ऐसी 10 चीजें जो एक सप्ताह पहले पता नहीं थीं

दुनिया भर में हर दिन नई जानकारियां सामने आती हैं, इसमें कई दिलचस्प होती हैं. कई बेहद काम की भी होती हैं तो कई चौंकाने वाली भी. ऐसी ही दस दिलचस्प जानकारियों पर एक नज़र जिसका पता हमें बीते सप्ताह चला है.

क्या है फ़्रेंच किस

हम लोग आए दिन ‘फ़्रेंच किस’ की बात सुनते रहते हैं, लेकिन क्या आपको मालूम है फ़्रेंच की शब्दावली या फिर वहां की बोलचाल में में ‘फ़्रेंच किस’ नाम का कोई शब्द मौजूद नहीं है.

अगर आपको यकीन नहीं हो तो इस बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए इस लिंक पर जा सकते हैं(सीबीएस).

सबसे बड़ा साइज़

क्या आपको ये मालूम है कि पुरुषों के कपड़ों का सबसे बड़ा साइज XXL नहीं है. ब्रिटेन के डिपार्टमेंटल स्टोर डेबेनहैम्स ने पुरुष कपड़ों का सबसे बड़ा साइज़ XXXXXL भी बीते सप्ताह बाजार में उतारा है.

ये साइज़ कितना बड़ा होता है इसे जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें( डेली मेल).

ट्रैफ़िक सिग्नल की ख़ासियत

बीते सप्ताह ब्रिटेन में ट्रैफिक सिग्नल की बत्तियों के बाक्स के नीचे एक प्लास्टिक का कोन का इस्तेमाल किया गया है. ये लगभग पुश बटन जैसा होता है जो घूमता रहता है. बत्ती के लाल होने पर रुक जाता है और हरी बत्ती होने पर घुमने लगता है. ये बटन नेत्रहीन लोगों के लिए है, जो इसे छूकर मालूम कर सकते हैं कि उन्हें कब रेड लाइट क्रास करनी चाहिए.

इस ख़ास बटन के बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए इस लिंक पर जाइए.

पेड़ पर चढ़ने का विज्ञान

अपने आस पड़ोस में हमें कुछ ऐसे लोग मिलते हैं जो किसी भी सूरत में पेड़ों पर नहीं चढ़ पाते. उन्हें देखकर चौंकिए नहीं क्योंकि हम लोगों में ज़्यादातर लोग ऐसे ही होते हैं. क्योंकि औसतन हर तेरह इंसान में एक इंसान के पांव ऐसे होते हैं कि वह सहजतापूर्वक पेड़ों पर चढ़ सके.

कैसे होते हैं इन लोगों के पांव, जानने के लिए यहां क्लिक करें( न्यू साइंटिस्ट).

सबसे सटीक घड़ी

आपकी घड़ी भले कितनी भी महंगी क्यों ना हो, कुछ समय में अपने आप वह धीमी हो ही जाती है. घड़ियां अपने आप धीमी ना हों, इसके लिए वैज्ञानिक भी लगातार कोशिश कर रहे हैं. वैज्ञानिकों ने एक ऐसी एटामिक घड़ी बनाने का दावा किया है जो सबसे सटीक है. इसमें यूटरबियम परमाणु का इस्तेमाल किया गया है. ये आपके एक जीवन क्या बल्कि हज़ारों साल तक एक सेकेंड भी धीमा नहीं होगा.

इस घड़ी की ख़ासियत के बारे में जानने के लिए यहां क्लिक करें (स्मिथसोनियन मैगजीन).

जश्न की याद

हममें से ज़्यादातर लोग ये मानते हैं कि जश्न और उल्लास का वक्त जल्दी गुजर जाता है, पता नहीं चलता. वहीं दुख की घड़ी लंबी लगने लगती है. लेकिन वाकई में ऐसा नहीं है. मनोचिकित्सकों के मुताबकि मौज मस्ती, जश्न और खुशी का वक्त जल्दी नहीं गुजरता.

इस दिलचस्प अध्ययन के बारे में ज़्यादा जानने के लिए यहां क्लिक करें ( डेली मेल).

झींगा का जादू

मछलियों की तो सैकड़ों प्रजाति होती है, लेकिन एक अध्ययन के मुताबिक अमरीका में ज़्यादतर लोग तीन मछलियां, झींगा, टूना और सालमन खाना पसंद करते हैं. अमरीका में खपत होने वाली मछलियों में आधे से ज़्यादा हिस्सा इन्हीं तीन मछलियों का है.

झींगा, टूना और सामन मछलियों की ख़ासियत के बारे में जानने के लिए यहां क्लिक करें (लास एंजिलिस टाइम्स).

पसीने छूट जाएंगे

आजकल बच्चे स्मार्ट होते जा रहे हैं. स्मार्ट फ़ोन, हाई-फ़ाई वीडियो गेम्स और कंप्यूटर के इस जमाने में क्या आपको मालूम है कि ज़्यादातर बच्चे ये नहीं बता पाते हैं कि 6x8 कितना होगा. इतना ही नहीं 9x12 कितना है, ये सवाल बच्चों को लंबे समय तक गुम कर देता है, यानि वे इसका जवाब ढूंढने में लंबा वक्त लगाते हैं.

बच्चों के की गणितीय समझ और मानसिक योग्यता को क्या होता जा रहा है, जानने के लिए यहां क्लिक करें (टाइम्स).

ब्रिटेन की गरीबी

क्या आपको मालूम है कि ग्रेट ब्रिटेन का सबसे गरीब शहर कौन सा है.

ये शहर है नॉटिंघम. जहां के लोग किन मुश्किलों के बीच जीवन यापन करने को मज़बूर हैं जानने के लिए यहां क्लिक करें.

पाला बदलने में माहिर

राजनीति करने वाले लोग मौका देख कर पाला बदलते रहते हैं. ये केवल भारत में नहीं होता. ब्राज़ील में तो 1991 से 1994 के बीच करीब एक तिहाई से ज़्यादा जन प्रतिनिधियों ने अपने पाले बदल लिए थे.

दुनिया भर में जनप्रतिनिधियों के दल बदल प्रवृति पर दिलचस्प जानकारी के लिए यहां क्लिक करें(स्लेट).

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड के लिए क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार