बांग्लादेशी फैक्टरी कर्मचारियों को ब्रिटेन की मदद

  • 5 जून 2013

ब्रिटेन ने फैसला किया है कि वो बांग्लादेश में कपड़ा फैक्ट्रियों के कर्मचारियों को प्रशिक्षण देने के लिए एक करोड़ अस्सी लाख पाउंड देगा.

बांग्लादेश में अप्रैल में राणा प्लाज़ा फैक्टरी की इमारत ढहने से 1100 से ज़्यादा लोग मारे गए थे.

ब्रिटेन के अंतरराष्ट्रीय विकास मंत्री एलन डंकन ने हादसे में घायल हुए लोगों से मुलाकात की थी और ब्रिटेन की कपड़ा उद्योग कंपनियों से अपील की थी कि वे इस मामले में ज़िम्मेदारी उठाएं.

उन्होंने कहा कि इस हादसे ने बांग्लादेश में सुरक्षा मानकों के मुद्दे को उजागर किया है जिन्हें मज़बूत किए जाने की ज़रूरत है.

राणा प्लाज़ा हादसा दुनिया से सबसे भयावह फैक्टरी हादसों में से एक था, जिसके बाद विश्व भर में सुरक्षा मानकों को लेकर बहस छिड़ी थी.

इस हादसे ने कपड़ा उद्योग में काम करने की ख़राब परिस्थितियों को उजागर किया और साथ ही कम वेतन के मुद्दे पर भी बहस छेड़ी.

सुधार

बांग्लादेश में कई विदेशी कंपनियों के लिए सस्ते दाम में कपड़े बनाए जाते हैं.

एलन डंकन ने पीड़ितों से मुलाकात के बाद कहा, “राणा प्लाज़ा फैक्टरी हादसा विनाशकारी था और इस हादसे के बाद अब हमें जाग जाने चाहिए. सुरक्षा मानकों में सुधार किया जाना चाहिए. बांग्लादेश में कपड़ा उद्योग को सफलता का उदाहरण माना जाता है और इसे कमज़ोर नहीं पड़ने देना चाहिए.”

उन्होंने घोषणा की कि कपड़ा कर्मचारियों के प्रशिक्षण के लिए ब्रिटेन एक करोड़ अस्सी लाख पाउंड की राशि देगा.

इस राशि का इस्तेमाल इमारतों में सुरक्षा मज़बूत करने और फैक्ट्रियों के सुधार के लिए किया जाएगा.

साथ ही ब्रिटेन से एक विशेषज्ञों की टीम भी बांग्लादेश भेजी जाएगी, जो इस अभियान का निरीक्षण करेगी.

अपनी बांग्लादेश यात्रा के दौरान डंकन ने बेबीलॉन फैक्टरी का भी दौरा किया, जो टेस्को और अन्य ब्रितानी कंपनियों के लिए कपड़े बनाती है.

उन्होंने कर्मचारियों की स्थिति के बारे में प्रधानमंत्री शेख हसीना से भी बात की.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार