स्नोडेन को इक्वोडोर पहुँचने से रोकने की कोशिश में अमरीका

  • 24 जून 2013
एडवर्ड स्नोडेन

हॉन्गकॉन्ग से मास्को पहुँचे एडवर्ड स्नोडेन ने इक्वेडोर से शरण मांगी है. इसकी पुष्टि इक्वेडोर के विदेश मंत्री ने ट्विटर पर की है. वहीं अमरीका कोशिश कर रहा है कि उन्हें वहाँ पहुँचने से रोका जाए.

अमरीकी खुफ़िया एजेंसी सीआईए के पूर्व कर्मचारी स्नोडेन ने इस साल मई में बताया था कि अमरीकी राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) इंटरनेट और टेलीफ़ोन कॉल्स की निगरानी करती है.

स्नोडेन अमरीका से भागकर हॉन्गकॉन्ग पहुंचे थे. वहाँ से वे रविवार सुबह रवाना होकर मॉस्को पहुंचे.

खबरों में कहा गया है कि स्नोडन दोपहर में मॉस्को से क्यूबा की राजधानी हवाना की उडा़न पकड़ सकते हैं. वहाँ से उन्होंने वेनेजुएला के काराकस के लिए एक और उड़ान बुक कर रखी है.

इस बीच हॉन्गकॉन्ग में स्नोडेन के वकील अल्बर्ट हो ने बीबीसी से कहा कि सरकारी अधिकारियों ने उनके मुवक्किल को देश छोड़कर चले जाने को कहा था.

हो का मानना है कि चीन के निर्देश पर हॉन्गकॉन्ग की सरकार ने ये फैसला किया है. हालांकि हॉन्गकॉन्ग के अधिकारियों का कहना है कि स्नोडेन ने खुद ये फैसला किया था.

नाकाम कोशिश

हॉन्गकॉन्ग से स्नोडेन के प्रत्यर्पण की कोशिश नाकाम होने के बाद अमरीका इस बात पर जोर दे रहा है कि स्नोडेन को अंतरराष्ट्रीय यात्रा न करने दी जाए.

अमरीका ने स्नोडेन को गिरफ़्तार न करने के हॉन्गकॉन्ग के फ़ैसले को परेशान करने वाला बताया है. वहीं हॉन्गकॉन्ग का कहना था कि अमरीकी सरकार प्रत्यर्पण की आवश्यक्ताएँ पूरी नहीं कर पाई.

रविवार को अमरीका ने कहा था कि उन पश्चिमी देशों से संपर्क किया गया है जहाँ से होकर या जहाँ स्नोडेन जा सकते हैं.

विदेश विभाग के अधिकारी ने कहा,''अमरीका ने सरकारों की सलाह दी है कि स्नोडेन आपाराधिक मामलों में वांछित है, इसलिए उन्हें अंतरराष्ट्रीय यात्रा करने की इजाज़त न दी जाए, उस अवस्था को छोड़कर जब उन्हें वापस अमरीका लौटने के लिए यह ज़रूरी हो.''

इस समय वियतनाम में मौजूद इक्वेडोर के विदेश मंत्री रिकार्डो पाटिनो ने ट्विटर पर कहा,''इक्वाडोर की सरकार को एडवर्ड जे # स्नोडेन की ओर से शरण का अनुरोध मिला है.''

रूस की सरकारी समाचार एजेंसी आरआईए नोवोस्ती के मुताबिक़ इक्वेडोर के राष्ट्रीय ध्वज वाली उसके दूतावास की कार उस विमान के आने के बाद हवाईअड्डे पर देखी गई थी, जिसमें स्नोडेन सवार थे.

गोपनीयता विरोधी समूह ने कहा है कि स्नोडेन के शरण पाने के अनुरोध पर औपचारिक प्रक्रिया तब शुरू की जाएगी, जब वे इक्वेडोर पहुंच जाएंगे.

सार्वजनिक सेवा

प्रवक्ता क्रिस्टियन हेरफसन ने बीबीसी से कहा कि उनका मानना है कि इतिहास बताता है कि इस पूर्व विश्लेषक ने सार्वजनिक सेवा का एक महान काम किया है.

अमरीकी विदेश विभाग ने कहा कि स्नोडेन का पासपोर्ट रद्द कर दिया गया है, इसे अमरीकी निमयों के तहत की गई कार्रवाई बताया गया है.

अमरीका और इक्वेडोर के बीच प्रत्यर्पण संधी है. लेकिन यह राजनीतिक मामलों पर लागू नहीं होती है.

बीबीसी संवाददाता पॉल एडम्स का कहना है कि अगर स्नोडेन इक्वेडोर पहुँच जाते हैं तो, उन्हें हासिल करना अमरीका के लिए बहुत मुश्किल होगा.

अमरीका में स्नोडेन पर लगाए गए आरोप अगर सही पाए गए तो उन्हें हर आरोप के लिए दस साल की सज़ा हो सकती है. इस महीने की 14 तारीख को दर्ज की गई यह शिकायत शुक्रवार को सार्वजनिक की गई.

विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज भी इक्वेडोर के लंदन दूतावास में पनाह लिए हुए हैं. विकीलीक्स ने एक बयान में कहा है कि वह "किसी लोकतांत्रिक देश में राजनीतिक शरण" पाने में स्नोडेन की पूरी मदद करेगी.

ब्रितानी अखबार 'गार्डियन' ने 29 साल के एडवर्ड स्नोडेन के अनुरोध पर उनकी पहचान ज़ाहिर की थी. वे सीआईए के पूर्व तकनीकी सहायक हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार