अफ़ग़ानिस्तान: सुप्रीम कोर्ट पर हमले में 16 की मौत

अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल में आत्मघाती बम विस्फोट में कम से कम सोलह लोग मारे गए हैं और दर्जनों घायल हो गए हैं.

अधिकारियों का कहना है कि आत्मघाती हमले का निशाना सुप्रीम कोर्ट की इमारत थी. बीबीसी को भेजे गए एक बयान में तालिबान ने हमले की जिम्मेदारी ली है.

पुलिस ने बीबीसी को बताया कि हमलावर ने बारूद से भरी गाड़ी को उस बस के पास खड़ा कर दिया जिसमें न्यायाधीशों सहित सुप्रीम कोर्ट के कर्मचारी घर जाते थे.

धमाका उस समय हुआ जब सुप्रीम कोर्ट में काम करने वाले लोग दफ्तर का काम खत्म करने के बाद अपने घरों को लौट रहे थे.

अधिकारियों का कहना है कि पिछले अठारह महीनों में काबुल में होने वाला यह घातक सबसे बम हमला है.

विस्फोट के बाद पुलिस ने उन सभी इलाकों की सुरक्षा और कड़ी कर दी है जहां विदेशी दूतावास स्थित हैं.

तालिबान ने ली ज़िम्मेदारी

काबुल में सुप्रीम कोर्ट की इमारत अमेरिकी दूतावास से लगभग दो सौ मीटर की दूरी पर स्थित है.

काबुल में पिछले दो दिनों में यह दूसरा बड़ा हमला है. इससे पहले सात चरमपंथियों ने हवाई अड्डे पर हमला किया था.

काबुल पुलिस ने कई घंटे तक चली कार्रवाई में सभी हमलावरों को मार देने का दावा किया था.

महत्वपूर्ण है कि काबुल हवाई अड्डा नैटो सैन्य बेस है.

तालिबान ने अप्रैल में घोषणा की थी कि वह विदेशी सैन्य अड्डों और राजनयिक ठिकानों को निशाना बनाएंगे.

संबंधित समाचार