जवान मॉडलों को 93 वर्षीय हसीना की चुनौती

  • 27 अप्रैल 2013
Image caption इलोना रॉयस स्मिथकिन प्रमुख ब्रांडों के लिए कर रहीं हैं मॉडलिंग

रैंप पर थिरकते कदमों और फैशन फोटोग्राफी की दुनिया में बाली उमर और छरहरी काया वाली मॉडलों का दबदबा हमेशा से रहा है, लेकिन अब स्टाइलिश पेंशनभोगियों का एक समूह उन्हें जोरदार चुनौती दे रहा है.

ये उम्रदराज मॉडल चश्मे और डिजाइनर क्लाथ जैसे चमकदार विज्ञापनों में नजर आ रहे हैं.

93 वर्षीय इलोना रॉयस स्मथिकिन ने कभी नहीं सोचा था कि वह एक फैशन फोटोग्राफर की प्रेरण बनेंगी या फिर ग्लोबल फैशन हाउस के लिए मॉडलिंग करेंगी.

न्यूयार्क के स्टाइलिश वरिष्ठ नागरिकों के लिए 2008 में एक ब्लॉग शुरू करने वाले युवा फोटोग्राफर ऐरी सेठ कोहेन ने बिंदास पहनावे वाली लगभग 80 साल की एक कलाकार के बारे में सुना.

तलाश

ऐरी ने तुरंत चटख लाल बालों और घनी पनकों वाली इस महिला की खोज शुरू कर दी.

वह बताते हैं कि, “मैं जानता था कि मुझे बस उससे मिलना है. वह एक अर्थपूर्ण, रंगों से भरी वृद्ध महिला की तस्वीर की तरह लग रही थी.”

उस महिला को खोजने में ऐरी को 18 महीने लग गये. अपनी पहली मुलाकात के पांच साल बाद वो दोनों गहरे दोस्त बन चुके थे.

कोहेन एक चमकदार सोफे पर स्मिथकिन के साथ बैठे थे. स्मिथकिन ने अपने जीवन के 50 साल इसी कमरे में बिताये थे.

उन्होंने बताया कि, “जब मैं जवान थी तो मुझे हमेशा चिंता लगी रहती थी कि मैं कैसी लग रही हूँ, क्या लोग मुझे पसंद करते हैं.”

अभिव्यक्ति का अंदाज़

वह आगे बताती हैं कि, “अब मैं वास्तव में खुद को पसंद करती हूँ और कुछ साल पहले के मुकाबले अब मैं अपने रचनात्मक पक्ष का अधिक इस्तेमाल कर रही हूँ.”

कोहेन गर्मजोशी के साथ बताते हैं कि, “मुझे इनकी अभिव्यक्ति का अंदाज़ पसंद है. इलोना हिलाकर रख देती हैं, लेकिन उस तरह नहीं जैसे कि मेरी युवा मित्र करती हैं.”

वह स्मिथकिन की एक तस्वीर दिखाते हैं, जिसमें वह लाल रंग के पंखों से घिरी हैं और उन्होंने 1960 के दशक के अंदाज़ वाला चश्मा लगा रखा है.

ग्लोबल ब्रॉड का प्रचार

यह तस्वीर एक ग्लोबल ब्रॉड के प्रचार के लिए खिंचवाई गयी है.

करेन वाकर आईवियर को स्टाइल के शौकीन पसंद करते हैं और युवा बाजार पर इसका प्रभाव है. इसके बावजूद कंपनी के ताजा प्रचार अभियान में कोहेन के एडवांस स्टाइल ब्लॉग से 80 से 93 वर्ष की महिलाओं को प्रदर्शित किया गया है.

इसमें झुर्रियों कोई रंगरोगन नहीं किया गया है, बढ़ती उम्र के प्रभावों को छिपाने की कोई कोशिश नहीं है, लेकिन यह अभी तक का सबसे सफल प्रचार अभियान बन चुका है.

न्यूजीलैंड के डिजाइनर करेन वाकर बताते हैं, “हम उम्र को लेकर कोई राय जाहिर नहीं कर रहे हैं. हम आशावाद के बारे में बात करना चाहते हैं.”

वह आगे बताते हैं कि, “हमारे युवा ग्राहकों से मिली चौतरफा प्रतिक्रिया बताती है कि वे इस अभियान से प्रेरित हैं और जब वे उम्र की इस दहलीज पर पहुँचेंगे तो इन्हीं महिलाओं की तरह दिखना चाहते हैं.”

उन्होंने बताया कि उम्रदराज ग्राहक यह सोचकर खुश हैं कि कंपनी ने इस दिशा में सबका ध्यान खींचा है.

संबंधित समाचार