सार्वजनिक जगहों पर पेशाब किया तो हज़ारों का जुर्माना

पेशाब करना
Image caption खुले में पेशाब करना या थूकना पूरी दुनिया में एक आम समस्या है

क्या आप भी अपने आस-पास रह रहे लोगों के सार्वजनिक जगहों पर थूकने या पेशाब करने की आदत से परेशान हैं.

भारत में तो ये नज़ारे आम सी बात है. रेलवे स्टेशनों, सरकारी दफतरों सब जगह आपको लोग थूकते हुए मिल जाएँगे. सड़कों किनारे खुले में पेशाब करते लोग भी हमेशा दिख जाएँगे.

लेकिन ऐसा नहीं है कि इस समस्या से सिर्फ भारतीय या एशियाई देश ही पीड़ित हैं.

अन्य देशों में भी ये समस्या काफी है.शायद इसीलिए लंदन की एक समिति ने सार्वजनिक जगहों पर थूकने या पेशाब करने वालों के लिए ऑन द स्पॉट यानि उसी जगह पर सज़ा देने का फैसला किया है.

वॉल्टहैम फॉरेस्ट ने कहा है कि उनके अधिकारी अब ऐसे लोगों को ठीक वैसी ही सज़ा देंगे जैसा वो सार्वजनिक जगहों पर कूड़ा-करकट फेंकने वालों को देते हैं.

जो लोग ऐसा करते हुए पाए जाएंगे उनपर 80 पाउंड का जुर्माना लगेगा यानि करीब छह से सात हज़ार रुपए.

इलाके के काउंसिलर क्लायड लोक्स के मुताबिक उन्होंने ये नियम स्थानीय लोगों की शिकायत के बाद लागू किया है.

पिछले साल ही लंदन की एनफील्ड काउंसिल ने इस समस्या से निपटने के लिए एक नई योजना की घोषणा की थी, लेकिन उस योजना को अब तक सरकार से मंज़ूरी नहीं मिली है.

पर्यावरण अपराध

वॉल्टहैम फॉरेस्ट का दावा है कि प्रशासन को इसके खिलाफ़ सख्त़ कार्रवाई करने और कानून लाने के लिए तैयार करने में उन्हें काफी मेहनत करनी पड़ी.

इसके लिए सबसे पहले उन्होंने सार्वजनिक जगहों पर थूक फेंकने और पेशाब करने को 'कूड़ा' फेंकने की श्रेणी का अपराध साबित करना पड़ा.

उनका ये कदम पर्यावरण की रक्षा के लिए चलाए जा रहे 'वाइप इट आउट' अभियान का हिस्सा था.

परेशानी सिर्फ थूकने से नहीं बल्कि खुले में पेशाब करने से भी है.

संबंधित समाचार