तालिबान ने अफ़ग़ान अभिनेत्री को देश से जुदा किया

Image caption तालिबानी धमकियों के चलते अफगानी टीवी अभिनेत्री को देश छोड़ने के लिए विवश होना पड़ा

ये कहानी है अफगानिस्तान की 23 साल की शहर परिनियन की. महज एक साल पहले तक वे अफगानिस्तान की प्रमुख टीवी अभिनेत्रियों में गिनी जाती थीं.

लेकिन अब वो लंदन में एक तरह से निर्वासित जीवन बिता रही हैं. अफगानिस्तान की इस हाई प्रोफाइल टीवी अभिनेत्री से बीबीसी ने उत्तरी लंदन के अफगान रेस्तरां में मुलाकात की.

जब उनसे हमने पूछा कि लंदन की सबसे प्यारी बात क्या लगी. तो शहर ने बताया, “जब मैं यहां आई तो मुझे महसूस हुआ कि औरत और इंसान होने के नाते मुझे सम्मान और अधिकार मिल रहा है.”

एक साल पहले तक वह अफगान टीवी की मशहूर अभिनेत्री थी. ऐसा क्या हुआ जिसके चलते शहर को अफगानिस्तान में अपना करियर छोड़ कर लंदन आना पड़ा.

मशहूर हो गया था टीवी शो

अपने उस अनुभव के बारे में शहर ने बताया, “हमारी अफगानिस्तान में दूसरी महिलाओं से अलग स्थिति थी. मैं महिलाओं के हितों और अधिकारों की बात उठाती थी. मैं अफगान महिलाओं की बातें अपने टीवी शो के जरिए उठाती थीं.”

इस कारण अफगानिस्तान के कट्टरपंथी लोगों ने शहर परिनियन पर काफी दबाव डाला. अफगानिस्तान के एक अहम चैनल पर वे शो किया करती थीं.

जिसमें विभिन्न मंत्रालयों में फैले भ्रष्टाचार के मुद्दों को उठाती थीं. ये तालिबान के शासन वाले अफगानिस्तान में अपनी तरह का बेहद पापुलर शो था. उस वक्त अफगान जनता को टीवी पर मनोरंजरक कार्यक्रम देखने को नहीं मिलते थे.

इस शो के बारे में शहर ने बताया, “मैं इसमें एक मंत्री की सचिव बनी थी. जिसमें महिलाओं के हितों की बात उठाती थी.”

तालिबान ने दी धमकी

इस टीवी शो के एक दृश्य में शहर ने अपने अपने मंत्री से कहा था, “ये दुनिया महिलाओं की है और आप इसमें दखल दे रहे हो.”

लेकिन जल्दी ही उन्हें कई तरह की धमकियां मिलने लगीं. शहर ने बताया, “मैं अपने शहर गजनी में टीवी चैनल के लिए काम करती थी. लेकिन तालिबान ने मेरे घर पर धमकी भेजी.”

ये धमकी किस तरह की थी, इसके बारे में बात करते हुए शहर ने बताया, “तालिबान ने धमकी दी कि तुम अपने रिश्तेदारों से अलग पुरुषों के साथ काम करती हो, ये शरिया कानून के ख़िलाफ़ और तुम पूरी तरह से हिजाब भी नहीं पहनती हो.”

इसके बाद उन्हें गजनी शहर छोड़ना पड़ा. वो अफगानिस्तान की राजधानी काबुल आ गई और यहां अफगान टीवी के लिए काम करने लगी कैमरा ऑपरेटर के तौर पर.

सरकार से कोई मदद नहीं मिली

लेकिन उन्हें धमकी मिलती रही. शहर ने बताया कि जब उनके दो सहयोगियों की हत्या हो गई तब उनके लिए अफगानिस्तान में रहना मुश्किल हो गया.

शहर ने बताया, “ मैंने अफगानिस्तान सरकार और मानवाधिकार आयोग से भी मदद की गुहार लगाई लेकिन कुछ हुआ नहीं.”

शहर एक हंसमुख और जिंदादिल लड़की के तौर पर लंदन की जीवनशैली से तालमेल बिठा चुकी हैं.

हालांकि लंदन के मौसम से तालमेल बिठाना उनके लिए बेहद मुश्किल भरा रहा है, “यहां का मौसम तो शुरू शुरू में यातना भरा रहा.”

हालांकि उन्हें इस बात की ख़ुशी है कि लंदन में उन्हें किसी तरह के भेदभाव का सामना नहीं करना पड़ा.

'देश की याद आती है'

लेकिन उनका दिल अभी भी अफगानिस्तान के लिए धड़क रहा है, “मैं अपने परिवार, अपने दोस्तों और अपने देश की कमी महसूस करती हूं.”

शहर परिनियन एक बार फिर अफगान टीवी के लिए काम करना चाहती हैं और अफगानिस्तान के लोगों के लिए टीवी प्रोग्राम बनाना चाहती हैं.

वो कहती हैं, “ मैं ऐसे कार्यक्रम बनाना चाहती हूं जो अफगानिस्तान में शांति और विकास के रास्ते खोले.”

बुलंद हौसलों वाली शहर बेहद बोल्ड भी हैं, जब वो बताती हैं कि उन्होंने अपनी छाती पर बटरफ्लाई टैटू के निशान बनवाए हुए हैं.

संबंधित समाचार