टैटू का शौक़ बना सकता है एड्स का मरीज़!

  • 29 अप्रैल 2013
Image caption टैटू गुदवाने के दौरान संक्रामक बीमारियों का ख़तरा हो सकता है

दुनिया भर में टैटू गुदवाने का चलन पिछले कुछ समय में काफी लोकप्रिय हुआ है. पुरुष हों या महिलाएं, बच्चे हों या युवा. टैटू गुदवाने की होड़ में कोई पीछे नहीं रहना चाहता.

लेकिन टैटू गुदवाने का शगल काफी महंगा भी पड़ सकता है. कम से कम इंग्लैंड और वेल्स में जिस तरह से चेतावनी जारी की गई है, उससे तो यही जाहिर होता है.

इंग्लैंड और वेल्स के नीति निर्धारकों के मुताबिक गैर कानूनी पॉर्लरों से टैटू गुदवाना एचआईवी और हेपेटाइटिस को आमंत्रण देने जैसा है.

संक्रामक बीमारियों का ख़तरा

स्थानीय प्रशासन एसोसिएशन (एलजीए) के मुताबिक गैर कानूनी पॉर्लरों में टैटू गोदने के लिए जिन उपकरणों का इस्तेमाल होता है वे स्तरीय नहीं होते हैं और उनकी साफ सफाई भी ठीक ढंग से नहीं होती.

इतना ही नहीं इन पॉर्लरों में टैटू गुदवाने के लिए आए व्यक्तियों की मेडिकल हिस्ट्री पर भी कोई ध्यान नहीं दिया जाता.

एलजीए ने कहा है कि टैटू गुदवाने के लिए बने गैर कानूनी पॉर्लर घर, पार्क, पब और क्लबों से चलाए जा रहे हैं.

यानी अगर आप कहीं भी टैटू गुदवाते रहे हैं तो आप को थोड़ी सावधानी बरतनी चाहिए.

एलजीए के मुताबिक लोग सस्ती दरों के लालच में गैर कानूनी पॉर्लरों में टैटू गुदवाने चले जाते हैं.

लेकिन थोड़े पैसे बचाने का ये शगल आपको ख़तरे में डाल सकता है. आप त्वचा संबंधी अनेक रोगों के अलावा हेपेटाइटिस और एचआईवी की चपेट में आ सकते हैं.

संभलकर गुदवाएं टैटू

स्थानीय प्रशासन एसोसिएशन के सुरक्षित और तंदुरुस्त सामुदायिक बोर्ड के चेयरमैन महबूब ख़ान ने कहा, “लोग सस्ती दरों के लालच में गैर कानूनी पॉर्लरों में चले जाते हैं, इन जगहों पर टैटू गुदवाना एचआईवी और हेपेटाइटिस जैसी संक्रामक बीमारियों को आमंत्रण देने जैसा है.”

ख़ान के मुताबिक लोगों को टैटू गुदवाने के लिए पर्याप्त जांच पड़ताल करने के बाद पंजीकृत पॉर्लरों में ही टैटू गुदवाना चाहिए.

Image caption टैटू पॉर्लर का चुनाव जांच पड़ताल के बाद ही करें

ख़ान कहते हैं, “जिन लोगों ने गैर कानूनी और बिना लाइसेंस वाले पॉर्लरों से टैटू गुदवाए हैं उनसे अपील की जा रही है कि वे एक बार अपनी पूरी स्वास्थ्य जांच करा लें.”

इंग्लैंड और वेल्स का पुलिस प्रशासन ऐसे पॉर्लरों पर नकेल भी कस रहा है.

टैटू बनाने वाले आर्टिस्ट केविन पॉल ने बीबीसी को बताया कि अगर कोई टैटू बनाना चाहता है तो उसे स्थानीय प्रशासन से लाइसेंस हासिल करना चाहिए और सुरक्षा के मापदंडों का ख्याल रखना चाहिए.

इंग्लैंड में इन दिनों टैटू गुदवाने का चलन काफी प्रचलन में है, इसके चलते ही ब्रिटेन में लाइसेंस वाले 1500 टैटू पॉर्लर खुल चुके हैं.

इतना ही नहीं 25 से 34 साल की उम्र वाले प्रत्येक दस ब्रिटिश लोगों में तीन कहीं ना कहीं टैटू जरूर गुदवा चुके हैं.

लेकिन ब्रिटेन में गैर कानूनी टैटू पॉर्लर चलाने पर दो साल की कैद की सजा का प्रावधान भी है. अब इस कानून को और भी सख्त बनाने की कोशिश की जा रही है.

संबंधित समाचार