पूर्व पोप ने कहा वो अब एक तीर्थयात्री हैं

  • 1 मार्च 2013
पोप
Image caption पोप ने कहा कि अब वो एक तीर्थयात्री हैं

पोप बेनेडिक्ट सोलहवें ने गुरुवार को आधिकारिकतौर पर अपना पद छोड़ दिया है. जब तक नए पोप का चुनाव नहीं हो जाता तब तक पोप की जिम्मेदारी कॉलिज ऑफ़ कार्डिनल के प्रमुख टारसिसीओ बरटोन निभाएंगे.

अगले महीने नए पोप का चुनाव किया जाएगा तब तक कार्डिनल टारसिसीओ बरटोन दुनिया के करीब 120 करोड़ रोमन कैथोलिक लोगों के धर्मगुरु कहलाएंगे.

इससे पहले 85 वर्षीय पोप को हेलिकॉप्टर के जरिए रोम के नज़दीक स्थित कासल गैंडोल्फ ले जाया गया था. ये पोप का गर्मियों में रहने का स्थान है.

जैसे ही पोप हेलिकॉप्टर में सवार हुए को चर्च में घंटिया बजने लगी.

पोप ने पद छोड़ने के बाद कहा कि 'अब वे केवल एक तीर्थयात्री' हैं.

कासल गैंडोल्फ पहुंचकर पोप ने लोगों की भीड़ का अभिवादन किया और दोस्ती के लिए धन्यवाद किया.

तीर्थयात्री

उन्होंने कहा, ''मैं अब एक तीर्थयात्री हूं जो इस पृथ्वी पर अपने आखिरी चरण की तीर्थयात्रा शुरु कर रहा है.''

पोप के अब प्रशासनिक अधिकार नहीं होंगे और वो परंपरागत लाल जूते और गोल्ड फिशमैन रिंग को भी छोड़ देंगे.

ये माना जा रहा है कि सोमवार को वेटीकन में 115 कार्डिनल की बैठक होगी जिसमें नए पोप के चुनाव को लेकर योजना बनाई जाएगी.

ट्विटर पर दिए गए अपने अंतिम संदेश में पोप ने अपने श्रद्धालुओं का प्यार और समर्थन देने के लिए धन्यवाद किया.

दर्जनों कार्डिनल के साथ हुई अपनी अंतिम बैठक में पोप ने उन्हें आश्वासन दिलाया कि वो नए उत्तराधिकारी का आदर और पालन करेंगे.

पोप का पद छोड़ने के बाद बेनेडिक्ट सोहलवें 'अवकाशप्राप्त पोप' कहलाएंगे. उनकी 'हिज़ होलीनेस' की पदवी बरकरार रहेगी.

वो अपने मूल नाम योसेफ रात्सिंगर के बजाय बेनेडिक्ट सोलहवें के नाम से ही जाने जाएंगे.

पोप बेनेडिक्ट सोहलवें 1415 में ग्रेगोरी बारहवें के बाद पद छोड़ने वाले पहले पोप हैं.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार