सीरिया: धमाके में 15 लोगों की मौत

सीरिया
Image caption संयुक्त राष्ट्र का आकलन है कि विद्रोह शुरू होने के बाद से सीरिया में 70 हज़ार लोग मारे जा चुके हैं.

सीरिया की राजधानी दमिश्क में कार बम धमाके में कम से कम 15 लोग मारे गए और 53 घायल हो गए.

ये धमाका दमिश्क के आवासीय और वाणिज्यिक क्षेत्र में एक स्कूल और सीरिया के सेंट्रल बैंक के पास हुआ.

सीरया की सरकारी मीडिया के मुताबिक घटना के बाद हर ओर काला धुआं उठता हुआ देखा गया.

एक प्रत्यक्षदर्शी आन्ना ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया, "मैं अपनी साथी के साथ गली में था, धमाका हुआ और हमारे पैरों के नीचे जमीन हली. लोगों जोर से चिल्लाने लगे. और धमाके की जगह काला धुआं उठता दिखाई दिया."

जब एम्बुलेंस और फायर ब्रिगेड की गाड़ियां वहां पहुंच रही थीं तो पूरे शहर में सायरन की आवाज सुनाई दे रही थीं.

सुरक्षा बलों और सेना ने इलाके को अपने घेरे में ले लिया ताकि आम लोगों को घटना स्थल पर जाने से रोका जा सके. हाल महीने में ये दमिश्क में दूसरा बड़ा बम धमाका है. फरवरी में बाथ पार्टी के मुख्यालय पर हमले में 53 लोग मारे गए थे और 200 से अधिक घायल हो गए थे.

इस बीच, संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने सोमवार को कहा कि पर्यवेक्षकों का एक दल साइप्रस में सीरियाई सरकार की अनुमति का इंतज़ार कर रहा है ताकि वो वहां जाकर इस लड़ाई में रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल के बारे में जांच करें.

हेग में बात करते हुए उन्होंने कहा कि इस तरह की सूचना के बारे में बिना किसी देरी जांच होनी चाहिए. हालांकि उन्होंने स्पष्ट करते हुए बताया कि संयुक्त राष्ट्र बशार अल असद सरकार के साथ इस मामले पर चर्चा कर रही है.

आकलन

महत्वपूर्ण है कि संयुक्त राष्ट्र का आकलन है कि विद्रोह शुरू होने के बाद से सीरिया में 70 हज़ार लोग मारे जा चुके हैं.

विदेशी मीडिया और स्वतंत्र मानवाधिकार संगठनों पर लगी पाबंदियों के कारण इन आँकड़ों की पुष्टि करना असंभव है.

जब दो साल पहले राष्ट्रपति बशर अल असद के ख़िलाफ़ विद्रोह शुरू हुआ था, उस समय उन्होंने इसे विदेशी तत्वों और अल क़ायदा की साज़िश कहा था.

संबंधित समाचार