकी करीमा एल महरूग को गवाही देने की जरूरत नहीं है.

बर्लुस्कोनी के वकीलों का अनुरोध था कि बर्लुस्कोनी के चुनाव प्रचार में हिस्सा लेने के कारण इस मुकदमें को रोक दिया जाए. बर्लुस्कोनी और महरूग जिन्हें ’रूबी हार्टस्टीलर’ के नाम से बेहतर जाना जाता है, इस बात का खंडन करते रहे हैं कि उन्होंने कभी भी यौन संबंध बनाए हैं.

बर्लुस्कोनी ने नवंबर 2011 में प्रधानमंत्री पद से इस्तीफ़ा दे दिया था और उनके स्थान पर मारियो मोन्टी को प्रधानमंत्री बनाया गया था.

फिर प्रधानमंत्री बनने पर शक

उनकी पीपुल ऑफ़ फ़्रीडम पार्टी एक गठबंधन सरकार बनाने की उम्मीद कर रही है लेकिन उसने अभी तक अपना प्रधानमंत्री उम्मीदवार घोषित नहीं किया है.

सात जनवरी को उनके एक सहयोगी ने कहा था कि अगर अगले महीने उनकी पार्टी चुनाव जीत भी जाती है तब भी बर्लुस्कोनी प्रधानमंत्री के रूप में वापस नहीं लौटेंगे.

हांलाकि बर्लुस्कोनी ने अपने प्रधानमंत्री बनने की संभावनाओं को यह कह कर खुद ख़ारिज नहीं किया है कि ‘ अगर हम जीतते हैं, उसके बाद ही इस पद के उम्मीदवार के बारे में फैसला लिया जाएगा.’

बर्लुस्कोनी के वकील का कहना था कि वह चुनाव प्रचार में खासे व्यस्त रहेंगे, इसलिए अदालत की कार्रवाही में उनके लिए भाग लेना संभव नहीं हो पाएगा. उन्हें इस बात का भी डर है कि मुकदमे के जारी रहने से उनके चुनाव पर असर पड़ेगा.

लेकिन अदालत ने उनके इस अनुरोध को ठुकरा दिया. अभियोग पक्ष के वकीलों ने बचाव पक्ष पर मुकदमे को लंबा खींचने और देरी करने का आरोप लगाया है, ताकि फ़रवरी में होने वाले चुनाव से पहले फ़ैसला न आ पाए.

छेयत्तर वर्षीय बर्लुस्कोनी पर 2010 में महरूग के साथ सेक्स करने के लिए धन देने का आरोप है जब वह मात्र 17 साल की थीं. इटली में 18 वर्ष से कम उम्र की वैश्या के साथ सेक्स करना अपराध माना जाता है.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.