जर्मनी में बांध टूटा, हजारों विस्थापित

जर्मनी में बाढ़

पूर्वी जर्मनी में बाढ़ से उफनती एल्बे नदी पर बना एक बांध टूटने से मैग्देबर्ग शहर पानी में डूब गया है. इससे हजारों लोग अपना घर-बार छोड़ने के लिए मजबूर हो गए हैं.

मैग्देबर्ग में रविवार को नदी का जलस्तर 7.44 मीटर पहुंच गया जो कि सामान्य से चार गुना ज्यादा है.

बाढ़ और बिजली गुल होने के चलते 23000 से अधिक लोग सुरक्षित स्थानों पर चले गए हैं.

कई दिनों से जारी भारी बारिश के कारण एल्बे और साले नदियों के तटबंध कमजोर हो गए हैं.

स्थानीय ब्रॉडकास्टर एमडीआर के मुताबिक एक और बांध पर भी खतरा मंडरा रहा है जिसके चलते और लोगों को विस्थापित होना पड़ सकता है.

हंगरी में राजधानी बुडापेस्ट में पानी का स्तर चरम पर पहुंच गया है.

हालांकि अधिकारियों का कहना है कि तटबंध के कारण ज्यादातर इलाके बाढ़ से बचे हुए हैं.

नुकसान

Image caption हंगरी में बाढ़ रोकने के लिए स्वयंसेवक रेत की बोरियां लगा रहे हैं

मध्य यूरोप में बाढ़ के कारण कम से कम 15 लोग मारे गए हैं. विश्लेषकों का कहा है कि बाढ़ के कारण अरबों यूरो का नुकसान हुआ है.

इस बीच जर्मनी में अधिकारियों का कहना है कि वे उस अज्ञात पत्र की तहकीकात कर रहे हैं जिसमें देश के बांधों पर हमले की धमकी दी गई है.

बर्लिन में बीबीसी संवाददाता स्टीवन इवांस का कहा है कि इस धमकी के पीछे क्या मंशा है, ये स्पष्ट नहीं है लेकिन इसे गंभीरता से लिया जा रहा है.

बुडापेस्ट के मेयर इस्तवान तारलोस ने कहा है कि शहर में बाढ़ का कोई खतरा नहीं है और डेन्यूब नदी के तटबंधों को मजबूत किया जा रहा है.

इस काम में हजारों लोग, स्वयंसेवक और यहां तक कि कैदी भी जुटे हैं. हंगरी में बाढ़ के कारण अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं है.

( बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार