परमाणु मिसाइल सुरक्षा मज़बूत करेगा अमरीका

अमरीकी रक्षा मंत्री चक हागेल
Image caption अमरीकी रक्षा मंत्री चक हागेल ने उत्तर कोरिया से होने वाले ख़तरे से निपटने के लिए देश के पश्चिमी तट पर मिसाइल सुरक्षा मज़बूत करने की योजना की घोषणा की है.

उत्तर कोरिया से बढ़ते ख़तरे से निपटने के लिए अमरीका अपनी मिसाइल रक्षा प्रणाली को और मज़बूत करेगा.

अमरीकी रक्षा मंत्री चक हेगल ने शुक्रवार को एक पत्रकार सम्मेलन में उत्तर कोरिया से होने वाले ख़तरे से निपटने के लिए देश के पश्चिमी तट पर मिसाइल सुरक्षा मज़बूत करने की योजना की घोषणा की.

अमरीकी रक्षा मंत्री ने हाल ही में उत्तर कोरिया द्वारा "ग़ैर-ज़िम्मेदाराना और लापरवाह उकसाने वाली घटनाओं" का हवाला दिया.

पिछले महीने उत्तर कोरिया द्वारा तीसरे परमाणु परीक्षण के बाद से तनाव बढ़ गया है. पिछले ही हफ्ते उत्तर कोरिया ने अमरीका पर परमाणु हमले की धमकी दी थी.

अतिरिक्त अवरोधकों की तैनाती

हेगल ने कहा कि कैलिफ़ॉर्निया और अलास्का में तैनात 30 अवरोधकों के अलावा वर्ष 2017 तक अमरीका 14 और अवरोधक लगाएगा जो हवा में मिसाइलों को मार गिराएं.

उन्होंने कहा, "अलास्का के फोर्ट ग्रीली में 14 अतिरिक्त ज़मीन-स्थित अवरोधक, जीबीआई, तैनात कर हम अपनी होमलैंड मिसाइल सुरक्षा मज़बूत करेंगे. इससे हमारे जीबीआई की संख्या 30 से बढ़कर 44 हो जाएगी जिनमें कैलिफ़ॉर्निया के वैन्डनबर्ग एयरफोर्स बेस पर लगे चार जीबीआई शामिल हैं. इन अतिरिक्त अवरोधकों से हमारी मिसाइल सुरक्षा क्षमता में लगभग पचास फ़ीसदी इज़ाफ़ा होगा."

उन्होंने ये भी कहा कि सरकार, देश की सुरक्षा सुनिश्चित करेगी.

हेगल ने कहा, "अमरीकी नागरिक उम्मीद करते हैं कि हम अपने देश के अंदर और बाहर अपने हितों की सुरक्षा के लिए हर ज़रूरी क़दम उठाएं. लेकिन वो उम्मीद करते हैं कि हम ऐसा, सबसे सक्षम और कारगर तरीकों से करें. जिन क़दमों की घोषणा मैंने आज की है, उनसे हमारे देश की सुरक्षा मज़बूत होगी, हमारे सहयोगियों और साझेदारों के प्रति हमारी वचनबद्धता बनी रहेगी और दुनिया में ये साफ़ हो जाएगा कि अमरीका आक्रमकता के ख़िलाफ़ मज़बूती से खड़ा है."

और परीक्षण

चक हेगल ने कहा कि अमरीका, जापान में भी एक रडार-ट्रैकिंग स्टेशन बनाएगा.

अलास्का और कैलिफ़ॉर्निया में अवरोधक मिसाइलों की अड्डे, उत्तर कोरिया से संभावित मिसाइल हमलों से बचने के लिए जॉर्ज डबल्यू बुश के कार्यकाम में बनी थे. लेकिन अवरोधकों से जुड़ी तकनीकी मुश्किलों के चलते उनकी तैनाती में समय लग गया.

जब चक हेगल से हाल के परीक्षणों के दौरान अवरोधकों के ख़राब प्रर्दशन के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इस वर्ष और परीक्षण किए जाएंगे.

लेकिन विश्लेषक मानते हैं कि ताज़ा परीक्षण और धमकी के बावजूद उत्तर कोरिया को अमरीका तक पहुंचने वाली मिसाइल बनाने में अभी कई वर्ष लग जाएंगे.

संबंधित समाचार