'पति-पत्नी को अलग कर रहा है' ब्रिटेन का नियम

ब्रिटेन में सांसदों की एक समिति ने कहा है कि यूरोपीय संघ से बाहर के देशों के लोगों के आवागमन के लिए बनाए गए नए नियमों की वजह से ब्रितानी 'परिवार बंट' रहे हैं.

समिति की रिपोर्ट में कहा गया है कि जुलाई 2012 में आय की न्यूनतम सीमा तय किए जाने के बाद से हज़ारों ब्रितानी यूरोपीय संघ के बाहर का जीवनसाथी ब्रिटेन नहीं ला पा रहे हैं.

समिति ने कहा है कि इन नियमों की वजह से बच्चे अपने माता-पिता से अलग हो गए हैं.

इस समिति की रिपोर्ट पर गृह मंत्रालय ने कहा है कि करदाताओं पर से प्रवासियों का भार कम करने के लिए ये नियम बनाए गए हैं.

आमदनी की सीमा

क़रीब एक साल पहले अमल में आए नए नियमों के मुताबिक़ ग़ैर यूरोपीय जीवनसाथी के वीज़ा चाहने वाले ब्रितानी नागरिक को इस बात का प्रमाण देना होगा कि उसकी सालाना आय कम से कम 18 हज़ार छह सौ पाउंड है.

इसी तरह किसी ग़ैर यूरोपीय बच्चे को प्रायोजित करने के लिए उनकी आय कम से कम 22 हज़ार चार सौ पाउंड होनी चाहिए. हर अतिरिक्त बच्चे के लिए इसमें 24 सौ पाउंड की राशि जुड़ जाएगी.

प्रवासन मामले पर सभी पार्टियों के एक संसदीय समूह ने यह रिपोर्ट तैयार की है. समिति ने नए नियमों से प्रभावित 175 से अधिक परिवारों के मामलों का अध्ययन किया.

समिति ने न्यूनतम आय की ज़रूरत की स्वतंत्र समीक्षा की मांग की है.

समिति से 45 लोगों ने कहा कि न्यूनतम आय की सीमा पूरी न होने की वजह से उन्हें अपने बच्चों से अलग होना पड़ा. इनमें ग़ैर यूरोपीय माता-पिता के ब्रितानी बच्चे भी शामिल हैं.

एक महिला को ब्रितानी पति और दो बच्चों से अलग होना पड़ा. उनके एक बच्चे की उम्र केवल पाँच महीने थी, जिसे वह अभी स्तनपान करा रही थीं.

समिति ने रिपोर्ट में कहा है कि इस बात के सबूत हैं कि पिछले साल ब्रिटेन की 47 फ़ीसदी नौकरीशुदा आबादी किसी ग़ैर यूरोपीय को जीवन साथी बनाने के लिए ज़रूरी कमाई नहीं कर पाई थी.

समिति के मुताबिक़ सरकार के अपने अनुमानों के मुताबिक नए नियमों से क़रीब 18 हज़ार ब्रितानियों को हर साल अपने जीवन साथी से मिलने से रोक दिया जाएगा.

बिछड़ते रिश्तेदार

हाउस ऑफ़ लार्डस में लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी की गृह विभाग की नेता और समिति की अध्यक्ष बैरोनेस हैमवी ने कहा कि समिति नए नियमों की वजह से अपने जीवनसाथी, बच्चों और बुजुर्ग रिश्तेदारों से दूर हुए ब्रितानी लोगों की संख्या देखकर दंग रह गई.

Image caption इस समिति ने 175 से अधिक मामलों का अघ्ययन किया

उन्होंने कहा,''ये नियम परिवारों के लिए दुख पैदा कर रहे हैं और अपने उद्देश्यों के उलट हैं.''

लिबिरल डेमोक्रेटिक पार्टी की सांसद सारा टीदर कहती हैं,''इन नियमों का मक़सद जो भी हो. लेकिन इससे बच्चों को प्रभावित नहीं होने चाहिए.''

समिति की रिपोर्ट पर गृह विभाग के एक प्रवक्ता ने कहा कि ये नियम इसलिए बनाए गए हैं, जिससे जीवनसाथी के साथ ब्रिटेन में रहने आ रहा व्यक्ति करदाताओं के लिए भार न बने.

उन्होंने कहा, ''उच्च क्षमता वाले प्रवासियों को केवल इसलिए नकारा नहीं जाएगा कि उनका जीवनसाथी या साथी बेरोजगार है.''

उन्होंने कहा, ''वे साढ़े 62 हजार पाउंड की बचत कर या निवेश जैसी अपनी निजी आमदनी के जरिए आय की इस सीमा को हासिल कर सकते हैं.''

गृह विभाग के प्रवक्ता ने कहा,''हमने नियमों को और लचीला बनाया है, इसके तहत न्यूनतम आय की सीमा के लिए लोग अपने निवेश को नगद में बदल सकते हैं.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहाँ क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार