नाइटक्लब हादसा: ब्राज़ील में शोक की लहर

 सोमवार, 28 जनवरी, 2013 को 16:54 IST तक के समाचार

नाइटक्लब में लगी आग में 231 लोगों की मौत हो गई थी.

ब्राज़ील के दक्षिणी सांता मारिया शहर के एक नाइटक्लब में रविवार को हुए हादसे के बाद देश की सरकार ने तीन दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा की है. नाइट क्लब में लगी आग में 231 लोग मारे गए थे.

'किस' नाइटक्लब में आग उस समय लगी जब म्यूज़िकल बैंड के एक सदस्य ने स्टेज पर आग की लपट को हवा दी.

अधिकारियों का कहना है कि दुर्घटना के शिकार हुए ज़्यादातर लोग छात्र थे जिनकी मौत दम घुटने से हुई.

मृतकों में से कुछ का अंतिम संस्कार सोमवार को होने की उम्मीद है.

पिछले पांच दशक में ब्राज़ील में लगी आग की ये सबसे भयंकर घटना है.

साओ पाउलो में मौजूद बीबीसी संवाददाता गैरी डफ़ी का कहना है कि इस घटना को लेकर पूरा देश शोक संतप्त है.

'भयावह त्रासदी'

"ये हम सभी के लिए एक भयावह त्रासदी है"

डिलमा रॉसेफ़, ब्राज़ील की राष्ट्रपति

2014 में ब्राज़ील में होनेवाले विश्वकप फुटबॉल को 500 दिन बचे हैं और इस उपलक्ष्य में सोमवार को राजधानी ब्राज़ीलिया में एक समारोह का आयोजन होना था, जिसे हादसे के बाद स्थगित कर दिया गया है.

हादसे के शहर सांता मारिया में 30 दिन के शोक की घोषणा की गई है.

देश की राष्ट्रपति डिलमा रॉसेफ़ चिली की अपनी यात्रा बीच में छोड़कर स्वदेश लौटी हैं और उन्होंने अपनी सरकार के मंत्रियों के साथ दुर्घटना में प्रभावित हुए लोगों से शहर के कैरीडेड अस्पताल में मुलाक़ात की है.

दम घुटने से बीमार हुए 100 से ज़्यादा लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है.

उन्होंने इस घटना पर शोक जताते हुए कहा, "ये हम सभी के लिए एक भयावह त्रासदी है."

अधिकारियों ने मृतकों की संख्या में संशोधन करने के बाद सभी 231 लोगों के नाम जारी कर दिए हैं.

अधिकारी दुर्घटना के कारणों की जांच कर रहे हैं. इसके साथ ही इस दावे की जांच भी की जा रही है कि नाइटक्लब से बाहर निकलने का केवल एक रास्ता था और वहां फंसे लोग बाहर नहीं निकल सके.

'गहरा काला धुआं'

अपनी चिली की यात्रा बीच में छोड़कर स्वदेश लौटी राष्ट्रपति रॉसेफ ने पीड़ित परिवारों से मुलाकात की है.

एक स्थानीय अख़बार के अनुसार घटना उस समय हुए जब सांता मारिया शहर की एक यूनिवर्सिटी के छात्र नवागंतुकों के स्वागत का जश्न मना रहे थे.

एक स्थानीय पत्रकार मार्सेलो गॉन्ज़ैटो ने बीबीसी को बताया कि आग तेज़ी से भड़क उठी और फैल गई और फिर गहरा काला धुआं फैल गया.

उन्होंने कहा, "कई लोग बाहर नहीं निकल सके और दम घुटने से मर गए न कि आग से."

एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि कई लोग क्लब के टॉयलेट में फंस गए. शायद उन्हें लगा कि वो बाहर निकलने का रास्ता हो.

जीवित बचे कुछ लोगों और पुलिस इंसपेक्टर मार्सेलो अरिगोनी ने कहा कि नाइटक्लब के सुरक्षागार्ड ने भी शुरुआत में लोगों को बाहर निकलने से रोका.

ब्राज़ील में चलने वाले बार सामान्यत: अपने ग्राहकों को बाहर जाने देने से पहले पूरे पैसे वसूल लेते हैं.

लापरवाही

रविवार को सांता मारिया शहर के इसी 'किस' नाइटक्लब में आग लग गई थी.

इस नाइटक्लब के एक मालिक के हवाले से ख़बर मिली है कि क्लब के लाइसेंस की मियाद ख़त्म हो गई थी और आग से सुरक्षा के प्रमाणपत्र की समय-सीमा भी पिछले साल ही समाप्त हो गई थी.

नाइटक्लब में गिटार बजा रहे रॉडरिगो मार्टिन्स ने एक स्थानीय रेडियो को बताया है कि,"आग शायद लपटें उठानेवाली मशीन स्पूतनिक की वजह से लगी. हम हमेशा इसका इस्तेमाल करते रहे हैं, कभी कोई हादसा नहीं हुआ. जब आग लगी तो एक गार्ड ने आग बुझाने का यंत्र भी दिया और गायक ने उसका इस्तेमाल करने की कोशिश की लेकिन मशीन ने काम नहीं किया."

उन्होंने बताया कि हादसे में बैंड के एकॉर्डियन वादक की भी मौत हो गई है.

ब्राज़ील के प्रसारक ग्लोबो के मुताबिक मरनेवाले ज्यादातर लोग 16 से 20 की उम्र के थे.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.