सीरिया पर इसराइल का हवाई हमला

सीरिया पर हवाई हमला
Image caption अमरीकी मीडिया के मुताबिक इसराइल ने सीरिया पर हवाई हमले किए है.(फ़ाइल फोटो)

अमरीका के अधिकारियों का कहना है कि इसराइल ने सीरिया पर हवाई हमले किए हैं. अधिकारियों के मुताबिक ये हमले बृहस्पतिवार या शुक्रवार को किए गए. हमले सारियाई हथियारों के ठिकानों को निशान बनाने कि लिए किए गए.

बताया जा रहा है कि यह हथियार लेबनान के चरमपंथी संगठन हिजबुल्ला को भेजे जाने वाले थे.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने सीरिया के रासायनिक हथियारों के संभावित खतरों पर चिंता जताई. उन्होंने अमरीकी सेनाओं को भेजने की किसी संभावना से इंकार किया है.

कोस्टारिका के दौरे पर ओबामा ने कहा, "इस बात के पर्याप्त सबूत हैं कि सीरिया की सरकार ने रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल किया है. लेकिन हम जल्दबाजी में कोई कदम नहीं उठाएंगे."

अपनी पहचान गुप्त रखने की शर्त पर एक अधिकारी ने कहा कि हवाई हमले तो हुए हैं लेकिन विमानों ने सीरिया के हवाई क्षेत्र में प्रवेश नहीं किया.

वॉशिंगटन में इसराइली दूतावास के एक प्रवक्ता ने इस मसले पर टिप्पणी करने से इंकार कर दिया.

रासायनिक हथियारों पर चिंता

इसराइल दूतावास के प्रवक्ता का कहना है, "इसराइल रासायनिक हथियारों को चरमपंथियों के हाथों में जाने से रोकने के लिए प्रतिबद्ध है. किसी भी स्थिति में हथियार लेबनान के चरमपंथी संगठन हिजबुल्ला तक नहीं पहुंचने चाहिए."

संयुक्त राष्ट्र में सीरिया के राजदूत ने ऐसे किसी हमले की जानकारी से इंकार किया है.

लेकिन लेबनान की राष्ट्रीय समाचार एजेंसी के अनुसार दो इसराइली युद्धक विमानों ने लेबनान के दक्षिणी शहर रमिस के पास हवाई क्षेत्र का उल्लंघन किया है.

उसका कहना है कि दुश्मन के विमानों ने लेबनान क्षेत्र के ऊपर चक्कर काटे और वापस लौट गए.

इससे पहले, इसराइल के रक्षामंत्री मोशे यालून ने जनवरी में सीरिया पर हवाई हमले होने की बात को स्वीकार किया था.

उनका कहना था कि रासायनिक हथियारों के हिजबुल्ला जैसे चरमपंथी गुट के हाथ लगने की आशंका को देखते हुए यह कार्रवाई की गई थी.

संबंधित समाचार