पद छोड़ने के बाद एकांत में रहेंगे पोप!

  • 14 फरवरी 2013
पोप
Image caption पोप बेनेडिक्ट ने पद छोड़ने का कारण उम्र और खराब सेहत को बताया था.

रोमन कैथोलिक चर्च के प्रमुख पोप बेनेडिक्ट सोलहवें ने संकेत दिए है वे इस महीने के अंत में अपना पद छोड़ने के बाद एकांत में जीवन बिताना चाहते हैं.

रोमन पादरियों की एक बैठक में उन्होंने कहा, "हालांकि मैं अपना पद छोड़ रहा हूं लेकिन फिर भी आपके करीब रहूंगा... चाहे मैं दुनिया से छिप कर ही क्यों न रहूं."

उन्हें 78 वर्ष की उम्र में पोप चुना गया था और अब उनकी उम्र 85 साल की है. जब सोमवार को उन्होंने अपना पद छोड़ने की घोषणा की तो दुनिया भर को बड़ा आश्चर्य हुआ.

उन्होंने पद छोड़ने का कारण बढ़ती उम्र और खराब होती सेहत को बताया था.

वेटिकन में मौजूद बीबीसी के संवाददाता एलेन जॉनस्टन का कहना है कि पोप पूरी तरह से सार्वजनिक जीवन से दूर जाने की योजना बना रहे हैं.

विदाई

हालांकि उम्मीद की जा रही है कि वो पद छोड़ने के बाद अपना जीवन वेटिकन के मठ में बिताएंगे और इस बात को लेकर अटकलें लगाई जा रही हैं कि नए पोप के साथ उनके संबंध किस तरह के रहेंगे.

माना जा रहा है कि नए पोप का चुनाव ईस्टर से पहले हो जाएगा. ईस्टर इस साल 31 मार्च को मनाया जाएगा.

बीबीसी संवाददाता के अनुसार पोप बेनेडिक्ट ने एकांत में जाने की बात वेटीकन में सैकड़ो संख्या में जुटे पादरियों के समक्ष कही. इस टिप्पणी को उनके विदाई भाषण के तौर पर देखा जा रहा है.

उनका कहना था, "चर्च के नवीनीकरण के लिए काम करना होगा."

2005 के अप्रैल महीने में पोप जॉन पॉल द्वितीय के निधन के बाद कार्डिनल योसेफ रात्सिंगर पोप बेनेडिक्ट सोलहवें बने थे.

पोप बेनेडिक्ट के कार्यकाल में दशकों में पहली बार चर्च के पादरियों पर बाल यौन उत्पीड़न के संगीन आरोप लगे थे.

संबंधित समाचार