ओबामा के भाषण में अर्थव्यवस्था पर ज़ोर

अमरीका के राष्ट्रपति ने अपने भाषण में कहा है कि सरकार देश में विकास को फिर से बल देने के लिए पूरा ज़ोर लगाएगी.

दोबारा राष्ट्रपति बनने के बाद वे अपना पहला स्टेट ऑफ यूनियन भाषण दे रहे हैं. उन्होंने अमरीकी अर्थव्यवस्था और नौकरी के अवसर पैदा करने पर ज़ोर दिया.

माना जा रहा है कि राष्ट्रपति अपने भाषण अफगानिस्तान में तैनात अमरीकी सैनिकों की संख्या एक साल में आधी करने की घोषणा करेंगे. इस घोषणा पर सबकी नज़रें लगी हुई हैं.

इस साल जनवरी में ओबामा और अफ़गानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करज़ई ने समझौता किया था कि लड़ाई के अभियान का जिम्मा अफ़ग़ान सैनिकों को सौंपा जाएगा.

इससे पहले व्हाईट हाउस ने इशारा किया था कि वो कम से कम 900 सैनिकों को अफ़ग़ानिस्तान में रहने देना चाहेगा.

लेकिन अधिकारियों का ये भी कहना है कि वो एक बी सैनिका वहां न छोड़ने पर बी चर्चा करेंगे.

वर्ष 2010 में अफ़गानिस्तान में एक लाख अमरीकी सैनिक थे जो अब तक की सबसे बड़ी संख्या थी.

संवाददाताओं का कहना है कि राष्ट्रपति लोकप्रिय हैं लेकिन अपनी योजनाओं को आगे बढाने के लिए उन्हें काफी काम करना होगा.

2014 में मध्यावधि चुनाव हैं और आमतौर पर सत्ताधारी पार्टी की अकसर कांग्रेस में सीटें कम हो जाती हैं.

संबंधित समाचार